शिलाजीत के फायदे हिंदी | उससे संभव इलाज

पुरुषों के लिए अक्सर देखा जाता है कि पुरुषों से जुड़ी समस्याओं के लिए शिलाजीत का बहुत ही ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है।लेकिन आपके मन में भी हमेशा सवाल उठता होगा कि आखिर शिलाजीत है क्या चीज़? शिलाजीत को बहुत सारी यौन समस्याओं को दूर करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। शिलाजीत एक ऐसी प्राकृतिक औषधि है। जो कि ज्यादातर पहाड़ों पर ही मिलती है यह बहुत ही ज्यादा कारगर प्राकृतिक औषधि मानी जाती है। शिलाजीत बहुत ही गर्म तासीर की होती है। जो कि बहुत सारे रोगों को दूर करने  की क्षमता रखती है। इसको वैद्य,हकीम हमेशा से बहुत सारे मर्जों को ठीक करने के लिए इस्तेमाल करते थे। लोगों के बीच में शिलाजीत के बारे में बहुत सारी ऐसी गलतफहमी है। जो कि बिल्कुल भी सही नहीं है  शिलाजीत का नाम लेते ही अक्सर लोगों के मन में सेक्स और यौन समस्याओं से जुड़ी ही बातें सामने आती है।

शरीर की कमज़ोरी को दूर करने तथा सेक्स क्षमता बढ़ाने के लिए सबसे अच्छी शिलाजीत युक्त दवा

Best Buy









डाबर शिलाजीत गोल्ड



  • 100% असरदार
  • No Side Effect
  • पूर्णरूप से आयुर्वेदिक
Budget Pick









पतंजलि अश्वाशीला



  • अधिक असरदार
  • सुरक्षित
  • पूर्णरूप से फायदेमंद
Trending Buy









दिव्य शिलाजीत शत



  • पूर्ण सुरक्षित
  • आयुर्वेदिक
  • अद्भुत परिणाम

 

लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं है।शिलाजीत बहुत गरम तासीर की होती है। जिससे कि आपके शरीर में बहुत ज्यादा गर्मी आ जाती है और रक्त संचार के बढ़ने और पूर्ण रूप से काम करने पर बहुत सारे रोग अपने आप ही दूर हो जाते हैं।  शिलाजीत में 85  प्रकार के ऐसे प्राकृतिक और गुणकारी तत्व पाए जाते हैं। जो कि मनुष्य के शरीर  के हर अंग तक रक्त का सही से संचार करते है जिससे कि शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है। शिलाजीत को मनुष्य के तंत्रिका तंत्र को ठीक रखने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है। तंत्रिका तंत्र के ठीक रहने से किसी भी पुरुष या महिला के अंदर अल्जाइमर,डिप्रेशन या दिमाग से जुड़ी कोई समस्या नहीं होती है। आइए निम्नलिखित में अन्य विवरणों के माध्यम से  शिलाजीत के फायदे हिंदी में जानने की कोशिश करतें हैं।

शिलाजीत की उत्पत्ति 

शिलाजीत को ज्यादातर पहाड़ों से ही प्राप्त किया जा सकता है। क्योंकि यह पहाड़ों से निकलने वाले चिपचिपे पदार्थ से ही बनी होती है। जोकि ज्यादातर मध्य एशियाई पहाड़ों में ही पाया जाता है।शिलाजीत को आप पाकिस्तान के गिलगिट और बालटिस्तान के पहाड़ों में सबसे ज्यादा प्राप्त कर सकते हैं। शिलाजीत पहाड़ों पर मौजूद गुफाओं में बहुत ही प्राचीन समय से मौजूद धातुओं और पौधों के मिश्रण से बनता है। लेकिन शिलाजीत इतनी आसानी से किसी को नहीं प्राप्त हो पाता है। क्योंकि इसको ढूंढने के लिए बहुत ही ज्यादा जद्दोजहद और मशक्कत करनी पड़ती है। तब जाकर शिलाजीत प्राप्त हो पाती है। पहाड़ों में दिन दिन भर घूमने के बाद ही कुछ ग्राम शिलाजीत इकट्ठे हो पाती है। शायद इसीलिए यह इतनी ज्यादा महत्वपूर्ण और महंगी होती है। इसे हिमालय से निकलने वाले एक तरल और चिपचिपे पदार्थ से निकाला जाता है। फिर इसको शुद्ध करके किसी भी मनुष्य के खाने लायक बनाया जाता है तब जाकर शिलाजीत पूर्ण रूप से तैयार हो पाती है।

शिलाजीत से दूर होने वाले मर्ज 

शिलाजीत एक ऐसी जड़ी बूटी है जो कि बहुत सारे मर्जों को ठीक करने के लिए इस्तेमाल की जाती है। इसमें  बहुत सारे ऐसे लाभकारी गुण पाए जाते हैं।जोकि किसी भी मर्ज  को ठीक कर सकते हैं। शिलाजीत को प्राचीन काल से ही मर्जों के ठीक करने के लिए इस्तेमाल किया जाता रहा है ।इसमें बहुत सारे ऐसे प्राकृतिक गुण पाए जाते हैं।जोकि किसी भी आम आदमी को ज्यादा इसके बारे में नहीं पता होता है। इसकी सही जानकारी हमेशा वैद्य और हकीमों को ही होती है। क्योंकि वह इसके सही गुण के बारे में जानते हैं। शिलाजीत के बारे में बहुत सारे लोग सिर्फ इसके कामोत्तेजक गुण को बढ़ाने के लिए ही जानते हैं। लेकिन आज हम आपको इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि कैसे शिलाजीत विभिन्न प्रकार के मर्जों को ठीक करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। shilajit ke fayde को जानने के लिए बहुत सारे वैज्ञानिकों को बहुत सारे शोधों और रिसर्च से गुजरना पड़ता है। तब हमारे आपके बीच में इसके फायदे के बारें में विस्तृत उल्लेख उपलब्ध हो पाता है।

  • ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में सहायक 
  • अर्थराइटिस के मर्ज में प्रभावी
  • डायबिटीज में दिलाए राहत
  • कोलेस्ट्रोल को कम करने में सहायक
  • अल्जाइमर में लाभकारी
  • दिल को रखे स्वस्थ
  • एनीमिया में मददगार
  • थकान को दूर करे
  • मर्दानगी बढ़ाए, बांझपन में लाभ पहुंचाए
  •  मूत्र संबंधी समस्याओं में उपयोगी
  • दिमागी शक्ति को बढ़ाए
  • डिमेंशिया में कारगर
  • बढ़ती उम्र के प्रभाव को कम करे

1.ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में सहायक 

किसी भी व्यक्ति के अंदर बढ़े हुए ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के लिए शिलाजीत को बेहतर विकल्प के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। बहुत से शोधों और रिसर्च में भी इस बात को माना गया है कि शिलाजीत ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के लिए बहुत ही प्रभावी और लाभकारी है। शिलाजीत में एंटीहाइपरटेनसीव तत्व  पाया जाता है। जो कि ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में बहुत बड़ी भूमिका निभाता है। ब्लड प्रेशर कंट्रोल रहने से आपके अंदर ब्लड प्रेशर की भी बीमारी नहीं होती है। जिससे कि आपका शरीर बहुत ही स्वस्थ और तंदुरुस्त रहता है।

शिलाजीत के फायदे हिंदी

2. अर्थराइटिस के मर्ज में प्रभावी 

शिलाजीत टेबलेट को अर्थराइटिस की समस्या से निजात के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। क्योंकि अर्थराइटिस के समस्या को दूर करने के लिए अक्सर पतंजलि अश्वशिला का इस्तेमाल किया जाता है। अगर शोध की हम माने तो एक बार पतंजलि अश्वशिला का उपयोग चूहों पर किया गया था। जिससे कि इस बात की पुष्टि हो सकी है कि शिलाजीत अर्थराइटिस की समस्या को दूर करने में भी बहुत ही प्रभावशाली है।  पतंजलि अश्वाशीला अश्वगंधा और शिलाजीत के मिश्रण से तैयार किया जाता है। शिलाजीत में सेलेनियम नाम का तत्व पाया जाता है। जिसमें की बहुत सारे एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं।  जोकि अर्थराइटिस की समस्या को कम करने के लिए बहुत ही प्रभावशाली माने जाते हैं। इसी आधार पर हम कह सकते हैं कि अर्थराइटिस की सूजन को कम करने के लिए भी शिलाजीत का इस्तेमाल कर सकते हैं।

शिलाजीत के फायदे हिंदी

3. डायबिटीज में दिलाए राहत

बहुत से  वैद्य और हकीम शिलाजीत को मधुमेह के मर्ज से निजात दिलाने के लिए भी इस्तेमाल करतें  है। शिलाजीत में बहुत सारे ऐसे anti-diabetic गुण पाए जाते हैं जो कि आपके शरीर में बढ़े हुए ब्लड शुगर की मात्रा को कम करने का काम करता है। जिससे कि आपके शरीर में मधुमेह की समस्या को नियंत्रित करने के लिए शिलाजीत का इस्तेमाल किया जा सकता है।

शिलाजीत के फायदे हिंदी

4. कोलेस्ट्रोल को कम करने में सहायक 

शरीर में अक्सर बहुत सारी दिक्कतें कोलेस्ट्रोल के बढ़ जाने के कारण भी हो जाती है। इसीलिए आप कोलेस्ट्रोल को कम करने के लिए शिलाजीत का उपयोग कर सकते हैं। क्योंकि बहुत सारे शोध में यह पाया गया है कि शिलाजीत में लिपिड प्रोफाइल सुधारने वाले ऐसे बहुत सारे गुण पाए जाते हैं।जोकी शरीर में कोलेस्ट्रॉल की समस्या को रोकने के लिए बहुत ही प्रभावशाली और कारगर होते हैं। इसीलिए कोलेस्ट्रॉल को कम करने या फिर इसको नियंत्रित करने के लिए आप शिलाजीत का उपयोग कर सकते हैं। जिससे कि आपके शरीर में कोलस्ट्रोल जैसी समस्या खत्म हो सकती है।

शिलाजीत के फायदे हिंदी

5. अल्जाइमर में लाभकारी

अल्जाइमर एक ऐसी बीमारी है जिसमें आपकी याददाश्त जाने की समस्या हो जाती है। जो कि ज्यादातर बुजुर्ग लोगों में होती है। इस समस्या से निजात दिलाने के लिए आप शिलाजीत का उपयोग कर सकते हैं। बहुत सारे शोधों और रिसर्च के अनुसार अगर हम माने तो शिलाजीत में फुलविक एसिड पाया जाता है। जो कि हमारे याददाश्त को ठीक करने या फिर बढ़ाने का काम करता है। इसी तत्व के कारण शिलाजीत को एंटी अल्जाइमर जड़ी-बूटी भी कह सकते हैं। शिलाजीत के नियमित उपयोग से आप अल्जाइमर के समस्या से बच सकते हैं और  आप शिलाजीत के सही खुराक और उचित मात्रा को नियमित रूप से ले रहे हैं। तो आपको अल्जाइमर के मर्ज में  एक अलग तरह का  सुधार देखने को मिल सकता है।

