टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा – दिखे तुरंत असर

हमारे शरीर में सेक्स क्रियाओं के लिए टेस्टोस्टेरोन हारमोंस उत्तरदाई होता है इसकी कमी से पुरुषों की पौरुष शक्ति कमजोर होने के साथ-साथ उनकी रोमांटिक लाइफ पर भी दुष्प्रभाव पड़ता है। इस हार्मोन का नाम टेस्टोस्टेरोन हार्मोन है, जो पुरुषों की विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं को दूर करने के लिए सक्रिय रूप से कार्य करता है। टेस्टोस्टेरोन हार्मोन की कमी पिट्यूटरी ग्रंथि में रोग, कैंसर के लिए कीमोथेरेपी, रेडिएशन उपचार या फिर किसी आनुवांशिक रोग के कारण हो सकता है। इसके अलावा शरीर में बहुत अधिक आयरन की मात्रा बढ़ने पर भी टेस्टोस्टेरोन की कमी हो सकती है इस को पूरा करने के लिए आज हम आपको हार्मोन बढ़ाने की दवा की जानकारी देंगे।

Best Buy









सफेद मूसली पाक



  • आयुर्वेदिक
  • No Side Effect
  • पूर्णरूप से आयुर्वेदिक
Budget Pick









पतंजलि अश्वगंधा टेबलेट



  • अधिक असरदार
  • 100% असरदार
  • सुरक्षित
Trending Buy









दिव्य शिलाजीत कैप्सूल



  • पूर्ण सुरक्षित
  • पूर्णरूप से फायदेमंद
  • अद्भुत परिणाम

 

मानव जीवन में सेक्स क्रियाओं का बहुत ही महत्वपूर्ण योगदान होता है यदि आप दैनिक रूप से स्वस्थ और खुशहाल जीवन जीना चाहते हैं तो आपके जीवन में सेक्स क्रियाओं का दैनिक रूप से स्वस्थ और प्रभावी तरीके से संपन्न होना अति आवश्यक होता है। जिन पुरुष तथा महिलाओं के मध्य सेक्स क्रियाएं सामान्य नहीं होती हैं उनके बीच के आपसी रिश्ते समाप्त होने लगते हैं, तथा वे तानव पूर्ण जीवन व्यतीत करते हैं तनाव और जीवन होने के कारण उनके जीवन में विभिन्न प्रकार की समस्याएं उत्पन्न हो जाती है। टेस्टोस्टेरोन हारमोंस की कमी होने के कारण पुरुषों में प्रजनन क्षमता कम हो जाती है जिसके कारण पुरुषों के वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या कम हो जाती है और वीर्य पतला हो जाता है, वीर्य पतला होने के कारण विभिन्न प्रकार की सेक्स समस्याएं उत्पन्न होने लगती हैं।

टेस्टोस्टेरोन हार्मोन के कार्य

प्रजनन तथा सेक्स क्रिया के लिए उत्तरदाई टेस्टोस्टेरोन हार्मोन पुरुषों में निम्नलिखित कारणों के लिए उत्तरदाई होता है टेस्टोस्टेरोन एक हॉर्मोन है जो पुरुषों के अंडकोष में पैदा होता है। आमतौर पर इसे मर्दानगी के रूप में देखा जाता है टेस्टोस्टेरोन हार्मोन की कमी के कारण पुरुषों में कुछ विशेष लक्षण दिखाई देते हैं जिसके कारण उनके जीवन में बहुत सारी समस्याएं होती है इस हारमोंस के निम्नलिखित कार्य होते हैं 

  • दाढ़ी मुछों का आना ।
  • मांसलता और यौन क्षमता का विकास। 
  • शारीरिक और मनोवैज्ञानिक स्वास्थ का विकास। 
  • कमजोर प्रजनन क्षमता को बढ़ाना। 
  • वीर्य का पतलापन को रोकना। 
  • कामेच्छा की कमी को बढ़ाना। 
  • शीघ्रपतन तथा शीघ्र स्खलन की समस्या को रोकना। 
  • एकाग्रता की कमी को दूर करना। 
  • कोलेस्ट्रॉल को दुरुस्त रखना। 

टेस्टोस्टेरोन हार्मोन की कमी के लक्षण

टेस्टोरोन हार्मोन का स्राव हमारे पिट्यूटरी ग्लैंड से होता है। पिट्यूटरी ग्लैंड से हमारे दिमाग के सोचने तथा समझने  से संबंधित हार्मोन का श्रावण भी होता है। डॉक्टर बताते हैं कि वैसे तो टेस्टेस्टेरॉन हार्मोन पुरुषों और महिलाओं दोनों में ही सिक्रेट होता है। लेकिन पुरुषों में इसकी मात्रा ज्यादा होती है, ये अंडकोष से सिक्रेट होता है। जहां लिडिंग सेल्स होता है, इसका सीधा कनेक्शन हमारे दिमाग में पिट्युरिटी ग्लैंड के साथ होता है। यदि हमारे शरीर में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन का श्रावण कम हो जाता है या रुक जाता है। जिसके कारण हमें निम्नलिखित लक्षण दिखाई देते हैं

