महिलाओं में ब्रेस्ट ढीले व छोटे होने का कारण | छोटे दूध कैसे बड़े करें | ब्रेस्ट ग्रोथ टिप्स

महिलाओं में सुंदरता के लिए शरीर की बनावट में महिलाओं की पर्सनैलिटी का महत्वपूर्ण योगदान होता है जिन महिलाओं की शारीरिक बनावट बहुत अच्छी होती है उनका आत्मविश्वास, समाज में उनके जीने के तरीके अलग होते हैं। शरीर की बनावट में महिला के शरीर में दिखने वाला सबसे पहला अंग उनका ब्रेस्ट होता है और ब्रेस्ट का किसी महिला के लिए पर्सनालिटी में उनके ब्रेस्ट का साइज बहुत महत्व रखता है। जिन महिलाओं के ब्रेस्ट साइज कम होता है उनके अंदर आत्मविश्वास की कमी होती है, और वह अपने आप को हीन भावना से देखती है। इसके लिए महिलाएं विभिन्न प्रकार की दवाइयां का प्रयोग करती हैं, जिन से उनको विभिन्न प्रकार के साइड इफेक्ट भी हो जाते इन सब बातों का ध्यान में रखते हुए आज के लेख में हम आपको ब्रेस्ट ग्रोथ टिप्स बताएंगे जिनसे आप अपनी पर्सनालिटी को सुंदर सुडौल बना सकती हैं। 

हर महिला की चाहत होती है कि सामने से देखने वाला कोई भी व्यक्ति एक ही नजर में उससे मंत्रमुग्ध हो जा

ब्रेस्ट ग्रोथ टिप्स

ए इसके लिए लड़कियां व महिलाएं अपने शरीर के मेंटेनेंस में बहुत ज्यादा ध्यान देती हैं शरीर के मेंटेनेंस में चेहरे की सुंदरता, शरीर की बनावट, कपड़ों का पहनावा और सबसे अधिक उनके स्तनों का साइज मायने रखता है। जिन स्त्रियों के या लड़कियों के स्तन उभरे व सुडौल होते हैं, वह वह अपने जीवन साथी के साथ अधिक खुश रहती हैं और अपने जीवनसाथी को अधिक प्रभावित करती हैं। इसी के विपरीत जिन लड़कियों के स्तन छोटे व ढीले होते हैं उन में आत्मविश्वास की कमी होती है, तथा उनकी शारीरिक पर्सनालिटी कमजोर होती है तथा कोई भी  व्यक्ति उनसे बहुत कम प्रभावित होता है।

महिलाएं  वह लड़कियां अपने छोटे दूध कैसे बड़े करें

जिन महिलाओं के स्तन आकार में छोटे व ढीले होते हैं  उनके लिए चिंता का विषय होता है। कि वह अपने स्तनों को  बड़े व टाइट कैसे बनाएं क्योंकि बड़े व टाइट स्तन महिला की अच्छी पर्सनालिटी के पहचान होते हैं महिलाओं के फिगर चेहरे की बनावट के साथ-साथ उनके स्तनों का साइंज उनकी पर्सनालिटी में बहुत महत्वपूर्ण योगदान रखते हैं। आज के इस लेख में हम आपको लेडीज चेस्ट बढ़ाने के उपाय बताएंगे जिससे लड़कियों में जो एक आम समस्या होती है कि  वह अपने दूध कैसे बड़े करें  इससे आपको काफी सहायता मिलेगी लड़कियां अपने छोटे स्तनों का इलाज निम्नलिखित बताई गई ब्रेस्ट ग्रोथ टिप्स के अनुसार कर सकती हैं ये सभी विधियां सुरक्षित व कारगर हैं

  • लेडीज की छाती बढ़ाने की दवा व क्रीम
  • ब्रेस्ट बढ़ाने की दवा पतंजलि
  • ब्रेस्ट का साइज बढ़ाने की घरेलू विधियां।
  • व्यायाम  हैं लेडीज की छाती बढ़ाने की दवा।

लेडीज की छाती बढ़ाने की दवा व क्रीम 

जिन महिलाओं में स्तनों का साइज बहुत होता है और वह ने स्तन बड़े वाह टाइप करना चाहती हैं तो बाजार में उपलब्ध कुछ क्रीम है जिनके नियमित सेवन व   लेपन से लड़कियां अपने स्तनों के  साइज   को बड़ा सकती हैं जिससे उनके स्तन बड़े व आकर्षक दिखने लगते हैं और इनके नियमित प्रयोग से लड़कियां की पर्सनैलिटी इंप्रूव हो जाती है महिलाएं निम्नलिखित क्रीम का प्रयोग करके स्तनों का साइज बढ़ा सकते हैं।

  • Natural Breast Enlargement Cream
  • In Life Natural Breast Enlargement Cream
  • Bust Bomb Breast Enhancement Cream
  • Breast O Care Body Massage Cream
  • Bust full Bust care gel cream
  • Shakti Aloe Vera Breast Cream