शिलाजीत के फायदे हिंदी

6. दिल को रखे स्वस्थ

शिलाजीत कैप्सूल खाने के फायदे यह है की हम हाई बीपी को कम कर सकतें हैं। शिलाजीत लिपिड प्रोफाइल को नियंत्रित करने में बहुत सहायक और मददगार होता है। आपके हृदय को स्वस्थ रखने के लिए हाई बीपी और लिपिड प्रोफाइल दोनों ही बहुत ही ज्यादा हानिकारक माने जाते हैं। क्योंकि इसकी वजह से ही आपके अंदर हृदय की बीमारी जन्म लेने लगती है। इसीलिए शिलाजीत के बारे में बहुत से शोध और रिसर्च में पाया गया है कि शिलाजीत हृदय को स्वस्थ रखने के लिए बहुत ही लाभकारी होती है। शिलाजीत के नियमित उपयोग से अन्य प्रकार के मर्ज भी ठीक हो सकते हैं। 

शिलाजीत के फायदे हिंदी

7. एनीमिया में मददगार

आपके शरीर में एनीमिया जैसे मर्ज आयरन की कमी के कारण हो जाते हैं। इसीलिए एनीमिया की समस्या से जूझ रहे लोगों को शिलाजीत का उपयोग करना चाहिए। क्योंकि शिलाजीत एनीमिया की समस्या को खत्म करने और आपके  शरीर में आयरन की मात्रा को भी बढ़ाने का काम करता है। अगर वैज्ञानिक शोधों और रिसर्च की बात माने तो शिलाजीत में बहुत ही पर्याप्त मात्रा में आयरन मिलता है।जो कि शरीर में एनीमिया की समस्या होने की वजह से आयरन की कमी को पूर्ण करने का काम करता है। जिससे कि आपके शरीर में एनीमिया की समस्या भी दूर हो जाती है। इसीलिए एनीमिया के मरीज के लिए शिलाजीत बहुत ही लाभकारी और  रामबाण दवा मानी जाती है।

शिलाजीत के फायदे हिंदी

8. थकान को दूर करे

बहुत से लोगों में अक्सर बहुत जल्दी थकान और कमजोरी देखने को मिलती है। वह थोड़े बहुत काम में भी  बहुत जल्दी थक जाते हैं। जो कि उनके अंदर विटामिन की कमी के कारण यह समस्या जन्म लेने लगती है। इसीलिए आपके शरीर में विटामिन और मिनरल्स की मात्रा को बढ़ाने के साथ साथ फुलविक और हुमिक एसिड को बढ़ाने के लिए आप शिलाजीत का उपयोग कर सकते हैं। क्योंकि आपके शरीर में मौजूद फुलविक और हुमिक एसिड से ही थकान की समस्या से आपको राहत मिल सकता है और शिलाजीत के उपयोग से  आपके अंदर बढ़ रहे अत्यधिक मोटापे की समस्या से भी निजात मिल सकती है। इसीलिए थकान और कमजोरी को खत्म करने के लिए शिलाजीत का उपयोग किया जा सकता हैं।

शिलाजीत के फायदे हिंदी

9. मर्दानगी बढ़ाए, बांझपन में लाभ पहुंचाए

 शिलाजीत को प्राचीन काल से पुरुषों के अंदर मर्दानगी और प्रजनन क्षमता को बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाता रहा है। शिलाजीत के सेवन से पुरुषों में  टेस्टोस्टेरोन की मात्रा बहुत ज्यादा बढ़ जाती है।जिससे कि उनके अंदर हो रही  मर्दानगी की कमी और  प्रजनन क्षमता की कमी दूर हो जाती है। पुरुषों में स्पर्म की कमी को खत्म करने के लिए शिलाजीत का उपयोग किया जाता है।क्योंकि यह पुरुषों में बैक्टीरियल इन्फेक्शन को दूर करने का काम करता है।जिससे कि पुरुषों में प्रजनन क्षमता बहुत ज्यादा बढ़ जाती है। इसीलिए आप पुरुषों में मर्दानगी की कमी को दूर  करने और प्रजनन क्षमता को बढ़ाने के लिए शिलाजीत कैप्सूल के फायदे का भरपूर लाभ उठा सकते हैं।

शिलाजीत के फायदे हिंदी

10. मूत्र संबंधी समस्याओं में उपयोगी

शिलाजीत को आप मूत्र संबंधी  समस्याओं को दूर करने के लिए भी इस्तेमाल कर सकते हैं। क्योंकि शिलाजीत को मूत्र संबंधित समस्याओं को दूर करने के लिए बहुत ही लाभकारी और गुणकारी प्राकृतिक औषधि मानी जाती है। इंटरनेशनल जर्नल ऑफ आयुर्वेदा रिसर्च के अनुसार शिलाजीत में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने वाले गुण होते हैं। जोकी आपके अंदर किसी भी रोग से लड़ने में बहुत ही सहायक साबित होते हैं। इसीलिए शिलाजीत को आप मूत्र संबंधित किसी भी समस्या से निजात पाने के लिए भी उपयोग कर सकते हैं।

