पुरुषों के लिंग में खुजली के कारण एवं उपचार

पुरुषों के प्राइवेट पार्ट में खुजली एक आम समस्या है।इची पेनिस (Itchy Penis) होने के कारणों में कुछ एक कारण पसीना, गर्मी, स्किन इंफेक्शन या एलर्जी हो सकते हैं,परन्तु लिंग में खुजली की समस्या को नजर अंदाज नहीं करना चाहिए समय से इलाज न कराने पर कभी कभी यह समस्या गम्भीर समस्या का रूप ले सकती है। पेनिस में खुजली का एक कारण Sexually Transmitted Disease (STD) यौन संचारित रोग भी हो सकता है। Venereal Diseases (रति रोग) के प्रमुख लक्षणों में से कुछ एक लक्षण त्वचा का लाल होना,रेशैज,खुजली, जलन आदि हैं।अगर आप अपने प्राइवेट पार्ट में खुजली की समस्या का सामना कर रहे हैं तो सर्वप्रथम शारीरिक साफ सफाई पर ध्यान दें।यदि आप सैक्सुअली एक्टिव नहीं हैं या मैथुन के समय निरोध (Condoms) का प्रयोग करते हैं तब भी आपको Genital Itching की समस्या हो सकती है।कभी कभी Urinary Tract Infections (UTI) मूत्र पथ संक्रमण भी पेनिस में इचिंग का एक कारण हो सकता है।इस आर्टीकल में जेनेटिल इचिंग/लिंग की खुजली एवं अन्य दाद खाज खुजली की समस्या के उपाय एवं रोकथाम के विषय में बात करेंगे।

पुरुषों के लिंग में खुजली के कारण (Reasons of genital itching in Men)

  • यदि आपके जेनिटल एरिया में पसीना अधिक आता है तो आपको खुजली हो सकती है।
  • जेनिटल एरिया की ठीक से साफ सफाई न रखना भी लिंग में खुजली का एक कारण है।
  • प्राइवेट एरिया को हार्स कैमिकल युक्त साबुन से धोने पर भी खुजली की समस्या हो सकती है।
  • एक ही अण्डरवियर को लम्बे समय तक यूज करने पर भी खुजली की समस्या हो सकती है।
  • फंगल इंफेक्शन /  यीस्ट इंफेक्शन या स्किन एलर्जी भी खुजली का एक कारण हो सकता है।
  • टायलेट के बाद प्राइवेट पार्ट/जेनेटिल एरिया की ठीक से सफाई न करना भी खुजली का एक कारण हो सकता है।

पुरूषों के प्राइवेट पार्ट में खुजली के अन्य कारण

  • स्कैबिज (Scabies):- जेनिटल रीजन में खुजली का एक कारण स्कैबिज, रिंगवर्म जैसे स्किन इंफेक्शन्स हो सकता है।यह बहुत तेजी से फैलने वाली बीमारी है।यह एलर्जी में खुजली के अलावा आपको फोड़े – फुसिंयों का सामना करना पड़ सकता है परन्तु यह सैक्सुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शन नहीं है।
  • यूटीआई (UTI):- टॉयलेट (पेशाब) करते समय लिंग में जलन या खुजली जैसी समस्या यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन (UTI) का संकेत हो सकता है।मूत्र मार्ग (Urinary Tract) में बैक्टेरिया आ जाने के कारण मूत्र विसर्जन (Urination) के समय आपको दर्द का अनुभव हो सकता है।
  • फॉलिकल (Follicle) का टूटनाः- रोमकूप (फॉलिकल) जो आपके प्राइवेट एरिया में मौजूद हैं । उस स्थान के बाल टूटने या उगने पर भी खुजली का अनुभव होता है।
  • मधुमेह (Diabetes):- Blood Sugar Level के बढने पर भी प्राइवेट पार्ट में खुजली का अनुभव होता है इसलिये जेनाइटल एरिया में खुजली होने पर डाइबिटिक्स और नॉन डाइबिटिक्स को डाइबिटीज टेस्ट अवश्य कराना चाहिए।

