सफेद पानी की रामबाण दवा | पतंजलि की रामबाण सफ़ेद डिस्चार्ज की दवा

कुछ महिलाओं में उनके मूत्र मार्ग सफेद रंग का चिपचिपा पदार्थ निकलता है। जिसे वाइट डिस्चार्ज या लिकोरिया के नाम से जाना जाता है सामान्य तौर पर महिलाएं इसे सफेद पानी के नाम से जाना जाता है यह सफेद पानी कभी-कभी  बदबूदार भी होता है। सफेद पानी आना महिलाओं में एक सामान्य बात है यह सफेद पानी महिलाओं में उनके पीरियड्स से पहले या बाद में आता है। यदि यह मासिक धर्म के समय थोड़ा बहुत आता है तो यह सामान्य बात है किंतु इसका अधिक स्राव महिला के शरीर को कमजोर और विभिन्न प्रकार की बीमारियों से ग्रसित कर देता है। इसके लिए अधिक व्हाट डिस्चार्ज होने पर डॉक्टर से संपर्क करें और इसका इलाज कराएं आज के इस लेख में हम आपको सफेद पानी की रामबाण दवा की जानकारी देंगे इससे आप दवाओं का उपयोग करते हुए बीमारी से बच सकते हैं।

सफ़ेद पानी से हैं परेशान तो इन दवाओं का प्रयोग करें

Best Buy









लुकोल टैबलेट



  • 100% Result
  • No Side Effect
  • सुरक्षित
Budget Pick







अशोकारिष्ट



  • अधिक असरदार
  • अद्भुत परिणाम
  • पूर्णरूप से आयुर्वेदिक
Trending Buy







प्रदरान्तक लोह



  • पूर्ण सुरक्षित
  • पूर्णरूप से फायदेमंद
  • आयुर्वेदिक

सफेद पानी क्या है

महिलाओं में पीरियड से  पहले या पीरियड के बाद योनि से सफेद रंग का द्रव पदार्थ निकलता है यह द्रव पदार्थ चिकना चिपचिपा होता है। कभी-कभी इसमें दुर्गंध भी आती है यदि महिला को कभी-कभी यह वजाइनल डिस्चार्ज होता है। तो इसे चिंता की बात नहीं है क्योंकि शरीर इस डिस्चार्ज द्वारा योनि की सफाई करता है किंतु यदि नियमित रूप से वजाइना रिचार्ज यह सफेद पानी हो रहा है। तो डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए योनि से होने वाले इस वेजाइनल डिसचार्ज को सफेद पानी कहते हैं।

महिलाओं में सफेद स्राव के कारण

सफेद पानी

महिलाओं में विभिन्न कारणों से सफेद पानी की समस्या हो जाती है। जैसे गुप्तांगों की पर्याप्त सफाई ना होना या मूत्र मार्ग में किसी प्रकार का विकार होना कभी-कभी यह समस्या उनके पार्टनर पर सेक्स करने पर भी हो जाती है। यदि एक महिला के 1 से अधिक सेक्स पाटनर है तो यह समस्या अधिक दिखाई देती है। सामान्य तौर पर दिमाग के तनावग्रस्त रहने एवं शरीर के चिड़चिड़ा हो जाने के कारण भी यह समस्या हो सकती है महिलाओं में वजाइनल डिस्चार्ज आने के निम्नलिखित कारण हो सकते हैं।

  • दिमाग का तनाव व्यस्त रहना के कारण।
  • गुप्तांगों की साफ सफाई ना होने के कारण।
  • कमजोरी के कारण स्वभाव का चिड़चिड़ा होने के कारण।
  • मूत्र मार्ग में किसी प्रकार के विकार के कारण।
  • एक से अधिक सेक्स पार्टनर होने के कारण।
  • गुप्तांग में किसी प्रकार का संक्रमण होने के कारण।
  • योनि में किसी प्रकार का संक्रमण होने के कारण।