शिलाजीत के फायदे हिंदी

11. दिमागी शक्ति को बढ़ाए

शिलाजीत में पाए जाने वाले फुलविक एसिड जो कि हमारी याददाश्त को बढ़ाने और दिमाग की शक्ति को मजबूत करने का काम करते हैं। अगर इसी आधार पर हम कहे तो गलत नहीं होगा कि शिलाजीत हमारे दिमाग की शक्ति को बढ़ाने और याददाश्त को मजबूत करने  के लिए भी उपयोग किया जा सकता है। क्योंकि इसके नियमित उपयोग से हमारी याददाश्त दिन-ब-दिन सुधरनी शुरू हो जाती है। जिससे कि हमें किसी भी  चीज को ज्यादा लंबे समय तक याद रखने में बहुत ही मदद मिलती है।

शिलाजीत के फायदे हिंदी

12. डिमेंशिया में कारगर

डिमेंशिया भी एक प्रकार की  याददाश्त से संबंधित बीमारी है। जिसकी वजह से किसी व्यक्ति को किसी भी चीज को याद रखने में बहुत ज्यादा दिक्कत होती है या फिर कोई भी चीज बहुत ही जल्दी भूलने लगता है। इस  बीमारी की वजह से मनुष्य के अंदर सोचने समझने की शक्ति खत्म हो जाती है। जो कि किसी भी व्यक्ति के लिए बहुत ही कठिन परिस्थिति होती है। इसीलिए इस समस्या से निजात पाने के लिए आप शिलाजीत का उपयोग कर सकते हैं। क्योंकि शिलाजीत में बहुत सारे ऐसे एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं। जो कि हमारी याददाश्त को बढ़ाने और दिमाग की शक्ति को मजबूत करने का काम करते हैं। शिलाजीत में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने वाले बहुत सारे ऐसे गुण पाए जाते हैं। जो कि  हमारे तंत्रिका से हानिकारक तत्वों को बाहर निकालने में बहुत सहायक होते हैं। जिससे याददाश्त ज्यादा समय तक रह पाती है और डिमेंशिया जैसी बीमारी से निजात मिल जाता है। 

शिलाजीत के फायदे हिंदी

13. बढ़ती उम्र के प्रभाव को कम करे

शिलाजीत में बहुत सारे ऐसे गुण पाए जाते हैं जो कि पुरुषों में बढ़ती उम्र की समस्या को खत्म करने का काम करते हैं। जैसे कि बढ़ती उम्र के साथ-साथ बहुत सारी बीमारी पुरुषों में आने लगती है।जो उनको बहुत ही कम उम्र में बुढ़ापे का एहसास कराने लगती है। इसीलिए कम उम्र में अगर आपको बुढ़ापे का  एहसास होने लगे तो आप शिलाजीत का उपयोग करके एंटी एजिंग की समस्या को दूर कर सकते हैं। शिलाजीत में बहुत सारे ऐसे गुण पाए जाते हैं। जो कि हमारे शरीर को तरोताजा रखने और शरीर में नई ऊर्जा प्रदान करने का काम करते हैं। जिससे कि शरीर बहुत ही स्वस्थ और चुस्त दिखने लगता है।जिससे आप की बढ़ती उम्र का असर आपके शरीर पर नहीं दिखता है। 

शिलाजीत के फायदे हिंदी

महिलाओं की समस्या को दूर करे शिलाजीत 

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में अक्सर देखा जाता है कि महिलाओं पर भी बहुत ज्यादा बोझ और काम का दबाव बना रहता है। इसी वजह से उनके अंदर बहुत सारी समस्याएं जन्म  ले लेती हैं जिससे कि उनको बहुत ही दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। बहुत से महिलाओं को घर और ऑफिस दोनों जगहों का  तनाव और काम का बोझ होने की वजह से उनके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य पर बहुत ही बुरा असर पड़ने लगता है। इसी काम के बोझ के चलते महिलाओं के अंदर बहुत सारी ऐसी दिक्कतें जैसे अनियमित पीरियड, कमजोरी, थकान और एनीमिया जैसी बीमारी लेती है। जिसके चलते उनकों काम में कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। बहुत ज्यादा थकान और कमजोरी के चलते महिलाओं में हड्डी  हड्डियों की कमजोरी की भी समस्या होने लगती है  जो कि उनके अंदर कैल्शियम की कमी के चलते होती है। महिलाओं में थायराइड बीमारी खो जाने से खून की कमी होने लगती है जिससे कि उन्हें बहुत ज्यादा थकान और कमजोरी का सामना करना पड़ता है इसीलिए इन सभी समस्याओं को दूर करने के लिए महिलाओं को शिलाजीत का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए क्योंकि महिलाओं की उन सभी समस्याओं से निजात दिलाने के लिए शिलाजीत बहुत ही कारगर और लाभकारी प्राकृतिक औषधि है। तो आइए जानते हैं कि किस प्रकार से शिलाजीत महिलाओं के इन सभी समस्याओं को दूर करने में लाभकारी साबित हो सकती है। 

  • हड्डियों को मजबूत बनाए शिलाजीत
  • अनियमित पीरियड्स में शिलाजीत
  • तनाव-एंग्जायटी दूर करे शिलाजीत 
  • महिलाओं की ऊर्जा बढ़ाए शिलाजीत
  • कैंसर सेल्स को बढ़ने से रोकता है शिलाजीत 
  • खून की कमी दूर करे शिलाजीत