Natural Breast Enlargement Cream

Natural Breast Enlargement Cream

Natural Breast Enlargement Cream के उपयोग ब्रेस्ट को अच्छी तरह से धोकर साफ कर लेना चाहिए तथा अच्छी तरह से सूखने के बाद Natural Breast Enlargement Cream से स्तनों की हल्की हल्की मालिश करनी चाहिए इस क्रीम के नियमित प्रयोग से कुछ समय बाद आपके स्तनों में सुधार होने लगेगा और कुछ समय बाद आपके स्तन बड़े वाह टाइट हो जाएंगे जिससे आपके फिगर में अच्छा पर्सनैलिटी लुक आ जाएगा अर्थात जो महिलाएं अपने छोटे स्तन होने के कारण परेशान रहती हैं उन को नियमित रूप से डॉक्टर के बताए गए परामर्श के अनुसार इस क्रीम का प्रयोग करना चाहिए।

In Life Natural Breast Enlargement Cream

In Life Natural Breast Enlargement Cream

In Life Natural Breast Enlargement Cream का प्रयोग छोटे बा ढीले स्तन वाली महिलाओं को करना चाहिए यह क्रीम महिलाओं में स्तनों के आकार को बढ़ाने के लिए उपयोग में किया जाता है इस क्रीम के उपयोग के लिए रात को सोते समय क्रीम से स्तनों पर हल्की हल्की मालिश  करें तथा सुबह ब्रेस्ट को साफ पानी से धो लें In Life Natural Breast Enlargement Cream  के नियमित सेवन से निश्चित रूप से ही आपके स्तनों में उभार व तनाव आएगा।

Bust Bomb Breast Enhancement Cream

Bust Bomb Breast Enhancement Cream

Bust Bomb Breast Enhancement Cream  का उपयोग महिलाएं  अपने ब्रेस्ट को बड़ा व टाइट बनाने के लिए करती हैं इस क्रीम के दैनिक प्रयोग से  स्तनों के साइज में वृद्धि होती है तथा स्तन का आकार टाइट होकर बढ़ जाता है  अतः जो स्त्रियां अपने छोटे स्तनों के कारण परेशान रहती हैं के लिए Bust Bomb Breast Enhancement Cream  बहुत ही उपयोगी है इसका प्रयोग डॉक्टर की सलाह से नियमित रूप से करना चाहिए।

Breast O Care Body Massage Cream

Breast O Care Body Massage Cream

Breast O Care Body Massage Cream इसके नियमित प्रयोग से स्त्रियों के स्तन बड़े  वाह तनाव युक्त हो जाते हैं कुछ स्त्रियों में छोटे व  ढीले  ब्रेस्ट की समस्या होती है जिससे महिलाएं अपने स्तनों का आकार बड़ा करने के लिए चिंतित रहती हैं उनके लिए Breast O Care Body Massage Cream  बहुत ही उपयोगी है स्क्रीन के नियमित  स्तन मसाज से स्त्रियों के स्तन बड़े व तनाव युक्त हो जाते हैं इसका प्रयोग डॉक्टर की सलाह से किया जा सकता है। 

Bust full Bust care gel cream

Bust full Bust care gel cream

Bust full Bust care gel cream का इस्तेमाल महिलाएं अपने दूध के साइज को बड़ा करने के लिए करती जिन महिलाओं के ब्रेस्ट बहुत  ही छोटे होते हैं उन महिलाओं में आत्म सम्मान की कमी रहती है यह महिलाएं अपने शारीरिक  बनावट को अच्छा नहीं मानती  क्योंकि इनके स्तन साइड में अन्य महिलाओं की तुलना में बहुत ही छोटे होते हैं अतः जिन महिलाओं के स्तन छोटे होते हैं और वे महिलाएं अपने स्तनों का साइज बड़ा करना चाहती हैं या अपने स्तनों को टाइट बनाना चाहती हैं तो उसके लिए Bust full Bust care gel cream  का नियमित रूप से अपने स्तनों पर मसाज करना चाहिए। 

Shakti Aloe Vera Breast Cream

Shakti Aloe Vera Breast Cream

शक्ति एलो वेरा ब्रेस्ट क्रीम बहुत ही असरदार और प्रभावी क्रीम है। यह क्रीम एलो वेरा और शिया बटर जैसे आयुर्वेदिक उत्पादों से बनाई गई है। यह बहुत ही असरदार क्रीम है। यह केवल 4 से 6 सप्ताह के भीतर परिणाम प्रदान करती है। इस क्रीम का इस्तेमाल करने के लिए अपने स्तनों की दिन में एक या दो बार सर्कुलर मोशन में मालिश करनी है। अधिक जानने के लिए अपने डॉक्टर की सलाह लें डॉक्टर के परामर्श के अनुसार Shakti Aloe Vera Breast Cream का प्रयोग करने से बहुत अधिक लाभ मिलेगा।  

ब्रेस्ट बढ़ाने की दवा पतंजलि आयुर्वेदिक औषधियां 

जो महिलाएं अपने छोटे स्तनों से परेशान हैं वह महिलाएं घरेलू नुस्खों को के साथ-साथ कुछ आयुर्वेदिक दवाओं का भी उपयोग कर सकती हैं जिनके उपयोग से महिलाओं के स्तनों में पर्याप्त मात्रा में उभार व तनाव आ जाता है यह दवाइयां आयुर्वेदिक होने के कारण शरीर पर कोई भी साइड इफेक्ट नहीं करती हैं अतः इनका उपयोग सुरक्षित रूप से किया जा सकता है जी मुख्य रूप से कुछ तेल हैं जिनका नियमित रूप से स्तनों पर मालिश करने से स्तनों के साइज में वृद्धि होती है यह तेल निम्नलिखित 