महिलाओं में सफेद स्राव के लक्षण

Likoria-का-घरेलु-इलाज

यदि किसी महिला की योनि से सफेद स्राव या वेजाइनल डिसचार्ज लगातार करता है। तो उसके शरीर में निम्नलिखित परेशानियां शुरू हो जाती हैं और वह विभिन्न प्रकार की बीमारियों से ग्रसित होने लगती है। महिला के शरीर में विभिन्न प्रकार के बदलाव दिखाई देते हैं जिससे हम पता लगा सकते हैं कि महिला हो सकता है। कि सफेद स्राव से परेशान है कभी-कभी महिलाओं को समझ में नहीं आता है। कि उनके शरीर से सफेद पानी का स्त्राव हो रहा है किंतु वह विभिन्न प्रकार की परेशानियों का सामना करने लगती हैं यह परेशानियां निम्नलिखित हो सकती हैं। 

  • अगर बार-बार बुखार होता है और तापमान काफी बढ़ जाता है।
  • अगर पेट में कभी-कभी असहनीय दर्द होता है।
  • बहुत मेहनत न करने के बावजूद आपको थकान ज्यादा हो जाती है।
  • अगर बार-बार टॉयलेट जाना पड़ता है।
  • सफेद और गाढ़ा योनिस्त्राव यानि कि वाइट डिस्चार्ज होना।
  • अगर आपका वजन अचानक बिना किसी कारण कम होने लगे।
  • यदि दो पीरियड्स के बीच इंटरकोर्स के दौरान दर्द होता है और वैजाइना से रक्तस्राव होता है।
  • अगर वैजाइना हमेशा गीली रहती है और उसमें खुजली महसूस होती है।
  • इंटरकोर्स के दौरान योनि में दर्द या जलन होना।
  • वैजाइना से अत्यधिक बदबू का आना।

सफेद पानी की रामबाण दवा

यदि कोई महिला सफेद पानी के डिस्चार्ज से परेशान है तो  तो वह विभिन्न प्रकार की बीमारियों से ग्रसित हो सकती है। इन बीमारियों से बचने के लिए महिलाओं को होने वाले वजाइना डिस्चार्ज यह वाइट डिस्चार्ज शरीर को कमजोर बना देता है। जिससे महिला के विभिन्न अंगों में दर्द बुखार होने लगते हैं आज हम आपको सफ़ेद पानी की कुछ दवाओं के बारे में बताएंगे जिनमें पतंजलि सफेद पानी की दवा,सफेद पानी की दवा Tablet, सफेद पानी की दवा Syrup आदि शामिल है निम्नलिखित विधियों का प्रयोग करके आप और है। सफेद पानी के श्राव से बच सकती हैं।

  • पतंजलि सफेद पानी की दवा
  • सफेद पानी की दवा Tablet
  • सफेद पानी की दवा Syrup
  • पान की रामबाण दवा की घरेलू विधि

पतंजलि सफेद पानी की दवा

भारतीय आयुर्वेद सभी प्रकार की बीमारियों का रामबाण इलाज उपलब्ध रखता है। भारतीय आयुर्वेद विश्व का सबसे पुराना चिकित्सा साधन है किसके द्वारा विभिन्न प्रकार के लोगों घरेलू पौधों से प्राप्त जड़ी बूटियों द्वारा बनाई गई दवाओं से ठीक किया जाता है। प्राचीन काल में आयुर्वेद का उपयोग किया जाता था प्राचीन काल का अनुसरण करते हुए पतंजलि आयुर्वेद आने दिव्य फार्मेसी की सहायता से विभिन्न प्रकार की जड़ी बूटियों से विभिन्न रोगों के लिए दवाओं का निर्माण किया है। यह दवाइयां पूर्णतया आयुर्वेदिक होती है और इनके कोई साइड इफेक्ट नहीं होते  पतंजलि आयुर्वेद में सफेद पानी से बचने के लिए निम्नलिखित दवाइयां का निर्माण किया है। जिनसे स्त्रियां सफेद पानी जैसी समस्या से छुटकारा पा सकती हैं यह सभी दवाइयां सफेद पानी की आयुर्वेदिक दवा हैं।

  • पतंजलि दिव्य पत्रांगासव।
  • पतंजलि दिव्य स्त्री रसायन वटी।
  • पतंजलि दिव्य शिलाजीत रसायन वटी।
  • पतंजलि करेला आंवला जूस। 
  • पतंजलि दिव्य शतावर वटी।