  • चेहरे के बालों का ना आना।
  • शरीर की मांसपेशियों का विकास ना होना।
  • प्रजनन क्षमता का कमजोर हो जाना।
  • वीर्य का पतला हो जाना।
  • वीर्य में शुक्राणुओं की कमी हो जाना।
  • कामेच्छा का खत्म हो जाना।
  • वीर्य के पतले रहने के कारण से शीघ्रपतन की समस्या होना।
  • मस्तिष्क की एकाग्रता में कमी होना। 
  • कोलेस्ट्रोल का अनियमित हो जाना। 
  • शरीर में कम ऊर्जा जिसके कारण थकान का अनुभव करना।
  • वृषण में शुक्राणुओं का निर्माण ना होना।

पुरुष हार्मोन बढ़ाने की दवा

जिन पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन की कमी होती है उनको पुरुष हार्मोन बढ़ाने की दवा  की जरूरत होती है। क्योंकि यदि पुरुष हार्मोन को बढ़ाया ना गया तो पुरुषों में विभिन्न प्रकार की समस्या उत्पन्न हो जाती हैं जिसमें सेक्स समस्या एक महत्वपूर्ण समस्या होती है, जिसके बिना मानव जीवन असंभव होता है जिन पुरुषों में सेक्स समस्याएं उत्पन्न होने लगती हैं। उनको टेस्टोस्टेरोन हार्मोन  की दवा की जरूरत होती है आज हम आपको पुरुष आवाज़ बढ़ाने की दवा के बारे में जानकारी देंगे जो निम्नलिखित है

  • टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा patanjali
  • हार्मोन बढ़ाने की मेडिसिन अंग्रेजी 
  • टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा

टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा patanjali

पतंजलि आयुर्वेद में विभिन्न प्रकार की आयुर्वेदिक दवाओं का निर्माण किया है, जबकि पूर्ण रूप से आयुर्वेदिक है। इनका शरीर पर कोई भी साइड इफेक्ट नहीं होता है। टेस्टोस्टेरोन हार्मोन बढ़ाने के लिए पतंजलि आयुर्वेद द्वारा कुछ आयुर्वेदिक दवाओं का निर्माण किया गया है, जिसमें विभिन्न प्रकार की आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों का प्रयोग किया गया है जो मानव शरीर को बिना साइड इफेक्ट पहुंचा है।

टेस्टोस्टेरोन हार्मोन का श्रावण पढ़ाती हैं, जिससे पुरुषों में होने वाली सेक्स समस्याओं से निपटा जा सकता है। सेक्स समस्याओं के अलावा अन्य समस्याओं के लिए भी टेस्टोस्टेरोन हार्मोनआवश्यक होता है। पतंजलि आयुर्वेद द्वारा निर्मित टेस्टोस्टेरोन हार्मोन बढ़ाने की दवाई निम्नलिखित हैं

  • दिव्य शिलाजीत कैप्सूल
  • पतंजलि अश्वगंधा कैप्सूल
  • दिव्य चंद्रप्रभा वटी
  • दिव्य गिलोय घनवटी 
  • दिव्य शतावरी चूर्ण
  • सफेद मूसली पाक
  • गोक्षुरादि गुग्गुल

दिव्य शिलाजीत कैप्सूल

शिलाजीत एक ऐसा आयुर्वेदिक रासायनिक तत्व है, जिसका प्रयोग प्राचीन काल से ही भारतीय आयुर्वेद में किया जा रहा है। शिलाजीत का प्रयोग आयुर्वेदिक चिकित्सा में प्राचीन काल से किया जाता है। शिलाजीत में 86 प्रकार के आयुर्वेदिक तक उपलब्ध होते हैं, जिनका प्रयोग विभिन्न प्रकार की बीमारियों से बचने के लिए किया जाता है।

शिलाजीत ने उपस्थित 86 प्रकार के आयुर्वेदिक तत्व शरीर की विभिन्न प्रकार की कमियों को पूरा करते हैं, जिन से शरीर स्वस्थ रहता है, और विभिन्न प्रकार की बीमारियों से छुटकारा मिलता है। पुरुषों के टेस्टोस्टेरोन हॉर्मोन में सुधार करने के लिए किया जाता है। शिलाजीत प्रयोग का प्रयोग करने से शारीरिक शक्ति का विकास होता है जिससे हमारे शरीर में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन का स्राव बढ़ जाता है, और हमारी शरीर में होने वाले विभिन्न प्रकार की कमियां तथा सेक्स समस्याएं समाप्त हो जाती हैं।