  • बादाम का तेल।
  • जैतून का तेल।
  • सोयाबीन तेल।
  • लौंग का तेल।
  • लैवेंडर का तेल।
  • व्‍हीट जर्म ऑयल।
  • Patanjali Tejus tailum oil

बादाम का तेल

badam oil

बादाम का तेल स्तनों के लिए बहुत ही रामबाण तेल है इस तेल के नियमित सेवन से स्त्रियों के छोटे से छोटे स्तन बढ़े व  सुडौल बन जाते हैं  बादाम के तेल के प्रयोग के लिए रात को सोते समय स्तनों पर बादाम तेल की कुछ बूंदे डालकर  हल्के हाथों से धीरे धीरे मालिश करनी चाहिए यदि नियमित रूप से बादाम तेल की मालिश स्तनों पर की जाती है तो निश्चित रूप से आपके स्तन सुंदर व आकर्षक दिखने लगेंगे छोटे स्तनों वाली महिलाओं को बादाम तेल की मालिश नियमित रूप से करनी चाहिए।

जैतून का तेल

olive oil

जैतून के तेल में कुछ ऐसे आयुर्वेदिक तत्व होते हैं जो शरीर में मांसपेशियों के निर्माण में सहायक होते हैं यदि शरीर के किसी हिस्से पर जैतून तेल का नियमित रूप से उपयोग किया जाता है तो उस अंग में मांसपेशियां पड़ने के कारण उभार आने लगता है स्त्रियां जो स्त्रियां अपने छोटे स्तनों के कारण परेशान रहती हैं उनको अपने स्तनों में जैतून तेल का नियमित रूप मसाज करनी चाहिए जिससे उनके स्तन कुछ ही समय में बड़े व टाइट  हो जाएंगे और उनको अपने छोटे स्तनों की समस्याओं से छुटकारा मिल जाएगा तथा उनकी पर्सनैलिटी सुडोल व सुंदर स्तनों के कारण बढ़ जाएगी।

लौंग का तेल

लौंग का तेल

लौंग का तेल का उपयोग महिलाओं में उनके छोटे स्तनों को बड़ा करने के लिए किया जाता है छोटे स्तनों को बड़ा करने के लिए महिलाएं इस तेल के द्वारा अपने स्थानों की मसाज करती जिससे कुछ समय पर महिलाओं के छोटे बा ढीले स्तन बड़े व टाइट स्तनों में बदल जाते हैं अतः महिलाओं को अपने ढीले स्तनों को टाइट करने के लिए लॉन्ग के तेल का मसाज नियमित रूप से अपने स्तनों पर करना चाहिए। लौंग का प्रयोग लिंग में तनाव को बढाने के लिए भी किया जाता है।

लैवेंडर का तेल

levender oil

लैवेंडर का तेल के आयुर्वेदिक गुणों के कारण आयुर्वेद में इसका महत्वपूर्ण  योगदान है यह आयुर्वेदिक तेल है जिसका प्रयोग महिलाओं के छोटे स्तनों को बड़ा करने के लिए किया जाता है इसके उपयोग के लिए महिलाओं को अपने स्तनों की समस्या से बचने के लिए दैनिक रूप से रात को सोते समय अपने स्तनों पर लैवेंडर का तेल से मालिश कर सकते हैं दैनिक रूप से प्रयोग करने पर उनके स्तनों का साइज बड़ा व आकर्षक हो जाएगा।

व्‍हीट जर्म ऑयल

व्‍हीट जर्म ऑयल

किस तेल का प्रयोग महिला ने अपने ब्रेस्ट साइज को बढ़ाने के लिए  करती हैं जिन महिलाओं में स्तनों की समस्या हो वे महिलाओं व्‍हीट जर्म ऑयल का प्रयोग कर के अपने स्तन का साईज बढ़ा सकती हैं व्‍हीट जर्म ऑयल की नियमित मसाज से महिलाएं छोटे व ढीले स्तनों को बड़ा व टाईट बना सकते हैं।  

Patanjali Tejus tailum oil

 Patanjali Tejus tailum oil

Patanjali Tejus tailum oil का उपयोग महिलाओं में उनके छोटे स्तनों को बड़ा करने के लिए किया जाता है छोटे स्तनों को बड़ा करने के लिए महिलाएं इस तेल के द्वारा अपने स्थानों की मसाज करती जिससे कुछ समय पर महिलाओं के छोटे बा ढीले स्तन बड़े व टाइट स्तनों में बदल जाते हैं अतः महिलाओं को अपने ढीले स्तनों को टाइट करने के लिए Patanjali Tejus tailum oil का मसाज नियमित रूप से अपने स्तनों पर करना चाहिए।

ब्रेस्ट बढ़ाने की टेबलेट नाम

महिलाओं में दृष्ट के विकास के लिए आयुर्वेदिक तथा तेलों के साथ-साथ कुछ टैबलेट का भी प्रयोग किया जा सकता यह टैबलेट्स महिला स्तन को अति शीघ्र बढ़ावा तनाव युक्त बना देते हैं जिन महिलाओं को बहुत जल्दी रिजल्ट की जरूरत होती है ब्रेस्ट बड़ा   करने वाली टैबलेट का प्रयोग करना चाहिए जिससे महिलाएं अपने छोटे व ढीले स्तनों से साहब आ सकती हैं और अपने स्तनों को सुंदर और सुडौल  बना सकती हैं यह टेबलेट  निम्नलिखित हैं