पतंजलि दिव्य पत्रांगासव

पतंजलि आयुर्वेद द्वारा निर्मित पतंजलि दिव्य पत्रांगासव महिलाओं के पीरियड से संबंधित विभिन्न बीमारियों में काम में आप यदि महिलाओं पीरियड्स में अनियमितता रहती है। गुप्तांगों में किसी प्रकार का इंफेक्शन हुआ है। या योनि से सफेद पानी आता है तो यह पतंजलि दिव्य पत्रांगासव बहुत ही उपयोगी आयुर्वेदिक औषधि है। इसके नियमित सेवन से महिलाएं की अनियमित मासिक धर्म सफेद पानी से आराम मिलता है यह सफेद पानी को जड़ से खत्म करने की दवा है।

पत्रांगासव सफेद पानी की दवा syrup

 सफेद पानी की आयुर्वेदिक दवा पतंजलि दिव्य पत्रांगासव की प्रयोग विधि 
  • इसका नियमित 30ml उपयोग किया जा सकता है।
  • पतंजलि दिव्य पत्रांगासव का उपयोग दिन में दो बार किया जा सकता है। 
  • पतंजलि दिव्य पत्रांगासव को गुनगुने पानी के साथ उपयोग कर सकते हैं। 
  • खाना खाने के बाद नियमित रूप से पतंजलि दिव्य पत्रांगासव का सेवन करने से Safed pani ka ilaj किया जा सकता है।  

पतंजलि दिव्य स्त्री रसायन वटी 

पतंजलि  द्वारा की गई पतंजलि दिव्य स्त्री रसायन वटी स्त्रियों के  विभिन्न रोगों के लिए एक औषधि है। जिसका निर्माण पतंजलि आयुर्वेद द्वारा दिव्य फार्मेसी की सहायता से आमला अश्वगंधा बास अशोक चंदन आदि के मिश्रण से तैयार किया गया है। यह स्त्री रोग पीरियड में अनियमितता  पेट में दर्द सफेद पानी  मूत्र मार्ग में किसी प्रकार के संक्रमण  आदि रोगों से बचाती है। दिव्य स्त्री रसायन वटी का नियमित सेवन महिलाओं को विभिन्न रोगों से लड़ने की शक्ति प्रदान करता है। जिससे महिलाएं निरोध बनी रहती अतः उपर्युक्त समस्याओं से पीड़ित महिलाओं को पतंजलि की दिव्य स्त्री रसायन वटी का उपयोग करना चाहिए।

पतंजलि दिव्य स्त्री रसायन वटी 

पतंजलि सफेद पानी की दवा दिव्य स्त्री रसायन वटी का उपयोग विधि
  • दिव्य स्त्री रसायन वटी की 2 गोलियां का सेवन करना चाहिए।
  •  सुबह शाम दो गोलियां नियमित लेना चाहिए।
  •  स्त्री रसायन वटी की गोलियों का सेवन गुनगुने दूध के साथ करना चाहिए।
  •  इसका सेवन रोगी के ठीक हो जाने तक लगातार करते रहना चाहिए।
  • दिव्य स्त्री रसायन वटी का उपयोग खाना खाने के बाद करना चाहिए।

पतंजलि दिव्य शिलाजीत रसायन वटी

पतंजलि शिलाजीत रसायन वटी गोलियों के रूप में एक आयुर्वेदिक पतंजलि आवश्यक है। इसका निर्माण मैं अश्वगंधा भूमि आंवला हरड़ बहेड़ा शिलाजीत व मैग्नीशियम स्टेयरेट जैसे अधिक उपयोगी तत्व पाए जाते हैं। जो स्त्री रोग के लिए बहुत ही लाभकारी होते हैं पतंजलि दिव्य शिलाजीत रसायन वटी शरीर में पोषक तत्वों की कमी को पूरा करके शरीर को स्वस्थ और मजबूत बनाती है। तथा स्त्री रोग के लिए रामबाण औषधि है जिन स्त्रियों में लिकोरिया गोनोरिया आदि यौन जनित रोग पाए जाते हैं। उनके लिए यह रामबाण औषधि है महिलाओं में Safed pani ka ilaj के लिए यह बहुत ही उपयोगी दवा है।