पुरुषों के Private Parts में होने वाली खुजली के उपचार

कंडोम का टाइप बदलें-

यदि आप लेटेक्स या एल्कोहल बेस्ड निरोध (Condoms) का प्रयोग अंतरंग के समय करते हैं तो इन्हे इस्तेमाल करना बंद कर दें।कई केसेज में पाया गया है कि लेटेक्स या अल्कोहल बेस कंडोम भी पुरूषों के लिंग में इचिंग होती है।

हस्तमैथुन न करें-

Masturbation (मास्टरबेशन) करने से पेनिस की स्किन पर इर्रीटेशन (स्क्रैच) आ जाते हैं जिस कारण आपको खुजली एवं जलन महसूस होती है।अतः यदि आप बार बार हस्तमैथुन करते हैं तो इस आदत को तुरंत बदलें।

टॉयलेट प्रोडक्ट बदलें-

जब कभी भी आपको लिंग में खुजली महसूस हो तो सबसे पहले अपने टॉयलेट प्रोडक्ट्स को प्रयोग करें।ऐसे व्यक्ति जिनकी त्वचा सेंसिटिव है उनको खुशबूदार साबुन से नुकसान हो सकता है इसलिये खुश्बू वाले साबुन का प्रयोग बंद कर दें।अपने लिये बाजार से एक माइल्ड (सौम्य) साबुन लायें और इस्तेमाल करके देखें।

अंडरवेयर (Underwear):-

टाइट अण्डरवेयर भी पुरुषों के लिंग में खुजली का एक कारण हो सकता है।जेनाइटल एरिया में पसीना अधिक आता है इसलिये प्राइवेट एरिया में बैक्टेरिया पनपने की सम्भावना अधिक होती है।यदि आपको अधिक खुजली है तो टाइट अंडरवेयर का प्रयोग बंद कर दें।सूती कपडे के ढीले अण्डरवेयर का प्रयोग शुरू कर दें।जिससे आपके प्राइवेट एरिया को ताजा हवा लगे और त्वचा को आराम मिले।

प्राइवेट पार्ट में खुजली के घरेलू उपाय

टी ट्री ऑयल का प्रयोग-


टी ट्री ऑयल
 टी ट्री आयल में एण्टी फंगल क्वालिटी होती हैं।इससे त्वचा की फंगल समस्याओं से आसानी से निजात पाया जा सकता है।आप टी ट्री ऑयल को बादाम के तेल में मिक्स कर अपने जेनिटल एरिया पर एप्लाई करें।इससे आपकी प्राइवेट पार्ट की फंगल इंफेक्शन को आसानी से दूर किया जा सकता है।

बेकिंग सोडा का प्रयोग-


बेकिंग सोडा का प्रयोग
बेकिंग सोडा (खाने का सोडा) में त्वचा एवं इंफेक्शन से जुड़ी समस्याओं को दूर करने का गुण होता है।बेकिंग सोडा में Anti Fungal Quality होती हैं।आप नहाने से पहले 15 मिनट पूर्व नहाने के पानी में चौथाई कप बेकिंग सोडा डाल दें और उसके बाद उस पानी का प्रयोग नहाने में करें।इससे आपकी प्राइवेट पार्ट की खुजली की समस्या पक्का दूर हो जायेगी।

नारियल तेल का प्रयोग-


नारियल तेल का प्रयोग
कोकोनट आयल कैंडिड नामक यीस्ट को खत्म करने में कारगर है । हालांकि कैंडिड यीस्ट फीमेल्स के जेनेटल एरिया में पाया जाता है पर पुरूषों में भी STD के कारण यह यीस्ट फंगल इंफेक्शन कर पैदा कर सकता है। फंगल इंफेक्शन से छुटकारा पाने के लिये आप Coconut Oil का प्रयोग अपने पेनिस एरिया में कर सकते हैं।