  • Bosom Breast Capsules
  • Oshid Boubs Toner Capsule
  • NATURAL Curve Pro Herbal Capsules
  • Big Shape Capsule
  • Surjichem Bust 36 Capsul

Bosom Breast Capsules

Bosom Breast Capsules

Bosom Breast Capsules नियमित सेवन से महिलाएं अपने छोटे वाले स्तनों को टाइट बा बड़ा बना सकती हैं यह टैबलेट महिलाओं की इस समस्या को देखते हुए बनाई गई है कि उनको किसी प्रकार का साइड इफेक्ट ना हो यह दवा उड़ता आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों द्वारा तैयार की गई है के नियमित सेवन से महिलाएं अपने ब्रेस्ट को बढ़ा कर सुंदर सुडौल बना सकती यदि महिलाएं इस टैबलेट की बता डॉक्टर द्वारा बताई गई मात्रा के अनुसार नियमित सेवन करती हैं तो निश्चित रूप से अपनी पर्सनालिटी को सुंदर और आकर्षक बना सकती हैं।

Oshid Boubs Toner Capsule

Oshid Boubs Toner Capsule

यह कैप्सूल महिलाओं में उनकी मांसपेशियों की वृद्धि करता है यदि कोई महिला इसका नियमित सेवन करती है तो उसके सूखे व  ढीले हुए स्तन की मांसपेशियां बहुत शीघ्र ग्रोथ करती हैं जिससे महिलाओं के स्तनों में उभार  वह तनाव आ जाता है और महिलाओं की छोटे वाला ढीले स्तनों की समस्या दूर हो जाती है अतः टेबलेट महिलाओं के स्तन की मांसपेशियों को बढ़ाने लगता है मांसपेशियां बढ़ने के कारण स्तन उभरे हुए वह बड़े दिखने लगते हैं इसलिए अपने स्तनों को बड़ा करने के लिए लड़कियों को इस टैबलेट का प्रयोग करना चाहिए इसके अच्छे रिजल्ट के लिए इसकी सेवन विधि के जानने के लिए महिलाएं डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं या फिर पैकेट पर बताई गई विधि का प्रयोग कर सकती हैं।

NATURAL Curve Pro Herbal Capsules

NATURAL Curve Pro Herbal Capsules

NATURAL Curve Pro Herbal Capsules पूर्ण रूप से आयुर्वेदिक टेबलेट है यह विभिन्न प्रकार की आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों को मिक्स करके बनाएंगे है इसका उपयोग महिलाएं अपने वक्ष स्थल को बड़ा करने के लिए करती हैं जिन महिलाओं के वक्षस्थल बहुत छोटे अकेले होते हैं उनके लिए यह कहते तो रामबाण औषधि है NATURAL Curve Pro Herbal Capsules  का प्रयोग नियमित रूप से अपने डॉक्टर की सलाह से करने पर महिलाओं में छोटे व  ढीले ब्रेस्ट की समस्या समाप्त हो जाती है अतः ब्रेस्ट की समस्या से जूझ रहे हैं महिलाओं को इस टैबलेट का प्रयोग नियमित रूप से करना चाहिए।

Big Shape Capsule

Big Shape Capsule

यह कैप्सूल उन महिलाओं के लिए बहुत उपयोगी है जिन के ब्रेस्ट साइज बहुत छोटे हैं या ढीले हैं इस कैप्सूल के निमित्त प्रयोग से महिलाएं अपने ब्रेस्ट को बढ़ा व तना  हुआ बनाने के लिए प्रयोग करती हैं Big Shape Capsule  कि नियमित प्रयोग से महिलाओं के ब्रेस्ट में अतिशीघ्र आभार व तनाव आ जाता है जिससे महिलाओं के ब्रेस्ट  बड़े व टाइट  दिखने लगते हैं जिससे महिलाओं का शरीर सुंदर दिखने लगता है अतः जो महिलाएं छोटे ब्रेस्ट की समस्या से परेशान हैं उनको Big Shape Capsule  का नियमित सेवन करना चाहिए इसके सेवन के लिए महिलाएं अपने डॉक्टर से परामर्श ले सकती हैं जिससे  उपयोग के पश्चात  अच्छा रिजल्ट प्राप्त हो और कोई भी साइड इफेक्ट ना हो।

 Bust 36 Capsule

Bust 36 Capsul

यह कैप्सूल पूर्ण रूप से आयुर्वेदिक कैप्सूल है जिसका प्रयोग हुआ है ब्रेस्ट को बढ़ाने के लिए करते हैं जिन महिलाओं है छोटे तथा ढीले स्तनों की समस्या होती है वह महिलाएं इस टैबलेट का प्रयोग करती हैं इस टैबलेट के प्रयोग से ही स्तनों का साइज बढ़ने लगता है तथा छोटे व ढीले हुए स्तन कुछ समय पश्चात बड़े व आकर्षक दिखने लगते हैं जिससे महिलाओं की शारीरिक बनावट में परिवर्तन हो जाता है जिससे महिलाओं का शारीर सुंदर और आकर्षक दिखने लगता है।