पतंजलि दिव्य शिलाजीत रसायन वटी

सफेद पानी की रामबाण दवा पतंजलि शिलाजीत रसायन वटी की उपयोग विधि
  • सफेद पानी से पीड़ित महिलाओं को इसकी 2 गोलियां नियमित सेवन करना चाहिए।
  • पतंजलि शिलाजीत वटी का प्रयोग गुनगुने दूध के साथ किया जा सकता है सफ़ेद पानी के अलावा इसका उपयोग। 
  • वेजाइनल डिसचार्ज से बचने के लिए महिलाओं को इस का उपयोग खाना खाने के बाद करना चाहिए।
  • रोगी को प्रारंभ में इसका प्रयोग दिन में तीन बार तथा समय पर सुबह शाम इसका प्रयोग करना चाहिए। 
  •  पतंजलि शिलाजीत रसायन वटी का उपयोग डॉक्टर के परामर्श के अनुसार ही लें यदि आप डॉक्टर के परामर्श के अनुसार दवा का प्रयोग करते हैं तो आपको अति शीघ्र लाभ मिलेगा।

पतंजलि करेला आंवला जूस

पतंजलि करेला आंवला जूस में पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम मैग्नीशियम पोटेशियम व फाइबर विटामिंस पर जाते हैं। जो शरीर को स्वस्थ बनाने में सहायक होते हैं पतंजलि का करेला जूस सफेद पानी के साथ साथ डायबिटीज कैंसर एवं हाइपरटेंश आदि से बचाता है। सफेद पानी से पीड़ित महिलाओं को पतंजलि करेला आंवला जूस के नियमित सेवन इस समस्या से बचा सकता है। जो महिलाएं इस रोग से पीड़ित हैं उनके लिए यह सफेद पानी की रामबाण दवा है। 

पतंजलि करेला आंवला जूस

सफेद पानी को जड़ से खत्म करने की दवा पतंजलि करेला आंवला जूस की उपयोग विधि

सफेद पानी से पीड़ित महिलाएं 20ml करेला आंवला जूस का सुबह-शाम नियमित सेवन  करेंगी तो इस बड़ी समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है।

पतंजलि दिव्य शतावर वटी

पतंजलि में शतावरी वटी का प्रयोग सफेद पानी  से पीड़ित महिलाएं करती हैं पतंजलि आयुर्वेद की एक बहुमूल्य दवा है। जो महिलाओं में प्रजनन क्षमता बढ़ाती है मूत्र रोग गोनोरिया  सफेद पानी हाथ में बहुत ही उपयोगी है। इसके नियमित सेवन से मिलाएं सफेद पानी जैसी बीमारी से छुटकारा पा सकती हैं। पतंजलि शतावर वटी का मर्दाना शक्ति बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा में भी किया जाता है। सफेद पानी से पीड़ित महिलाओं को नियमित रूप से पतंजलि दिव्य शतावर वटी का प्रयोग करना चाहिए।

पतंजलि दिव्य शतावर वटी

 पतंजलि शतावर वटी की उपयोग विधि
  • 10 से 20 एमएल शतावर रस का उपयोग नियमित करना चाहिए।
  • 50 से 100 एमएल काढ़ा का प्रयोग कर सकते हैं।
  • शतावर चूर्ण का नियमित सेवन किया जा सकता है।
  • शतावर के अधिक प्रभाव के लिए डॉक्टर से सलाह लें और डॉक्टर द्वारा दी गई सलाह के अनुसार ही दिव्य पतंजलि शतावर का प्रयोग करें।

सफेद पानी की दवा tablet

महिलाओं में सफेद पानी एक चिंता जनक रोग होता है यह रोग महिलाओं में यौन जनित होता है। जिसमें महिलाओं की योनि से सफेद पानी निकलता है जो हल्का चिपचिपा व बदबूदार होता है। सफेद पानी के इलाज के लिए बाजार में बहुत सारे सफेद पानी की दवा Tablet उपलब्ध है। जो इस रोग से महिलाओं की सुरक्षा कर सकती हैं यह टैबलेट्स निम्नलिखित हैं।