शिलाजीत कैप्सूल

दिव्य शिलाजीत कैप्सूल के फायदे 
  • दिव्य शिलाजीत कैप्सूल के दैनिक प्रयोग से टेस्टोस्टरॉन हारमोंस का श्रावण बढ़ता है।
  • मर्दानगी में बढ़ोतरी होती है।
  • दूध के साथ पीने से स्पर्म काउंट बढ़ता है।
  • रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।
  • याद करने की क्षमता में विकास होता है। 
  •  शिलाजीत कैप्सूल के प्रयोग से खून की कमी को पूरा करते हैं।
  •  शिलाजीत कैप्सूल के दैनिक प्रयोग से नींद पूरी होती है।

पतंजलि अश्वगंधा टेबलेट

पतंजलि अश्वगंधा टेबलेट के दैनिक प्रयोग से पुरुषों में शारीरिक शक्ति का विकास होता है जिसके कारण शारीर से संबंधित विभिन्न प्रकार की समस्या समाप्त हो जाती हैं। पुरुषों में होने वाले सेक्स समस्याओं के लिए अश्वगंधा टेबलेट बहुत ही रामबाण औषधि है। इसके दैनिक प्रयोग सिर्फ पुरुषों में होने वाली समस्याएं जैसे स्पर्म काउंट का कम होना या टेस्टोस्टेरोन हार्मोन का श्रावण आदि को ठीक करता है। पुरुषों में होने वाली सेक्स समस्याओं के लिए जिम्मेदार टेस्टोस्टेरोन हार्मोन का श्रावण बढ़ाने के लिए पतंजलि अश्वगंधा टेबलेट का प्रयोग किया जाता है।

पतंजलि अश्वगंधा कैप्सूल

पतंजलि अश्वगंधा टेबलेट के फायदे 
  • पतंजलि अश्वगंध टेबलेट का प्रयोग टेस्टोस्टेरोन हार्मोन को बढ़ाने के लिए किया जाता है।
  • प्रजनन क्षमता को बढ़ाने के लिए पुरुषों में पतंजलि अश्वगंधा टेबलेट का प्रयोग किया जाता है।
  • पुरुषों में होने वाले कमजोर सेक्स  पावर को बढ़ाने के लिए पतंजलि अश्वगंधा टेबलेट का प्रयोग किया जाता है।
  • पुरुषों में शारीरिक क्षमता को बढ़ाने के लिए पतंजलि अश्वगंधा टेबलेट का प्रयोग किया।
  • पुरुषों के वीर्य को गाढ़ा करने के लिए दैनिक रूप से पतंजलि अश्वगंधा टेबलेट का प्रयोग करना चाहिए।
  • जिन पुरुषों में कामेंछा शक्ति कम हो जाती है उनको दैनिक रूप से पतंजलि अश्वगंधा टेबलेट का प्रयोग। करना चाहिए।

दिव्य चंद्रप्रभा वटी

दिव्य चंद्रप्रभा वटी का प्रयोग पुरुषों में होने वाली सेक्स समस्याओं को समाप्त करने के लिए किया जाता है। दिव्य चंद्रप्रभा वटी पुरुषों के हार्मोन टेस्टोस्टेरोन का श्रावण को बढ़ाती है, जिससे पुरुषों में होने वाली सेक्स समस्याएं समाप्त हो जाती हैं।

दिव्य चंद्रप्रभा वटी आंवला, चंदन, दारुहल्दी, देवदार, गुग्गुल, कपूर, नगरामुस्ताका, दालचीनी, वाचा, बहेड़ा, शिलाजीत, त्रिकटु, त्रिफला, चिरायता, लौह भस्म, बांस, जौ आदि के अर्क से तैयार वटी है,जिन व्यक्तियों में शुक्राणु की कमी के कारण वीर्य पतला होता है उनको पतंजलि में शुक्राणु बढ़ाने की दवा पतंजलि चंद्रप्रभा वटी टैबलेट का प्रयोग करना चाहिए जिसका  यौनि सम्बन्धी विकारों के इलाज में प्रयोग की जाती है। इस वटी का प्रयोग गुप्त रोगों के साथ साथ उच्च रक्तचाप रोगियों के उपचार में भी किया जाता है।