ब्रेस्ट का साइज बढ़ाने की घरेलू विधियां

कुछ लड़कियों के ब्रेस्ट साइज पर छोटे होते हैं, किंतु वे संकोच बस किसी से कह नहीं पाती हैं जिससे वह न ही किसी डॉक्टर से मिल पाती हैं और ना ही किसी दुकान से दवा खरीद कर उपयोग कर पातीहैं। ऐसी स्थिति में छोटे स्तन होने के कारण उन लड़कियों की मानसिक स्थिति कमजोर हो जाती है क्योंकि मानसिक स्तर पर वे लड़कियां अपने आप को अन्य लड़कियों की तुलना में जिनके स्तन बड़े होते हैं सुंदर नहीं समझती हैं। इसलिए हम आपको कुछ ऐसे घरेलू उपाय बताएंगे जिनका प्रयोग करके आप अपने स्तनों को घर पर ही बढ़ा व टाइट कर  सकती हैं। इसके लिए आपके घर में बहुत सारे खाद्य पदार्थ ऐसे होते हैं, जिनका नियमित सेवन से आप अपने छोटे और ढीले स्तनों का साइज बढ़ा सकती हैं, और अन्य लड़कियों की तरह अपने स्तनों को बड़ा कर अपनी पर्सनालिटी को निखार सकती हैं। नीचे कुछ पदार्थों के नाम दिए गए हैं जिन का नियमित सेवन बताई गई विधि से करने पर आप अपनी स्तनों की समस्या से छुटकारा पा  सकती हैं। 

  • मसूर की दाल
  • केले
  • प्याज और शहद
  • मेथी दाना
  • मूली
  • जंगली रतालू

मसूर की दाल

छोटे स्तनों की समस्या से जूझ रही महिलाओं को घर पर ही रहकर उनके स्तनों को बढ़ाने में मसूर की दाल का महत्वपूर्ण योगदान है मसूर की दाल के प्रयोग से महिलाएं अपने स्तनों को बढ़ा वा टाईट बना सकती हैं मसूर की दाल का उपयोग करके स्तनों को बढ़ाने के लिए सबसे पहले मसूर की दाल को रात को पानी में भिगो देना चाहिए फिर भीगी कोई मसूर की दाल का पीसकर एक पेस्ट बना लेते हैं इस पेस्ट से स्तनों की मालिश करते हैं तथा बाद में बेस्ट को स्तनों पर ही लगा रहने देते हैं तथा आधे से 1 घंटे बाद गर्म पानी से मसूर की दाल का पेस्ट को धूल देते हैं यह प्रयोग नियमित रूप से समस्या के हल होने तक करते रहते हैं इसके नियमित प्रयोग से महिलाएं अपने स्तनों में  उभार व तनाव महसूस करेंगी।

केले

प्रायः देखा गया है कि जिन स्त्रियों के स्तन छोटे होते हैं उनमें अक्सर फैट की मात्रा कम होती है अतः उनका शरीर  फैटी ना होने के कारण  उनके स्तनों में विकास नहीं हो पाता है केला शरीर में फैट की मात्रा को बढ़ाता है जिससे शरीर के सभी इस समय फैट की मात्रा संतुलित होने लगती है और धीरे-धीरे शरीर का वजन और आकार बढ़ने लगता है जिससे स्तनों में  फैट की पर्याप्त मात्रा पहुंचती है  और स्तनों का विकास होने लगता है अतः केले के नियमित सेवन से स्तनों के विकास में वृद्धि की जा सकती है यदि आपके शरीर में फैट की मात्रा कम है फैटी पदार्थों का नियमित सेवन करते हुए केले की पर्याप्त मात्रा का सेवन करते रहें इससे कुछ समय बाद आपके स्तन सामान्य अवस्था में आ जाएंगे और उनका पूर्ण विकास हो जाएगा।

प्याज और शहद

प्याज और शहद

प्याज और शहद स्तनों का साइज बढ़ाने का  एक बहुत अच्छा उपाय है इनका प्रयोग करने के लिए दो प्याज ले ले और इन को अच्छी तरह से पीसकर रस निकालने प्याज के रस में हल्दी और शहद मिलाकर स्तनों पर इनकी मसाज करें बाद में प्याज के रस हल्दी और शहद के लेप को स्तनों पर ही लगा रहने दें तथा सुबह गुनगुने पानी से स्तनों को धूल ले यह प्रक्रिया नियमित रूप से करते रहें कुछ समय बाद आपके स्तन आकर्षक व सुडौल हो जाएंगे। अदरक का प्रयोग थायरायड के इलाज में भी किया जाता है। 

मेथी दाना

मेथी दाना ब्रेस्ट के साइको बढ़ाने में मदद करता है मेथी दाना के प्रयोग के लिए मेथी के दाने को रात को भिगो देना चाहिए  सुबह कुछ बीजों को चबाकर खाना चाहिए तथा कुछ बीजों को पीसकर उनका पेस्ट बना लेना चाहिए तथा उस पेस्ट को ब्रेस्ट पर लगा लेना चाहिए समय पश्चात बेस्ट को गर्म पानी तो लेना चाहिए यह प्रक्रिया नियमित रूप से करनी चाहिए आप अपने ब्रेस्ट का साइज बढ़ाने के लिए  मेथी के तेल की मालिश अपने स्तनों पर नियमित रूप से करती रहेंगी तो उससे भी फायदा मिलेगा  और आप अपने स्तनों को कुछ दिनों बाद बताई गई इस ब्रेस्ट ग्रोथ टिप्स से सुंदर और बड़े देखेंगे।