  • प्रदरान्तक लोह
  • लुकोल टैबलेट
  • F Care

महिला सफेद पानी की दवा है प्रदरान्तक लोह

प्रदरान्तक लोह

प्रदरांतक लोह स्त्री रोग श्वेत प्रदर अर्थात सफेद पानी से पीड़ित महिलाओं के लिए बनी होती है। यहाँ टैबलेट महिला रोगों के लिए जैसे योनि विकार, गोनोरिया पेट दर्द आदि के लिए बनी होती है इसके नियमित सेवन से सफेद पानी की बीमारी से छुटकारा पाया जा सकता है।

लुकोल टैबलेट

लुकोल टैबलेट

लुकोल टैबलेट स्त्री रोग के लिए  बहुत ही उपयोगी टैबलेट है। इसका उपयोग स्त्रियों की योनि से सफेद पानी आना पेट दर्द और मासिक धर्म की अनियमितता के कारण हुई परेशानियों के लिए किया जाता है इसके नियमित प्रयोग से स्त्रियां सफेद पानी जैसे भयानक रोग से छुटकारा पा सकते हैं।

F Care

F Care

F Care टैबलेट स्त्रियों में होने वाली मासिक धर्म की अनियमितता के कारण व योनि संक्रमण से उत्पन्न हुए रोगों के इलाज में किया जाता है। इस टैबलेट को सफेद पानी जैसी समस्या में बहुत अधिक मात्रा में प्रयोग किया जाता है। और यह एक असर कारक टेबलेट है इसके नियमित सेवन से स्त्रियां सफेद पानी जैसी समस्या से छुटकारा पा सकते हैं।

सफेद पानी की दवा Syrup

स्त्रियों में सफेद पानी से की समस्या से निपटने के लिए बहुत सारे दवाइयां उपलब्ध हैं। सफेद पानी स्त्रियों में कैसे समझते हैं जो स्त्रियों के शरीर को जर्जर कर देती है तथा स्त्रियां आंतरिक एवं बाह्य रूप से कमजोर हो जाती हैं। स्त्रियों के शरीर में इसके कारण दर्द होने लगता है और योनि रोग से सफेद गंध वाला चिपचिपा पदार्थ निकलने लगता है। जिसे सफेद पानी कहते हैं यह पानी विभिन्न प्रकार की दवाइयों से ठीक किया जा सकता है आज हम आपको  कुछ सिरप के बारे में बताएंगे यह निम्नलिखित हैं।

  • लोध्रासव
  • अशोकारिष्ट
  • पत्रांगासव

लोध्रासव सफेद पानी की दवा Syrup

lodhrasav

लोध्रासव सिरप सभी प्रकार के स्त्री रोग के लिए उपयोगी है। यह सिरप महिलाओं में मासिक धर्म की अनियमितता  मूत्र विकार व  सफेद पानी जैसी बीमारियों से बचाती है। इसके नियमित सेवन से स्त्रियों में योनि संक्रमण से होने वाली बीमारियां नहीं होती हैं साथ में इसके नियमित सेवन सफेद पानी की रामबाण दवा इलाज किया जा सकता है। 

महिला सफेद पानी की दवा अशोकारिष्ट

महिला सफेद पानी की दवा अशोकारिष्ट

अशोकारिष्ट सफेद पानी की दवा Syrup है यह  महिलाओं के स्वास्थ्य को देखते हुए महिलाओं के लिए एक कारगर औषधि है। यह सभी महिलाओं को शारीरिक शक्ति प्रदान करती है और विभिन्न प्रकार की महिला रोगों से लड़ने में सहायक होती है। इस में उपस्थित तत्व शरीर में महिला लोगों को तंग नहीं होने देते हैं जिससे यह सफेद पानी गोनोरिया योनि संक्रमण से बचने के लिए एक बहुत ही उपयोगी अवसर है। इसके दैनिक उपयोग से महिलाओं में होने वाली समस्या सफेद पानी से बचा जा सकता है।