चंद्रप्रभा वटी एक अच्छी दर्दनिवारक भी है दर्द से राहत दिलाने में भी चंद्रप्रभा वटी फायदेमंद है। यूरिक एसिड कम करने के गुण के कारण जोड़ों के दर्द, गठिया वात के दर्द, जोड़ों के सूजन आदि को यह कम और समाप्त करती है।

चंद्रप्रभा वटी

दिव्य चंद्रप्रभा वटी का प्रयोग तथा फायदा
  • दिव्य चंद्रप्रभा वटी का प्रयोग पुरुषों में सेक्स समस्याओं से बचने के लिए किया जाता है।
  •  दिव्य चंद्रप्रभा वटी का प्रयोग टेस्टोस्टेरोन हार्मोन किस रावण को बढ़ावा देने के लिए किया जाता है जो शख्स क्रियाओं के लिए उत्तरदाई होता है।
  •  दिव्य चंद्रप्रभा वटी  का प्रयोग शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए किया जाता है।
  • देव चंद्रप्रभा वटी के दैनिक प्रयोग हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाता है।
  • लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण में दिव्य चंद्रप्रभा वटी मदद करता है।
  • चंद्रप्रभा वटी का दैनिक प्रयोग बिलीरुबिन को कम करता है।
  • चंद्रप्रभा वटी के दैनिक प्रयोग से फैट बर्नर  किया जा सकता है।
  • दिव्य चंद्रप्रभा वटी का प्रयोग मांसपेशियों को आराम देने  के लिए किया जाता है। 
  • दिव्य चंद्रप्रभा वटी का प्रयोग पेट की कृमिनाशक के रूप में किया जाता है।

दिव्य गिलोय घनवटी 

दिव्य गिलोय घनवटी में एंटीसेप्टिक तथा एंटीबायोटिक गुण होते हैं, जो शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं। जिससे हमारा शरीर विभिन्न प्रकार के रोगों से बचा रहता है, और हमारे शरीर में कमजोरी नहीं होने पाती है। शरीर में कमजोरी न होने के कारण हमारा शरीर स्वस्थ तथा शक्ति युक्त होता है। गिलोय में बहुत अधिक मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं, साथ ही इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी और कैंसर रोधी गुण होते हैं।

इन्हीं गुणों की वजह से यह बुखार, पीलिया, गठिया, डायबिटीज, कब्ज़, एसिडिटी, अपच, मूत्र संबंधी रोगों आदि से आराम दिलाती है। गिलोय घन वटी का प्रयोग पुरुषों में होने वाले सेक्स समस्याओं को दूर करने के लिए किया जाता है क्योंकि इसमें टेस्टोस्टेरोन हार्मोन को बढ़ाने के क्षमता होती है। जिन व्यक्तियों में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन का सामान कम हो जाता है उनको दैनिक रूप से दिव्य गिलोय घनवटी के प्रयोग की सलाह दी जाती है।

दिव्य गिलोय घनवटी 

 गिलोय घनवटी के फायदे तथा ना उपयोग
  • गिलोय घनवटी का उपयोग शारीरिक प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए किया जाता है।
  • गिलोय घन वटी का प्रयोग टेस्टोस्टेरोन हार्मोन के श्रवण को बढ़ाने के लिए किया जाता।
  • जिन व्यक्तियों में सेक्स समस्याओं से संबंधित  विकार होते हैं उनको दैनिक रूप से गिलोय घन वटी का प्रयोग करने के लिए कहा जाता है।
  • पुरुषों की प्रजनन क्षमता को बढ़ाने के लिए दैनिक रूप से गिलोय घन वटी का प्रयोग किया जाता है।
  • पुरुषों में होने वाले टेस्टोस्टेरोन हार्मोन के अलावा पीलिया बुखार फैलेरिया कफ कैंसर जैसी बीमारियों के लिए भी गिलोय घन वटी का प्रयोग किया जाता है।

दिव्य शतावर चूर्ण

पुरुषों में सेक्स समस्या के लिए जिम्मेदार टेस्टोस्टेरोन हार्मोन  किस रावण के लिए दिव्य शतावरी चूर्ण का प्रयोग एक रामबाण औषधि के रूप में प्रयोग किया जाता है। दिव्य शतावर वटी में सेक्स समस्याओं को समाप्त करने के कुछ ऐसे आयुर्वेदिक गुण पाए जाते हैं, जिनके द्वारा पुरुष तथा महिला दोनों के संबंधित सच समस्याओं को दूर किया जा सकता है।