मूली

मूली विभिन्न प्रकार के रोगों जैसे पीलिया शुगर  आदि में बहुत ही उपयोगी है विभिन्न प्रकार के रोगों के साथ-साथ मूली का प्रयोग स्तनों के साइज बढ़ाने में ही किया जाता है यदि आप एक महिला हैं और आप के स्तनों का साइज छोटा है या आपके स्तन बहुत ढीले हैं तो आप अपने भोजन में नियमित रूप से मूली का सेवन करें मूली के नियमित सेवन से स्तनों में उधार आएगा और ढीले स्तनों में तनाव भी आ जाएगा अतः जिन लड़कियों के स्तन बहुत ढीले व छोटे हैं उन को नियमित रूप से मूली का सेवन करना चाहिए। जिन लोगों को बवासीर की समस्या है वो भी मूली का प्रयोग कर सकते हैं।

जंगली रतालू

जंगली रतालू आयुर्वेदिक औषध जिसका प्रयोग महिलाओं द्वारा अपने ब्रेस्ट को बढ़ाने के लिए किया जाता है  इसका उपयोग चूर्ण के रूप में किया जाता है इसके उपयोग के लिए जंगली रतालू चूर्ण को एक कप पानी में उबालते हैं तथा उसमें एक चम्मच शहद तथा एक चम्मच चूर्ण को मिलाकर एक घोल  बनाते हैं इसका दैनिक प्रयोग स्त्रियों में छोटे स्तनों को बड़ा व टाइट बना देता है। ब्रेस्ट साइज बढ़ाने के घरेलू नुस्खे में जंगली रतालू लाभकारी हो सकता है। जंगली रतालू स्तनों के टिश्यू को स्वस्थ रखता है और यह महिला के प्रजनन प्रणाली के लिए भी फायदेमंद हो सकता है। इसे डायोसजेनिन भी कहा जाता है। यह एस्ट्रोजन के विकल्प के रूप में भी काम कर सकता है, लेकिन अगर इसे सीधे तौर पर सेवन किया जाए, तो हो सकता है कि यह असरदार न हो । इसलिए, ब्रेस्ट साइज बढ़ाने के उपाय में इसका सेवन चूर्ण के तौर पर किया जाए तो प्रभावकारी होता है।

महिलाओं में ब्रेस्ट ढीले व छोटे होने का कारण व ब्रेस्ट ग्रोथ टिप्स

कुछ महिलाओं का शरीर उनके सुडौल व उभरे हुए स्तनों के कारण बहुत ही सुंदर व आकर्षक दिखाई देता है यह स्त्रियां या लड़कियां किसी भी व्यक्ति को आसानी से प्रभावित कर देती हैं और  इनमें अपने आप में एक आत्मसम्मान होता है और इनकी पर्सनैलिटी हमेशा प्रभावित करने वाली होतीहै। इसी के विपरीत कुछ लड़कियों के स्तन ढीले व छोटे होते हैं, जिनसे लड़कियां सामाजिक स्तर पर अपने आप को कमजोर  समझती हैं उनसे कोई भी व्यक्ति आसानी से प्रभावित नहीं होता है, इन लड़कियों में स्तन के छोटे होने के विभिन्न कारण हो सकते हैं कुछ क्षेत्र की जलवायु के कारण लड़कियों के स्तन छोटे होते हैं, तथा कुछ क्षेत्रों में लड़कियों में उनके परिवारिक इतिहास के कारण होते होते हैं। आइए जानते हैं स्तन छोटे होने के विभिन्न कारण कौन-कौन से हो सकते हैं अगर आपके स्तन छोटे हैं तो इसके कई कारण हो सकते हैं जैसे –

  • कम वज़न होना।
  • पारिवारिक इतिहास। 
  • हेल्दी डाइट न लेना।
  • किसी दवा का साइड इफैक्ट। 
  • हॉर्मोनल असंतुलन।
  • तनाव। 

कम वज़न होना

कम वज़न होना

किसी महिला या लड़की के स्तनों पर साईज बहुत छोटा है और उस महिला  का शरीर बहुत कमजोर है तो इस स्थिति में स्तनों का विकास नहीं होता है क्योंकि जब शरीर को पर्याप्त पोषण व मिनरल्स, विटामिंस मिलते हैं तो शरीर का वजन बढ़ता है, क्योंकि शरीर की कोशिकाएं बढ़ती हैं और इसी के विपरीत महिला का शरीर कमजोर होता है कमजोर शरीर होने के कारण महिला के शरीर की मांसपेशियां का विकास नहीं होता है। जिससे स्तन की मांसपेशियां सिकुड़ जाती हैं, और जिससे महिलाओं के स्तन बड़े नहीं हो पाते हैं। इसलिए महिलाओं का कमजोर शरीर वह कम वजन उनके स्तनों के विकास में रुकावट डालता है, कमजोर शरीर होने के कारण उनके स्तनों का विकास नहीं होता है।

पारिवारिक इतिहास

बच्चों में शारीरिक बनावट उनके  माता-पिता पर निर्भर करती है जिस प्रकार शरीर की बनावट आंख, नाक,  बाल, लंबाई उनके पिता पर निर्भर करती है इसी प्रकार लड़कियों में स्तनों का साइज उनके मां पर निर्भर करता है जिन स्त्रियों के स्तन छोटे होते हैं परिवारिक स्थिति के कारण उन की  लड़कियों के स्तन भी छोटे होते हैं यह उनकी जेनेटिक समस्या हो सकती है। 