सफेद पानी की रामबाण दवा की घरेलू विधि

सफेद पानी महिलाओं की समस्या के लिए हमारे घर में बहुत सारे ऐसे आयुर्वेदिक पदार्थ पाए जाते हैं। जिनके नियमित सेवन से हम बहुत बड़ी बीमारियों का सामना कर सकते हैं भारतीय घरों की रसोई में बहुत सारे आयुर्वेदिक पत्तों का प्रयोग नियमित रूप से किया जाता है। किंतु उनकी सही मात्रा और सही सेवन विधि के उपयोग ना होने के कारण हम उन्हें दवा के रूप में प्रयोग नहीं कर पाते हैं। भारतीय घरों की रसोई में होने वाले मसाले आयुर्वेद का खजाना होते हैं। इनमें विभिन्न प्रकार की जड़ी बूटियां भी शामिल होती हैं जिनके नियमित प्रयोग से महिलाएं सफेद पानी जैसी बीमारी का सामना कर सकती हैं। नीचे दिए गए पदार्थों के निमित्त प्रयोग करते हुए आप सफेद पानी का इलाज कर सकती हैं।

  • धनिया का बीज
  • केला
  • मेथी का पानी
  • आंवला
  • नागकेशर
  • गुलाब का फूल 

धनिया का बीज

धनिया के बीज

धनिया के बीज का प्रयोग मसालों के रूप में प्रत्येक घर में किया जाता है। दैनिक जीवन में प्रतिदिन धनिया का प्रयोग किया जाता है धनिया सफ़ेद पानी के लिए रामबाण औषधि है इसका प्रयोग करना चाहिए धनिया को रात को पानी में भिगो देना चाहिए था। इस पानी को छानकर पी लेना चाहिए इससे सफ़ेद पानी की समस्या में आराम मिलता है। महिलाएं  धनिया के बीज का पानी नियमित सेवन करती हैं तो सफेद  पानी आने की समस्या समाप्त हो जाएगी।

केला

केला

केला एक फल है जिसका नियमित उपयोग किया जा सकता है केला सफेद पानी में बहुत ही रामबाण औषधि है। इसका प्रयोग सफेद पानी से बचने के लिए किया जा सकता है केले का प्रयोग के लिए एक गिलास दूध में आधा चम्मच घी डालकर उसमें केला मसल लें और इसका नियमित सेवन करें इसके नियमित सेवन से सफेद पानी आने की समस्या समाप्त हो जाती है केले को  सफेद पानी की आयुर्वेदिक दवा कहां जाता है।

मेथी का पानी

मेथी का पानी

मेथी का पानी सफेद पानी की परेशानी को दूर करने के लिए मेथी के दानों का इस्तेमाल किया जा सकता है। इसका सेवन करने के लिए 1 लीटर पानी लें अब इसमें 2 चम्मच मेथी दाना डालें। इस पानी को करीब 30 मिनट तक अच्छी तरह से उबालें।बचे हुए पानी का उपयोग पीने के लिए करें इसके नियमित सेवन से सफेद पानी से छुटकारा पा सकते हैं।

आंवला

आंवला

आंवला आयुर्वेद के अनुसार एक बहुत ही आयुर्वेदिक और औषधीय फल है इसका प्रयोग विभिन्न प्रकार पेट की समस्या में किया जाता है। तथा पाचन क्रिया को शुद्ध रखने के लिए आवले का प्रयोग किया जाता है। आंवले का प्रयोग सफेद पानी के लिए भी किया जाता है इसके लिए आंवला के साथ आप जामुन से बीज को निकालकर दोनों को मिलाकर पाउडर बना सकते हैं। इसे शहद या गुड़ के साथ मिलाकर स्टोर करें। जब भी आपको ल्यूकेरिया की शिकायत अधिक होती है। तो एक गिलास गर्म पानी में 1 चम्मच आंवला के बीज का पेस्ट मिलाकर पीएं। सुबह के समय पीने से इसके अधिक फायदे होंगे।

नागकेशर

नागकेशर

नागकेशर का प्रयोग सफेद पानी को दूर करने के लिए किया जाता है। कि स्त्रियों में होने वाली समस्या धातु रोग में नागकेशर का प्रयोग प्राचीन काल से किया जा रहा है इसके प्रयोग के लिए नागकेशर को चावल के पानी में मिलाकर पीने से श्वेत प्रदर में आराम मिलता है स्त्रियां इसका नियमित सेवन करके सफेद पानी की समस्या से बच सकती हैं।