पतंजलि शतावर चूर्ण शतावरी हर्बल पौधे से बनी आयुर्वेदिक दवा है जोकि पुरुषों में संभोग शक्ति को बढ़ाने और शारीरिक दुर्बलता के लिए,एवं पेनिस साइज बढ़ाने की दवा के रूप में बहुत ही उपयोगी है और यह पुरुषों के जीवन में यौन समस्या से खराब हो रही जीवन शैली को सुधारता है। जिससे इसका सीधा असर आपके वैवाहिक जीवन पर पड़ता है।पतंजलि शतावरी चूर्ण हमारे शरीर के इम्यून सिस्टम को बढ़ाता है।जिन पुरुषों में शीघ्रपतन की समस्या होती है उन को शीघ्रपतन का इलाज करने के लिए पतंजलि शतावरी चूर्ण का प्रयोग किया जाता है

शरीर में उत्तेजना उत्पन्न करता है। जोकि संभोग समय बढ़ाता है । इस दवा में एंटीडिप्रेशन गुण होते हैं। जिससे आपके शरीर में तनाव की कमी आती है। शीघ्रपतन की समस्या से बचने के लिए मानसिक तनाव का खत्म होना बहुत ही जरूरी होता है।

दिव्य शतावरी चूर्ण

दिव्य शतावर चूर्ण के उपयोग तथा फायदे
  • दिव्य शतावरी चूर्ण का प्रयोग टेस्टोरोन हार्मोन के श्रावण को बढ़ाने के लिए किया जाता है।
  • दिव्य शतावरी चूर्ण का प्रयोग वजन बढ़ाने के लिए किया जाता है।
  • मानसिक तनाव को दूर करने के लिए टीवी शतावरी चूर्ण का प्रयोग किया जाता है।
  • अनिद्रा की कमी को दूर करने के लिए भी शतावरी चूर्ण का प्रयोग किया जाता है। 
  • पेट की विभिन्न प्रकार के समस्याओं को दूर करने के लिए देर शतावरी चूर्ण का प्रयोग दैनिक रूप से करना चाहिए।
  • शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए दीव शतावरी चूर्ण का प्रयोग किया जाता है। 
  • दिव्य शतावरी चूर्ण का प्रयोग आंखों की समस्या को दूर करने के लिए किया जाता है।

सफेद मूसली पाक

दिव्य मूसली पाक पतंजलि द्वारा तैयार किया जो पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन के श्रावण को बढ़ाने में मदद करता है, और यह पूर्ण रूप से आयुर्वेदिक है इस दवा में पाए जाने वाली बहुत सारी आयुर्वेदिक जड़ी बूटियां जैसे  गोखरू,चित्रक,अकरकरा,अश्वगंधा,बाला,हरीतकी,जायफल,बंग भस्म,तेजपात मौजूद है। जो कि पुरुषों में वीर्य न बढ़ने और पतला होने की समस्या को एकदम जड़ से खत्म कर देता है।

इसके अलावा सेक्स टाइम बढ़ाने की मेडिसन के रूप में भी इस्तेमाल की जाने वाली औषधि है। यह दवा वीर्य को गाढ़ा करने और उसमें शुक्राणुओं इस संख्या को बढ़ाने के लिए बहुत ही लाभकारी आयुर्वेदिक औषधियों में से एक है। इस दवा को एक निर्धारित मात्रा में लिया जा सकता है। इस दवा को कम से कम 10 ग्राम की मात्रा में दूध के साथ दिन में एक बार लेना आवश्यक है।

दिव्य सफेद मूसली पाक

सफेद मूसली पाक के फायदे 
  • पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन के स्तर को बढ़ाने के लिए सफेद मूसली पाक का प्रयोग किया जाता है।
  • शीघ्रपतन की समस्या को समाप्त करने के लिए दैनिक रोड से सफेद मूसली पाक का प्रयोग करना चाहिए।
  • शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए दैनिक रूप से मूसली पाक का प्रयोग होता है।
  • प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए दिव्य सफेद मूसली पाक का प्रयोग किया जाता।
  • ल्यूकोरिया या सफेद पानी को दूर करने के लिए भी सफेद मूसली पाक का प्रयोग करते हैं। 
  • शारीरिक कमजोरी को दूर करने तथा वजन बढ़ाने के लिए सफेद मूसली पाक का प्रयोग किया जाता है।

पतंजलि दिव्य मकरध्वज

पतंजलि दिव्य मकरध्वज पुरुषों में टेस्टोरोन हार्मोन किस श्रावण को बढ़ाता है। जो पुरुषों में होने वाली सेक्स टाइमिंग की समस्या दूर करने एवं ढीलापन की दवा के रूप में लाभकारी औषधीय दवाओं में शुमार है। इस दवा को जायफल, लौंग, काली मिर्च, एलोवेरा के मिश्रण से बनाया गया है। जोकि पुरुषों में संभोग शक्ति और ताकत को बढ़ाता है।