प्रोबायोटिक्स का प्रयोग-


प्रोबायोटिक्स का प्रयोग
प्रोबायोटिक्स (Probiotics) के प्रयोग से मानव शरीर में बैड बैक्टीरिया की ग्रोथ कम होती है तथा गुड बैक्टेरिया की मात्रा बढती है।आप दही, किमची आदि का प्रयोग कर शरीर में Good Bacteria की मात्रा आसानी से बढ़ा सकते हैं।लिंग में इचिंग की समस्या के निस्तारण के लिये आप भी अपने भोजन में प्रोबायोटिक्स का उपयोग कर सकते हैं।

एप्पल साइडर विनेगर का प्रयोग-


एप्पल साइडर विनेगर का प्रयोग
Apple Cider Vinegar में यीस्ट इंफेक्शन दूर करने का गुण होता है।एप्पल सीडर विनेगर को आप अपने प्राइवेट एरिया के अलावा शरीर के अन्य हिस्सों की खुजली से छुटकारा पाने के लिये कर सकते हैं।एप्पल साइडर विनेगर का आधा कप लेकर इसे अपने नहाने के पानी में मिला लें और नहा लें।इससे फंगल इंफेक्शन की समस्या को दूर होती है।

कुछ अन्य टिप्स-

  1. गर्मी के मौसम में अपने प्राइवेट एरिया पर पसीना इकट्ठा न होने दें, बार बार कपड़े व अण्डरवेयर चेंज करते रहें।
  2. प्रतिदिन अण्डरवेयर (अंतः वस्त्र) अवश्य बदलें।
  3. कॉटन के अंडरवेयर का प्रयोग प्रारम्भ कर दें।
  4. प्रतिदिन अपने कपड़ों को एण्टी बैक्टेरिया/फंगल लिक्विड में धोयें।
  5. प्राइवेट पार्ट पर मौजूद बालों को ज्यादा शेव या ट्रिम करें।
  6. टाइट जींस, पैंट्स,अण्डरवेयर का प्रयोग बंद कर दें।
  7. ज्यादा लम्बे समय तक न बैंठे, ब्रेक लेते हुये चलते फिरत रहें।

लिंग पर खुजली से बचने के लिये क्रीम व मेडिसिन

 

पुरूषों के प्राइवेट पार्ट में खुजली के मेडिसिन क्रीम

क्लोट्रिमेजोल-
क्लोट्रिमेजोल

यह एक एण्टी फंगल क्रीम है।इस क्रीम का प्रयोग फंगल इंफेक्शन को बढने से रोकता है।इस क्रीम का प्रयोग एथलीट फुट,जॉक खुजली,दाद-खाज, कैंडिडओसिस आदि स्किन डिजीज के लिए किया जाता है।बहुत अधिक प्रयोग होने वाली क्रीम- अब्जार्ब, कैंडिड- वी,माइकोडर्म – सी,कैनेस्टेन,सर्फ़ाज।

मिकोनाजोल
मिकोनाजोल


मिकोनाजोल भी एक एण्टी फंगल क्रीम है।यह इमिडाजोल नामक एंटीफंगल दवाओं की कैटेगरी से ब्लांग करती है।यह फंगस फैलाने वाले बैक्टेरिया को बढने से रोकती है।इस क्रीम का प्रयोग 12 वर्ष से कम के बच्चों पर नहीं करना चाहिए।बाजार में मिलने वाली कुछ क्रीमः- डैक्टैरिन, फंगिडर्म, रिंगकटर एम, माइकोजेल।