हड्डियों को मजबूत बनाए शिलाजीत

महिलाओं में बढ़ती उम्र के साथ हड्डियों की कमजोरी की समस्या भी बढ़ने लगती है क्योंकि उनके अंदर कैल्शियम की कमी होने के  वजह से हड्डियों की कमजोरी की समस्या उत्पन्न होने लगती है जो कि पुरुषों की तुलना में महिलाओं में बहुत ज्यादा होती है। इसी हड्डियों की कमजोरी की वजह से महिलाओं में  गठिया जैसे मर्ज  भी जन्म लेने लगते हैं।  महिलाओं में हड्डियों की कमजोरी की वजह से उनके जोड़ों में दर्द और  पीठ में दर्द बना  रहता है जिससे कि उनके कामकाज में बहुत ही ज्यादा लगता है। ऐसी समस्या से निजात पाने के लिए शिलाजीत बहुत ही कारगर औषधि साबित हो सकती है। महिलाओं को हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए शिलाजीत का सेवन अवश्य करना चाहिए। इसके नियमित इस्तेमाल से हड्डियों की मजबूती में कुछ ही दिनों में  shilajit capsule ke fayde दिखने शुरू हो जातें हैं।

अनियमित पीरियड्स में शिलाजीत 

आजकल बहुत सारी महिलाएं अनियमित पीरियड के समय से बहुत ज्यादा परेशान रहती हैं क्योंकि अनियमित पीरियड के समय उनके अंदर किसी भी समय पीरियड आने और ब्लीडिंग  की समस्या होने लगती है जिससे कि उनको दैनिक कामकाज में बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। अनियमित पीरियड की वजह से महिलाओं की प्रजनन क्षमता पर भी बहुत ज्यादा असर पड़ता है। इस समस्या की वजह से  महिलाओं के अंदर  यौन समस्याएं भी शुरू हो जाते हैं। इसीलिए इन समस्याओं से निजात दिलाने के लिए महिलाओं को उपयोग करना चाहिए क्योंकि इसमें बहुत सारे एंटीऑक्सीडेंट और एंटीबायोटिक गुण पाए जाते हैं जो कि महिलाओं  अंदर अनियमित पीरियड खत्म करने के लाभकारी साबित हो सकते हैं।

तनाव-एंग्जायटी दूर करे शिलाजीत 

आजकल बहुत सारी महिलाएं डिप्रेशन और एंजायटी की समस्या से जूझ रही है जिससे कि उन्हें बहुत ज्यादा उलझन और घबराहट की समस्या रहती है। इसी समस्या की वजह से  बहुत सी महिलाएं डिप्रेशन में चली जाती हैं और उनका दैनिक जीवन बहुत ही कठिनाइयों से  बीतता है। महिलाओं में तनाव और डिप्रेशन  की समस्या स्ट्रेस हार्मोन के बहुत ज्यादा बढ़ जाने से होने लगती है। किस हार्मोन के ज्यादा बढ़ जाने की वजह से महिलाओं में अनिद्रा की समस्या भी जन्म लेने लगती है। इन सभी समस्याओं को दूर करने के लिए महिलाएं शिलाजीत का उपयोग कर सकतीं हैं। क्योंकि शिलाजीत महिलाओं में स्ट्रेस हार्मोन के उत्पादन को कम करने का काम करता है। जिससे कि  उनका मन  शांत रहता है और उनको अपने तनाव को दूर करने में बहुत ही सहायता मिलती हैं। 

महिलाओं की ऊर्जा बढ़ाए शिलाजीत

महिलाओं के अंदर बहुत ज्यादा थकान और कमजोरी होने की वजह से उन्हें दैनिक कामकाज मैं बहुत ज्यादा दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। महिलाओं में शारीरिक कमजोरी और थकावट के समस्या पीरियड में हो रहे ब्लीडिंग के कारण भी होने लगती है। जिससे तो उनके शरीर में रक्त की कमी हो जाती है और शरीर में पूर्ण रूप से पौष्टिक तत्व नहीं पहुंच पाते हैं। इसीलिए महिलाओं के अंदर शारीरिक कमजोरी और थकान की  समस्या होने लगती है। थकान और कमजोरी को दूर करने के लिए महिलाओं को शिलाजीत का उपयोग करना चाहिए क्योंकि शिलाजीत में माइटोकॉन्ड्रिया जैसे तत्व पाए जाते हैं जो कि महिलाओं के शरीर में उर्जा को बढ़ाने का काम करते हैं इस तत्व  की वजह से महिलाओं के शरीर में एनर्जी लेवल पर्याप्त मात्रा में बना रहता है जिससे कि उनके अंदर शारीरिक कमजोरी और थकान नहीं होने पट्टी है  इसलिए महिलाओं को शरीर में ऊर्जा और शक्ति को बढ़ाने के लिए शिलाजीत का उपयोग करना चाहिए। 