हेल्दी डाइट न लेना

जो महिलाएं अपने खान पान को लेकर ज्यादा सतर्क नहीं रहती हैं। उनके शरीर में शारीरिक कमजोरी हो जाती है। शारीरिक कमजोरी होने के कारण लड़कियों का शरीर पूर्ण रूप से विकसित नहीं होता, तथा उनकी मांसपेशियां कुपोषण का शिकार हो जाती से उनके शरीर के साथ-साथ उनके स्तनों  का भी विकास नहीं होता है। हेल्दी डाईट ना होने के कारण महिलाओं में स्तनों का विकास रुक जाता है जिससे उनके स्तन सुडौल व उभरे हुए विकसित नहीं हो पाते हैं। स्तनों के विकास के लिए महिलाओं और लड़कियों को पूर्ण आहार लेना बहुत ही आवश्यक होता है जिससे उनके शरीर के साथ साथ के सभी अंगो का समग्र विकास होता है। 

किसी दवा का साइड इफैक्ट

बहुत सारे मामलों में देखा जाता है कि किस दवा के साइड इफेक्ट के कारण किसी महिला या पुरुष के  शारीरिक विकास में कमी आ जाती है  इसी तरह यदि लड़कियों को किसी दवा का साइड इफेक्ट हो जाता है तो उनका  शारीरिक विकास रुक जाता है शारीरिक विकास रुकने के साथ-साथ उनके स्तनों में  उभार नहीं आ पाता है जिससे उनके स्तन छोटे व ढीले रह जाते हैं। 

ब्रेस्ट ग्रोथ टिप्स हॉर्मोनल असंतुलन

महिला शरीर में ब्रेस्ट के विकास के लिए एस्ट्रोजन हार्मोन जिम्मेदार होता है। जिन महिलाओं में एस्ट्रोजन हार्मोन श्रावण कम होता है उनके स्तनों का विकास पर्याप्त मात्रा में नहीं हो पाता है। जिससे उनके स्तन छोटे व ढीले रह जाते हैं। हारमोंस का श्रावण  शारीरिक कमजोरी या किसी तरह के साइड इफेक्ट के कारण कम हो सकता है, या फिर हमारी जेनेटिक प्रॉब्लम के कारण भी हार्मोन श्राव में कमी हो सकती है अतः महिलाओं के स्तन के विकास में एस्ट्रोजन हार्मोन का महत्वपूर्ण योगदान होता है। इसलिए इस हारमोंस को बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थ महिलाओं को अधिक मात्रा में  सेवन करना चाहिए। जिससे इस एस्ट्रोजन हार्मोन का स्राव बढ़ सके और महिलाओं में स्तनों का विकास पर्याप्त मात्रा में हो सके जिससे महिलाओं का शरीर का फिगर सुंदर लगे।

तनाव

तनाव

कुछ लड़कियों में या महिलाओं में कुछ विशेष समस्याओं के कारण स्तनों का विकास नहीं हो पाता है जैसे जो महिलाएं और लड़कियां हमेशा तनाव में रहती हैं अर्थात उनका मस्तिष्क हमेशा किसी ना किसी बात को लेकर चिंता में रहता है तो शरीर में एक विशेष प्रकार की कमजोरी हो जाती है जिसके कारण एस्ट्रोजन हार्मोन का समान नहीं होता है जिससे स्तन ग्रंथियों का विकास रुक जाता है और स्तन ग्रंथियों के विकास के रुकने के कारण स्तनों में उभार  और तनाव नहीं आता है। जिसके कारण स्तन छोटे व डीले रह जाते हैं अतः जिस उम्र में लड़कियों में स्तन का विकास होता है उस समय लड़कियों को ज्यादा चिंता या मानसिक तनाव की स्थिति में नहीं रहना चाहिए जिससे उनके संपूर्ण शरीर का विकास हो सके।

ये व्यायाम हैं लेडीज की छाती बढ़ाने की दवा

आज के समय में बहुत सारी महिलाएं अपने छोटे बा ढीले ब्रेस्ट को लेकर बहुत परेशान रहती हैं क्योंकि महिला के ब्रेस्ट अन्य महिलाओं की तुलना में छोटे व ढीले होते हैं जिन महिलाओं में छोटे व ढीले स्तनों की  समस्याएं होती हैं वे  इन समस्याओं के कारण महिलाएं अपने आप को मानसिक रूप से संतुष्ट नहीं कर पाती हैं क्योंकि उनके दिमाग में दूसरी महिलाओं के स्तनों को लेकर बहुत सारी समस्याएं होती हैं। 

  • पुश- अप (Push-ups)
  • क्रंचेस (Crunches)
  • वॉल – अप (wall-ups)
  • चेस्ट प्रेस (Chest press)
  • भुजंगासन
  • उष्ट्रासन
  • वृक्षासन
  • गोमुखासन 