स्टेरॉयड क्रीम-
स्टेरॉयड क्रीम


फंगल इंफेक्शन के अत्यधिक बढ जाने पर खुजली, सूजन एवं लालिमा बढ जाती है।खुजली सूजन एवं रेडनेस को कम करने के लिए स्टेरॉयड युक्त स्किन क्रीम इस्तेमाल की जाती है।आमतौर पर सूजन और रेडनेस को कम करने के लिये इनमें आमतौर पर हाइड्रोकोर्टिसोन नामक स्टेरायड का इस्तेमाल किया जाता है।

पुरूषों के प्राइवेट पार्ट में खुजली के मेडिसन (बेस्ट टेबलेट)

फ्लुकोनाजोल-
फ्लुकोनाजोल


यह एक एण्टी फंगल मैडीकेटेड साल्ट है । यह फंगल सेल की बाहरी दीवर को बढने से रोकती है एवं खत्म करती है । निम्न दवायें बाजार में उपलब्ध हैं जिनका प्रयोग कर आप लिंग की खुजली की गम्भीर समस्या से निजात पा सकते हैं।डाइफ्लूकोन, वनकेन, फॉरकेन, फुसिस, सिस्केन, फोल।

एंटीहिस्टामाइन दवांए-
एंटीहिस्टामाइन दवांए


पुरुषों के प्राइवेट पार्ट में खुजली व जलन का मुख्य कारण एलर्जी होता है।एलर्जी करने वाले पदार्थ उत्पाद को आप अपने से अलग कर खुजली की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं।अगर यह करने के बाद भी आपको खुजली व जलन बरकरार है तो आप एंटीहिस्टामाइन दवांए प्रयोग कर खुजली व जलन से निजात पा सकते हैं।

  1. सिटर्जिन- यह दवा हिस्टामाइन को नियंत्रित करके एलर्जी के लक्षण जैसे खुजली, रैडनेस, सूजन आदि को कम करने के लिये प्रयोग की जाती है।इस साल्ट से सम्बन्धित दवाएं जो बाजार में उपलब्ध हैंः- सेटजिन, ऐलेरिड, एल्डे आदि।
  2. लोरैटेडाइन- यह भी सिटरिजिन जैसे ही एंटीहिस्टामाइन दवा है जो एलर्जी को कम करता है तथा खुजली से छुटकारा दिलाता है।जैसे- लोर्डिल, लैड, अलॉर्टी, आदि

इसके अलावा आप गर्म / ठंडी सिकाई, डस्टिंग पाउडर, ओवर द काउण्टर दवाओं का प्रयोग कर लिंग की खुजली से निजात पा सकते हैं।बैसे तो बाजार में तरह तरह की सूखी खुजली दवा एवं गीली खुजली की दवा एवेलेवल हैं।ऊपर लिखी हुई Khujli ki tablet लेने से पूर्व चिकिस्कीय परामर्श आवश्यक है।

यह भी जाने – 7 दिन में 4 इंच लंबाई बढ़ाने के कामयाब नुस्खे – Best Tips

निषकर्षः-

प्राइवेट पार्ट (लिंग) की खुजली के लिये सिर्फ घरेलू / आयुर्वेदिक उपचार का प्रयोग कर लम्बे समय तक नहीं सहना चाहिये।अपने डाक्टर (Dermatologist) से सम्पर्क कर दवाओं एवं क्रीम्स का प्रयोग करना चाहिये। स्वयं का डॉक्टर न बनें, अपने डाक्टर से सम्पर्क करने के उपरान्त ही दाद खाज खुजली की अंग्रेजी दवा tablet का प्रयोग करें। उपर वर्णित एण्टी-फंगल क्रीम, एंटी इच इमोलिएंट, एंटीहिस्टामाइन दवाओं और क्रीम का प्रयोग आप अपने पूरे शरीर में खुजली के किसी भी हिस्से के लिए प्रयोग कर सकते हैं परन्तु प्रयोग से पूर्व अपने चिकित्सक से परामर्श लेना भी आवश्यक है।

 

Leave a Comment