खून की कमी दूर करे शिलाजीत

महिलाओं के शरीर में थायराइड और एनीमिया जैसी बीमारी होने के कारण खून की कमी होने लगती है। बहुत-सी महिलाओं को एनीमिया जैसी मर्ज  के कारण खून की कमी का सामना करना पड़ता है जिससे कि उनके अंदर बहुत ज्यादा थकान और कमजोरी बनी रहती है। खून खून की कमी की वजह से महिलाओं में हड्डियों की कमजोरी और जोड़ों का दर्द होने लगता है। खून की कमी की वजह से ही महिलाओं में यौन समस्याओं की भी समस्या होने लगती है। शिलाजीत को एनीमिया जैसे मर्ज को ठीक करने के लिए जाना जाता है। इसीलिए महिलाओं में खून की कमी को दूर करने के लिए शिलाजीत का सेवन करना चाहिए। शिलाजीत के सेवन से महिलाओं में एनीमिया की समस्या दूर होती है जिससे कि उनके अंदर खून की कमी भी दूर होने लगती है शिलाजीत के सेवन से महिलाओं में होमो ग्लोबिन लेवल बढ़ने लगता है और  रेड ब्लड सेल में भी बढ़ोतरी होने लगती हैं जो कि खून की कमी को दूर करने के लिए बहुत सहायक होते हैं। 

कैंसर सेल्स को बढ़ने से रोकता है शिलाजीत 

शिलाजीत में बहुत सारे ऐसे एंटीबायोटिक जो कि कैंसर सेल्स को बढ़ने से रुकती हैं। अगर आपके शरीर में कैंसर सेल्स बढ़ाएं से रुक जाती हैं तो आपको कैंसर की समस्या से जल्द राहत मिल सकती है क्योंकि कैंसर के समस्या में सेल्स  के बहुत ज्यादा बढ़ने के कारण कैंसर आपके शरीर के दूसरे अंगों में फैलता जाता है जिससे की आपके पूरे शरीर में कैंसर जैसा मर्ज फैल जाता है जो कि बहुत ही भयावह स्थिति पैदा कर देता है और या फिर कभी भी ठीक होने वाला नहीं होता है इसीलिए जरूरी है कि कैंसर के शुरुआती मामले में ही आपको शिलाजीत का सेवन करना शुरू कर देना चाहिए क्योंकि शिलाजीत बहुत  सारे ऐसे एंटीऑक्सीडेंट गुण पाएँ जाते हैं जोकि कैंसर सेल्स को बढ़ने से रोकते हैं। कैंसर के शुरुआती मामले में ही कैंसर सेल्स बढ़ने से रुक जाते हैं तो कैंसर आपके शरीर में बहुत ज्यादा नहीं फैलने पाता है और कैंसर का इलाज बहुत ही आसानी से करके इसको खत्म किया जा सकता है। 

शिलाजीत से निर्मित आयुर्वेदिक दवाएँ 

शिलाजीत बहुत सारे मर्जों को ठीक करने के लिए प्राचीन काल से इस्तेमाल किया जाता रहा है लेकिन आजकल यह बहुत ही मुश्किल से मिलता है क्योंकि धीमे-धीमे वैद्य  और हकीम खत्म हो देते जा रहे हैं लोग आयुर्वेदिक पद्धतियों को भूलते  चले जा रहे हैं क्योंकि वैद्य और हकीम के ना होते हुए आयुर्वेदिक दवाओं को देने वाला या उसकी शाखाओं को बढ़ाने वाला कोई भी ज्यादा व्यक्ति नहीं है और जब किसी भी व्यक्ति को किसी भी उम्र में दवा की जरूरत होती है तो वह एलोपैथिक और होम्योपैथिक दवाओं का सेवन बहुत ही आसानी से कर लेता है क्योंकि इसके बारे में बहुत सारी चिकित्सक उपलब्ध हैं जो कि इन दवाओं को उपलब्ध कराने के लिए माहिर है। लोगों को इन दवाओं से बहुत जल्द आराम भी हो जाता है इसीलिए तो लोग इसी दवाओं का  सेवन करना पसंद करते हैं आयुर्वेद में किसी को ठीक करने के लिए थोड़ा समय जरूर लगता है लेकिन आयुर्वेद ठीक हुआ मरीज  पूर्ण रूप से स्वस्थ हो जाता है उसके अंदर से कोई भी मर्ज जड़ से खत्म हो जाते हैं आयुर्वेद की सबसे बड़ी यही ताकत है क्योंकि आयुर्वेद प्राचीन काल से इस्तेमाल की जाने वाली पद्धति है यह कभी भी खत्म नहीं हो सकती है।

शिलाजीत के फायदे हिंदी

आज भी इस को जिंदा रखने के लिए बहुत सारी कंपनियां प्राचीन काल के औषधियों को तरह-तरह के टेबलेट पाउडर और सिरप में पिरो कर हमारे बीच में लेकर आते रहते हैं जिससे हम अपने किसी मर्ज  को ठीक करने के लिए आयुर्वेदिक दवाओं का इस्तेमाल कर सकते हैं। आयुर्वेदिक दवाओं के इस्तेमाल से हमारे शरीर को किसी भी प्रकार का कोई विपरीत प्रभाव नहीं पड़ता है इसी कारण से  आयुर्वेदिक दवाओं का इस्तेमाल के किसी भी मरीज के लिए बहुत ही सटीक और सही रहता है नहीं तो आजकल जो एलोपैथिक दवाएं बाजार में उपलब्ध हैं उनके इस्तेमाल से एक मर्ज तो ठीक होता है लेकिन उसके साइड इफेक्ट के रूप में कोई न कोई अन्य मर्ज मैं शरीर में जन्म ले लेता।इसलिए हम आपको शिलाजीत से निर्मित कुछ आयुर्वेदिक और पतंजलि की दवाओं के बारे में बताएंगे जो कि हमारे बहुत सारे मर्ज को ठीक करने में लाभकारी और फायदेमंद है। तो आइए जानतें हैं पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल के लाभ के बारें जो की आपको विभिन्न प्रकार के मर्जों से छुटकारा दिलाता है।