जिससे पुरुषों में शिघ्रस्खलन की समस्या को जड़ से खत्म कर देती है। मकरध्वज शरीर में शुक्राणुओं की संख्या को बढ़ाता है। इसको अदरक रस, मधु, मिश्री, मक्ख, मलाई, वा दूध के साथ 250 मिलीग्राम  मिलाकर दिन में 2 बार ले सकते हैं।

पतंजलि दिव्य मकरध्वज

आप मकरध्वज वटी के सेवन से भी शुक्राणु विकार को ठीक कर सकते हैं। यह वटी अधिक मैथुन या अप्राकृतिक मैथुन के कारण लिंग के ढीलेपन सहित अन्य बीमारियों का भी उपचार करती है। शीघ्रपतन, वीर्य का पतलापन आदि विकारों में भी मकरध्वज वटी उपयोगी होती है। स्तम्भन शक्ति को बढाती है तथा नपुंसकता का नाश करती है।

पतंजलि दिव्य मकरध्वज के फायदे
  • पतंजलि दिव्य मकरध्वज का प्रयोग पुरुषों में होने वाली सेक्स कमजोरी को दूर करने के लिए किया जाता है।
  • टेस्टोरोन हार्मोन किस रावण में पतंजलि दिव्य मकरध्वज  सहायक होता है।
  • खांसी जुकाम सर्दी को दूर करने के लिए पतंजलि दिव्य मकरध्वज  का प्रयोग किया जाता है।
  • वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने के लिए  पतंजलि मकरध्वज का प्रयोग किया जाता है।
  • पुरुषों में होने वाले विभिन्न प्रकार के सेक्स समस्याओं को दूर करने के लिए दिव्य मकरध्वज का प्रयोग करते हैं।
  • पुरुष महिलाओं में यौन शक्ति प्राप्त करने के लिए  पतंजलि मकरध्वज का उपयोग किया जाता है।

हार्मोन बढ़ाने की मेडिसिन अंग्रेजी

पुरुषों में सेक्स समस्या से निपटने के लिए उत्तरदाई हार्मोन टेस्टोस्टेरोन  सेक्स क्रियाओं के लिए बहुत ही आवश्यक हारमोंस है, जो पुरुषों की प्रजनन क्षमता से लेकर सेक्स क्रियाओं के साथ-साथ अन्य महत्वपूर्ण क्रियाओं के लिए जिम्मेदार होता है। जिन व्यक्तियों में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन की कमी हो जाती है उनके अंदर सेक्स से संबंधित विभिन्न प्रकार की समस्याएं उत्पन्न होने लगती हैं। इस को पूरा करने के लिए कुछ विशेष प्रकार के खाद्य पदार्थ तथा औषधियों की आवश्यकता होती है खाद्य पदार्थों के साथ-साथ हारमोंस बढ़ाने के लिए कुछ औषधियों की जरूरत होती है। जो निम्नलिखित हैं

  • अंडेकेनेट 40mg कैप्सूल
  • semenoll 
  • Performer 8
  • semenax

अंडेकेनेट 40mg कैप्सूल

अंडेकेनेट 40mg कैप्सूल का प्रयोग पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन को बढ़ाने के लिए किया जाता है जिससे पुरुषों में होने वाली सेक्स समस्याओं को समाप्त किया जा सके जिन पुरुषों में सेक्स से संबंधित समस्याएं होती हैं उनमें टेस्टोस्टेरोन हार्मोन का श्रावण कम हो जाता है।

उस हार्मोन के स्राव को बढ़ाने के लिए जारी रखने के लिए अंडेकेनेट 40mg कैप्सूल टेबलेट का प्रयोग किया जाता है टेस्टोस्टेरोन अंडेकेनेट 40mg कैप्सूल एक दवा है जिसका इस्तेमाल कम टेस्टोस्टेरोन स्तर के कारण होने वाले पुरुष हार्मोन में कमी के इलाज में किया जाता है। यह केवल ज्ञात मेडिकल कंडीशंस वाले पुरुषों को ही दिया जाता है। यह पुरुषों के शरीर में टेस्टोस्टेरोन के स्तर को वापस सामान्य करने में मदद करता है।