गुलाब का फूल

गुलाब का फूल

गुलाब के फूल का प्रयोग स्त्री रोगों में किया जाता है। स्त्रियों में होने वाले सफेद पानी की समस्या से बचने के लिए गुलाब के फूल का उपयोग किया जाता है। गुलाब के पत्तियों को सुखाकर उसका चूर्ण बनाते हैं  रात को सोते समय दूध के साथ लिया जाता है। नियमित इसके सेवन से महिलाएं सफेद पानी जैसी समस्या से छुटकारा पा सकती हैं।

सफेद पानी से बचने के उपाय

  • पेशाब को अधिक देर तक रोककर ना रखें।
  • जननांगों की नियमित रूप से सफाई करें।
  • एक से अधिक साथी के साथ सेक्स संबंध ना बनाएं।
  • योनि संक्रमण से बचकर रहें।
  • व्रत और उपवास ना करें ।
  • अचार सिरका मसाले व खट्टी पदार्थों का सेवन कम करें।
  • दिन में बिल्कुल भी ना सोए।
  • रात को ज्यादा देर तक ना जागे हैं।

भारत में स्त्रियों में होने वाली सफेद पानी की समस्या आम समस्या है, क्योंकि भारतीय महिलाओं में 10 में से 8 महिलाएं किसी ना किसी समय में सफेद पानी की समस्या को लेकर डॉक्टर के पास अवश्य जाती है। इसका मतलब कि भारत की 80% महिलाएं किसी ना किसी उम्र में सफेद पानी की समस्या से जरूर गुजरती हैं। सफेद पानी की बीमारी की शुरुआत होने पर महिलाएं लड़कियां इसे किसी से बताती नहीं क्योंकि समाज में इसे  गुप्त रोगों की श्रेणी में रखा गया है। इस पर ज्यादा खुलकर बात ना करना के कारण यह रोग बढ़ता जाता है और अंत में ज्यादा हो जाने पर स्त्रियां डॉक्टर के पास जाती हैं। इसलिए उस पर एक लेख में सफेद पानी की रामबाण दवा की जानकारी दी गई है। जिससे महिलाएं कुछ दवाइयों का प्रारंभिक उपचार घर पर कर सकती हैं और इस भयानक समस्या से छुटकारा पा सकती हैं।

लोगों द्वारा पूछे गए कुछ प्रश्न

सफेद पानी रोकने के लिए क्या खाना चाहिए?

सफेद पानी रोकने के लिए उपरोक्त लेख में बताए गए विभिन्न प्रकार के खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए  खाद्य पदार्थों के साथ-साथ उपरोक्त लेख में विभिन्न प्रकार की आयुर्वेदिक दवाओं का वर्णन किया गया है। जिनका प्रयोग करके आप होने वाली सफेद पानी  की समस्या को दूर किया जा सकता है। सफेद पानी  की समस्या से बचने के लिए धनिया,  केला,  मेथी के बीज का पानी, आंवला आदि का सेवन करना चाहिए।

सफेद पानी की सबसे अच्छी दवा कौन सी है?

सफेद पानी की सबसे अच्छी दवा का वर्णन  उपरोक्त लेख में किया गया है जिन महिलाओं में सफेद पानी  की समस्या होती है। उनको उपरोक्त लेख में बताए गए अध्ययन के पश्चात प्रयोग करने से सफेद पानी  की समस्या जड़ से समाप्त हो जाती है। उपरोक्त लेख में बताई गई दवाइयां जैसे  पत्रांगशव, दिव्य शतावर वटी, शिलाजीत रसायन वटी आदि हैं। 

सफेद पानी से छुटकारा कैसे पाएं?

सफेद पानी से छुटकारा पाने के लिए उपरोक्त लेख में विभिन्न प्रकार की आयुर्वेदिक एलोपैथिक शतक पतंजलि दवाओं का वर्णन किया गया है। उपरोक्त लेख के अध्ययन के पश्चात दवाओं के प्रयोग द्वारा सफेद पानी की समस्या को जड़ से समाप्त किया जा सकता है। सफेद पानी  की समस्या को जड़ से समाप्त करने के लिए निम्नलिखित दवाओं का  प्रयोग करना चाहिए जैसे दिव्य स्त्री रसायन वटी, दिव्य शिलाजीत रसायन वटी, लुकोल टैबलेट, आज का प्रयोग किया जा सकता है।

Leave a Comment