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल 

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल अमला और शिलाजीत  के मिश्रण से तैयार की गई आयुर्वेदिक दवा है जो कि किसी भी व्यक्ति के जोड़ों के दर्द को ठीक करने और  अर्थराइटिस की समस्या को दूर करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इसमें पाए जाने वाले आमला और शिलाजीत मैं बहुत सारे ऐसे एंटी ऑक्सीडेंट और बायोटिक गुण पाए जाते हैं  जो कि जोड़ों के दर्द और अर्थमैटिक की समस्या को दूर करने के लिए बहुत ही लाभकारी और फायदेमंद साबित होता है। इस दवा को खाना खाने के बाद एक  गोली दिन में एक बार लिया जा सकता है। आपके मर्ज के अनुसार अगर आपको ज्यादा समस्या है तो इसके खुराक के बारे में आप किसी वैध या चिकित्सक से भी परामर्श कर सकते हैं क्योंकि इसके ज्यादा सेवन से आपको कुछ विपरीत  परिणाम भी मिलने की संभावना है। 

शिलाजीत के फायदे हिंदी

पतंजलि शिलाजीत रसायन 

patanjali shilajit रसायन यौन समस्याओं को दूर करने के लिए इस्तेमाल की जाती है जोकि पूर्ण रूप से शिलाजीत से बनी हुई आयुर्वेदिक औषधि है। इस  दवा में शिलाजीत के अलावा बहुत सारे ऐसे भी आयुर्वेदिक जड़ी बूटियां मिलाई गई है जो कि मर्जों  को ठीक करने के लिए बहुत ही कारगर साबित होते हैं। शिलाजीत का प्रयोग शीघ्र स्खलन का रामबाण इलाज करने के लिए भी किया जाता है इस दवा को  हरीतकी, शिलाजीत, भूमयालकी  जैसे प्राकृतिक जड़ी बूटियों के मिश्रण से तैयार किया गया है।  इस दवा में मौजूद शिलाजीत मैं बहुत सारे ऐसे एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं जो कि किसी भी रोग को जल्दी खत्म करने और शरीर को किसी भी रोग  से लड़ने के लायक बनाते हैं।इस दवा को आप गुनगुने पानी के साथ सुबह शाम  1-1 टेबलेट ले सकते हैं। 

शिलाजीत के फायदे हिंदी

दिव्य शिलाजीत शत 

इस दवा को ज्यादातर पुरुषों में मर्दाना कमजोरी को दूर करने और प्रजनन क्षमता को बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इस दवा को मुख्य रूप से शिलाजीत के साथ-साथ कज्जली,मनशीला,एलोवेरा के मिश्रण से तैयार किया गया है।  इस दवा में पाए जाने वाले शिलाजीत और एलोवेरा में बहुत सारे ऐसे प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट और बायोटिक गुण होते हैं जो किसी भी  रोगों को खत्म करने के लिए बहुत सहायक और लाभकारी होते हैं। इसमें मौजूद शिलाजीत हमारे शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने का काम करती है जो कि शरीर में मौजूद किसी भी रुप से लड़ने के लिए बहुत ही सहायक और लाभकारी होती है। इस दवा को आप 100  ग्राम की मात्रा में शहद के साथ  दिन में दो बार ले सकते हैं। इसके बेहतर परिणाम के लिए आप को कम से कम 3 हफ्ते तक इसका इस्तेमाल करना चाहिए।

शिलाजीत के फायदे हिंदी

पतंजलि अश्वाशीला 

पतंजलि अश्वशिला को बांझपन और नपुंसकता को खत्म करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इस दवा को शिलाजीत और अश्वगंधा के मिश्रण से तैयार किया गया है। यौन  समस्याओं को खत्म करने के लिए  शिलाजीत और अश्वगंधा का  मिश्रण बहुत ही लाभकारी और गुणकारी माना जाता है इसीलिए पतंजलि अश्वशिला में वह ताकत पाई जाती है जो कि पुरूषों में बांझपन और   नपुसंकता की समस्या को जड़ से खत्म कर सकती है।अश्वगंधा का प्रयोग लिंग को पत्थर जैसा सख्त खड़ा करने का प्राचीन फार्मूला के रूप में भी किया जाता है इस दवा में पाए जाने वाले अश्वगंधा में बहुत सारे ऐसे गुण होते हैं जो कि मानसिक तनाव को कम करने और पुरुषों में संभोग शक्ति को बढ़ाने के लिए बहुत ही लाभकारी होते हैं। जैसे कि आपको शिलाजीत के बारे में पहले भी बताया गया है।  इस दवा में पाए जाने वाले शिलाजीत शरीर से विषाक्त पदार्थों को निकालने में अधिकारी होता है जिससे कि शरीर में किसी भी रुप से लड़ने की क्षमता बढ़ जाती है। इस दवा के सेवन से आपके शरीर में  थकान, दमाद और शुगर की समस्या भी दूर हो सकती है। इस  दवा को आप को नियमित रूप से दूध के साथ दिन में दो बार लेना चाहिए जिससे कि आपको इसका बेहतर परिणाम देखने को मिल सकता है।