अंडेकेनेट 40mg कैप्सूल

अंडेकेनेट 40mg कैप्सूल के फायदे

  • अंडेकेनेट 40mg कैप्सूल का प्रयोग पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन किस रावण को बढ़ावा देने के लिए किया जाता है।
  • जिन पुरुषों में भिन्न प्रकार की समस्याएं होती हैं उनको दैनिक रूप से अंडेकेनेट 40mg कैप्सूल का प्रयोग करना चाहिए।
  • शीघ्रपतन की समस्या को समाप्त करने के लिए दैनिक रूप से अंडेकेनेट 40mg कैप्सूल  का प्रयोग करना चाहिए।
  • पेट में विभिन्न प्रकार की समस्याओं को दूर करने के लिए अंडेकेनेट 40mg कैप्सूल  का प्रयोग किया जाता है।
  • डायरिया की समस्या से बचने के लिए अंडेकेनेट 40mg कैप्सूल  का प्रयोग किया जाता है।
  • पुरुषों में स्तन वृद्धि को सामान्य रखने के लिए अंडेकेनेट 40mg कैप्सूल  का प्रयोग किया जाता है।
  • अंडेकेनेट 40mg कैप्सूल दर्द सूजन तथा लालिमा को दूर करने के लिए किया जाता है। 

Semenoll 

Semenoll का प्रयोग पुरुषों में होने वाले टेस्टोस्टेरोन हार्मोन की कमी को पूरा करने के लिए किया जाता है। जिन पुरुषों में समय के पहले टेस्टोस्टरॉन हारमोंस का श्रावण कम हो जाता है, जिसकी कमी से उम्र में विभिन्न प्रकार के सेक्स समस्याएं उत्पन्न हो जाती हैं उनको दैनिक रूप से semenoll  का प्रयोग करना चाहिए।  semenoll एक ऐसी दवा है जोकि पुरुषों में सीमेंस की मात्रा को बढ़ाने और उनके अंदर प्रजनन क्षमता को और मजबूत करने के लिए बनाई गई है इस दवा को एलोपैथिक में बीज गाढ़ा करने की अंग्रेजी दवा के रूप सबसे प्रथम स्थान दिया जाता है।

यह पुरुषों में शीघ्र स्खलन की समस्या और उनके स्टैमिना को बढ़ाती है जिससे उनके अंदर तक लोगों की भी मात्रा बढ़ती है, यह शरीर में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन की मात्रा को बढ़ा देता है टेस्टोस्टेरोन को हमेशा से पुरुष सेक्स हार्मोन के रूप में माना जाता है। ये दवा मैका रूट एक्सट्रैक्ट, जिंक, एन-ऐसेटाइल, एल-सिसटिन, कद्दू के बीज़ का अर्क, मुईरा पुआमा के मिश्रण से बनी है। 

Semenoll 

Semenoll टेबलेट के फायदे

  • Semenoll का प्रयोग  पुरुष सेक्स हारमोंस के श्रवण को संतुलित करने के लिए किया जाता है।
  • जिन पुरुषों में हार्मोन से से संबंधित सेक्स समस्याएं होती हैं उनको दैनिक  रूप से semenoll टेबलेट के सेवन की सलाह दी जाती है।
  • पुरुषों में प्रजनन क्षमता को बढ़ाने के लिए semenoll  टेबलेट का प्रयोग दैनिक रूप से करना चाहिए।
  • Semenoll  का प्रयोग वीर्य में शुक्राणु संख्या बढ़ाने के लिए किया जाता है।
  • पुरुषों में होने वाली शीघ्रपतन तथा शीघ्र स्खलन की समस्या को दूर करने के लिए semenoll  का प्रयोग किया जाता है।
  • Semenoll  का प्रयोग पुरुष तथा महिलाओं में कामेच्छा शक्ति को बढ़ाने के लिए किया जाता है।

Performer 8

Performer 8 टेबलेट का प्रयोग पुरुषों के टेस्टिस में शुक्राणुओं की संख्या सामान्य बनाए रखने के लिए प्रयोग किया जाता है। पुरुषों में होने वाले हार्मोन टेस्टोस्टेरोन के संतुलन के लिए किया जाता है जिन पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन संतुलित नहीं होता है, उनको दैनिक रूप से Performer 8  का टेबलेट का प्रयोग करना चाहिए जिससे पुरुषों की प्रजनन क्षमता सामान्य बनी रहती है, तथा होने वाली सभी सेक्स समस्याएं समाप्त हो जाती हैं।

जिन पुरुषों में शीघ्रपतन तथा शीघ्र स्खलन की समस्या होती है तथा उनका सेक्स करने के समय सेक्स में मन नहीं लगता है  ऐसे पुरुषों को दैनिक रूप से Performer 8  सेवन करने की सलाह दी जाती है। जिसके द्वारा टेस्टोस्टेरोन हार्मोन का स्राव बढ़ जाता है और सेक्स से संबंधित सभी क्रियाएं सुचारू रूप से चलने लगती हैं।