ब्रेस्ट बढ़ाने के कुछ अन्य उपाय 

  • अनार के छिलके पीसकर रात को स्तनो पर लेप करके सोयें प्रात: धोएं। कुछ सप्ताह यह प्रयोग करने स्तनों का ढीलापन दूर होगा। स्तन नव यौवना जैसे होगें।
  • रोजाना लहसुन खाने से स्तनों का ढीलापन दूर हो जाता है और स्तनों से कसाव आ जाता है।
  • माजूफल पानी मे घिसकर शहद मे मिलाकर स्तनों पर लेप करें 2 घण्टे बाद धोए। रात्रि में स्तनों पर बादाम रोगन की मालिश करें। इससे स्तन कठोर और मांसल बने रहते हैं।
  • जैतून के तेल में गाय का दूध मिलाकर गाढा पेस्ट बनाएं व फिर धीरे-धीरे अपने स्तनों पर मलिओ। कुछ ही दिन में स्तन कठोर और सुडौल हो जाएंगे।
  • सरसों के तेल की नित्य मालिश करने से स्तनों में मोटापन एवं उभार आता हैं।
  • स्तन के अगले भाग निपल में उभार न हो, कटी हुई या अस्वस्थ हो तो एरण्ड के तेल की मालिश करने से लाभ होता है।
  • यह बात आप नहीं जानते होंगे की जिस वैसलीन का प्रयोग हम अपने त्वचा को मास्चरईज  करने के लिए करते हैं उसी वैसलीन के नियमित मसाज से स्तनों के साइज में वृद्धि हो सकती है। 

ब्रेस्ट बढ़ाने के कुछ अन्य खाद्य पदार्थ 

महिलाओं को अपने ब्रेस्ट बढ़ाने के लिए  एस्ट्रोजन हार्मोन बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए जिससे एस्ट्रोजन हार्मोन का स्राव बढ़ जाता है और  एस्ट्रोजन हार्मोन के अधिकता के कारण ब्रेस्ट की मांसपेशियां में विकास होना शुरू हो जाता है जब स्तनों की मांसपेशियों में अधिक विकास होता है तो स्तन का साइज बढ़ने लगता है महिलाओं को अपने शरीर और स्तनों के समुचित विकास के लिए एस्ट्रोजन युक्त भोज्य पदार्थों का सेवन अधिक मात्रा में करना चाहिए स्तनों के उचित विकास के लिए जरूरी है कि आप एस्ट्रोजन युक्त खाद्य पदार्थ का सेवन करें जैसे

  • टोफू
  • अदरक
  • मूंगफली
  • अंडा, चिकन, फिश
  • ग्रीन टी
  • सौंफ
  • मूली
  • ब्रोकली
  • सोया प्रोडक्ट्स जैसे – सोया मिल्क, सोया चीज़
  • पपीता

आजकल की महिलाओं में अपने स्तनों को देखकर बहुत सारी समस्याएं कुछ महिलाओं  के स्तन संपूर्ण रुप से विकसित नहीं हो पाते हैं संपूर्ण रूप से विकसित ना होने के कारण यह छोटे और ढीले दिखाई देते हैं जिन लड़कियों या महिलाओं में यह समस्या होती है वह किसी डॉक्टर के पास में ना जाकर अपने आप से कुछ दवाओं का प्रयोग करने लगती है हर महिला का सपना होता है कि उसकी काया खूबसूरत दिखे। इसके लिए स्तनों (ब्रेस्ट) का आकार काफी महत्व रखता है। कई महिलाओं को अपने स्तनों के आकार को लेकर हमेशा शिकायत रहती है।

उम्र के साथ-साथ स्तनों के आकार का ठीक तरह से विकसित न होना, उन्हें चिंतित भी कर देता है। ऐसे में कई बार महिलाएं ब्रेस्ट बड़ा करने के उपाय भी आजमाने लगती हैं।उपर्युक्त लेख में हमने इन साइड इफेक्ट से बचने के लिए बहुत सारे आयुर्वेदिक दवाओं व तेल का प्रयोग बताया है। इन आयुर्वेदिक दवा का प्रयोग करके महिलाएं अपने ब्रेस्ट के साइज को बढ़ा सकती हैं तथा ढीले हुए ब्रेस्ट को टाइट बनाने के लिए प्रयोग कर सकती हैं। जिन महिलाओं में दवाओं को लेकर किसी प्रकार की एलर्जी होती है वे महिलाएं उपर्युक्त कुछ आयुर्वेदिक तेल बताए गए हैं जिनके नियमित मसाज करने से ब्रेस्ट बड़े व तने हुए बना सकती हैं  उपयुक्त लेख  में बताई गई ब्रेस्ट ग्रोथ टिप्स का प्रयोग करके महिलाएं अपने शरीर की सुंदरता को बढ़ा सकती हैं तथा अपने शरीर को अन्य महिलाओं की तरह प्राकृतिक रूप से सुंदर व आकर्षक बना सकती हैं।

उपर्युक्त लेख का आशय आपको एक जानकारी देना है क्योंकि समाज में बहुत सारी स्त्रियां या लड़कियां ऐसी होती हैं जो छोटे स्तनों तथा अन्य विभिन्न प्रकार की समस्याओं से परेशान रहती हैं शर्म  के कारण वे अपने बात को किसी के साथ शेयर नहीं कर पाती हैं तथा यह बातें उनके दिमाग में एक विशेष प्रभाव डालती हैं कभी-कभी इन सभी बीमारियों को लेकर लड़कियां या महिलाएं मानसिक रूप से तनावग्रस्त हो जाती हैं और वे अपने जीवन को दूसरों की तुलना में बेकार समझने लगती हैं अतः आशा है कि इस लेख के माध्यम से उन सभी महिलाओं और लड़कियों को एक महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हुई  है जिससे बताई गई ब्रेस्ट ग्रोथ टिप्स को अपना कर वे अपने जीवन को खुशहाल व  तनाव मुक्त बना सकती हैं।

Leave a Comment