शिलाजीत के फायदे हिंदी

डाबर शिलाजीत गोल्ड 

डाबर शिलाजीत गोल्ड डाबर कंपनी द्वारा तैयार  की  गई पूर्ण रूप से आयुर्वेदिक दवा है जो कि गठिया जोड़ों में दर्द और अर्थराइटिस की समस्या को दूर करने के लिए बहुत ही लाभकारी दवा मानी जाती है। स्तनों को मुख्य रूप से शिलाजीत, केसर और स्वर्ण भस्म के मिश्रण से तैयार किया गया जो कि शरीर में अर्थराइटिस और गठिया जैसी समस्या को दूर करने के लिए बहुत ही लाभकारी तत्व माने जाते हैं। इस दवा में मौजूद स्वर्ण भारत में बहुत सारे  ऐसे रोग प्रतिरोधक और बायोटिक तत्व पाए जाते हैं जो कि शरीर की थकान को दूर करें और जोड़ों के दर्द में आराम पहुंचाने का काम करते हैं। इन्हीं तत्वों को शरीर में  कामेच्छा की कमी भी दूर होती है।इस दवा को आप दूध के साथ दिन में 2 बार ले सकते हैं जिससे कि आपको अर्थराइटिस और जोड़ों के दर्द में बहुत ही ज्यादा आराम मिलता सकता है।

शिलाजीत के फायदे हिंदी

निष्कर्ष 

इस लेख के माध्यम से हम शिलाजीत के फायदे हिंदी में बताने और समझाने की कोशिश कर रहे हैं कि कैसे शिलाजीत को पाया जाता है और किस तरह से इसको  हमारे और आपके इस्तेमाल करने लायक बनाया जाता है क्योंकि शिलाजीत जब सर्वप्रथम पहाड़ों से निकाला जाता है तो यह सीधे इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है क्योंकि इसको सबसे पहले फिल्टर किया जाता है उसके बाद ही इसका इस्तेमाल किया जा सकता है। शिलाजीत को बहुत सारे मर्जों  को ठीक करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। उन सभी मर्जों  के बारे में इस लेख में पूर्ण जानकारी दी गई है जो शिलाजीत के इस्तेमाल से ठीक होते हैं। शिलाजीत से निर्मित आयुर्वेदिक दवा के बारे में भी पूर्ण जानकारी दी गई है जो कि विभिन्न मर्जो के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इस लेख के माध्यम से हम आपको यह बताने की कोशिश कर रहे हैं कि शिलाजीत हमारे जीवन के लिए कितनी है लाभदायक और फायदेमंद जड़ी बूटी है। यह पूर्ण रूप से प्राकृतिक  है जो कि पहाड़ों से निकाल कर अलग-अलग पाउडर और टेबलेट के रूप में हमारे बीच में पहुंचाया जाता है जिसके इस्तेमाल से हम अपने  मरीजों को बहुत ही आसानी से ठीक कर सकते हैं।शिलाजीत का बहुत ज्यादा मात्रा में इस्तेमाल करना विपरीत परिणाम भी डाल सकता है इसीलिए इस के उचित खुराक और मात्रा के बारे में आप किसी वैध या चिकित्सक से जरूर परामर्श कर लें। 

FAQ

प्रश्न: शिलाजीत कौन सी बीमारी में काम आता है?

उत्तर-शिलाजीत के इस्तेमाल से आप बहुत सी बीमारियों को ठीक करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।  शिलाजीत के इस्तेमाल से आप ब्लड प्रेशर,अर्थराइटीस,मधुमेह,कोलेस्ट्रॉल को कम करने,अल्जाइमर,एनीमिया,मर्दानगी को बढ़ाने,मूत्र संबंधी विकार और डिमेनसिया जैसी बीमारी को ठीक करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

प्रश्न:पुरुष शिलाजीत का सेवन कैसे करें?

उत्तर- पुरुषों को शिलाजीत का सेवन करने के लिए दूध में शिलाजीत का पाउडर मिला कर सोने से पहले ले सकतें हैं।

प्रश्न:शिलाजीत कितनी देर में असर करता है?

उत्तर-शिलाजीत के सेवन के कुछ ही घंटों में यह असर दिखाना शुरू कर देता है। किसी भी में शिलाजीत के नियमित सेवन से इसका असर 90 दिनों में दिखना शुरू हो जाता है।

प्रश्न:शिलाजीत कितने दिनों तक खाना चाहिए?

उत्तर- शिलाजीत का सेवन अलग अलग मर्जों पर निर्भर करता है की ईसे कितने दिनों तक खाना चाहिए ।अगर आप शिलाजीत को शारीरिक शक्ति को बढ़ाने या सेहत बनाने के लिए इस्तेमाल कर रहें हैं तो आपको 60 दिनों तक इसका इस्तेमाल करना चाहिए। अगर आप ब्लड प्रेसर के लिए इस्तेमाल कर रहें हैं तो आप शिलाजीत को 15-20 दिनों तक शिलाजीत का सेवन कर सकतें हैं।अगर आप शिलाजीत को मर्दाना कमजोरी को दूर करने के लिए इस्तेमाल कर रहें हैं तो आपको शिलाजीत का सेवन 75 दिनों तक करना चाहिए। सामान्य बीमारियों के लिए शिलाजीत का सेवन 20 दिन से लेकर 3 महीने तक किया जा सकता है ।

Leave a Comment