Performer 8

Performer 8 के फायदे
  • Performer 8 का प्रयोग टेस्टोस्टेरोन के संतुलन के लिए किया जाता है।
  • पुरुषों में प्रजनन क्षमता को बढ़ाने के लिए दैनिक रूप से Performer 8  टेबलेट का प्रयोग करना चाहिए।
  • जिन पुरुषों में शीघ्रपतन या शीघ्र स्खलन की समस्या होती है उनको दैनिक रूप से Performer 8  का प्रयोग करना चाहिए।
  • वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने के लिए Performer 8  का प्रयोग किया जाता है। 
  • पुरुषों में सेक्स परफॉर्मेंस को बनाए रखने के लिए Performer 8 का प्रयोग किया जाता है।
  • नींद की कमी को पूरा करने के लिए Performer 8  का प्रयोग किया जाता है।
  • मानसिक तनाव को दूर करने के लिए भी Performer 8  का प्रयोग किया जाता है।

Semenax

Semenax का प्रयोग  पुरुषों में शुक्राणु के निर्माण के लिए किया जाता है जिन पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन का स्राव कम हो जाता है जिसके कारण शुक्राणु बनना बंद हो जाते हैं। शुक्राणु बनना बंद होने के कारण पुरुषों में वीर्य पतला हो जाता है के कारण शीघ्रपतन तथा शीघ्र स्खलन की समस्या होने लगती है।

शीघ्रपतन तथा शीघ्र स्खलन की समस्या के साथ-साथ प्रजनन क्षमता कम हो जाती है टेस्टोस्टेरोन हार्मोन के स्राव को बढ़ाने के लिए Semenax टेबलेट का प्रयोग किया जाता है, जो पुरुषों में विभिन्न प्रकार की समस्याओं को भी ठीक करती है शुक्राणुओं की कमी तथा टेस्टोस्टेरोन हार्मोन से कम श्रावण को दूर करने के लिए दैनिक रूप से Semenax टेबलेट का प्रयोग करना चाहिए।

Semenax

Semenax प्रयोग करने के फायदे
  • Semenax का प्रयोग पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन किस श्रावण को पढ़ाने के लिए किया जाता है। 
  • पुरुषों में स्पर्म काउंट बढ़ाने के लिए Semenax का प्रयोग किया जाता है।
  • जिन पुरुषों में वीर के पतलेपन के समस्या होती है उनको दैनिक रूप से Semenax टेबलेट का प्रयोग करना चाहिए। 
  • शीघ्रपतन तथा शीघ्र स्खलन की समस्या को दूर करने के लिए Semenax  का प्रयोग करना चाहिए।
  • सेक्स पावर बढ़ाने के लिए Semenax  का प्रयोग करना चाहिए।
  • पुरुषों की प्रजनन क्षमता को ठीक करने के लिए Semenax के प्रयोग की डॉक्टर सलाह देते हैं।

टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा

आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों का प्रयोग करके प्राचीन समय से ही विभिन्न प्रकार के रोगों का इलाज किया जा रहा है। प्रकृति में पाए जाने वाले प्राकृतिक तत्वों का प्रयोग आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों के लिए किया जाता है। जिनमें विभिन्न प्रकार के औषधीय गुण पाए जाते हैं औषधीय गुण होने के कारण इनका प्रयोग विभिन्न प्रकार के रोगों के उपचार किया जाता है पुरुषों में होने वाले टेस्टोस्टेरोन हार्मोन की कमी को पूरा करने के लिए विभिन्न प्रकार के आयुर्वेदिक तत्वों का प्रयोग करके टेस्टोस्टेरोन हार्मोन के स्राव को बढ़ाया जा सकता है। यह आयुर्वेदिक तत्व निम्नलिखित हैं 

  • हरी पत्तेदार सब्जियां
  • प्याज
  • शहद
  • अनार
  • अदरक

हरी पत्तेदार सब्जियां

प्याज

हरी पत्तेदार सब्जियों के दैनिक प्रयोग से शरीर में होने वाली शारीरिक कमजोरी को दूर किया जा  सकता है। जिन पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन का स्राव  बंद हो जाता है उनके लिए हरी सब्जियां बहुत ही उपयोगी होती हैं क्योंकि हरी सब्जियों में विभिन्न प्रकार के विटामिंस मिनरल्स तथा धातुएं पाई जाती हैं जो टेस्टोस्टेरोन हार्मोन के श्राव में सहायक होती हैं। जिन व्यक्तियों में सेक्स समस्याएं व टेस्टोस्टेरोन हार्मोन का स्राव बंद हो जाता है उनको दैनिक रूप से हरी सब्जियों का प्रयोग करना चाहिए जिससे उनके अंदर हुई शारीरिक कमजोरी दूर हो सके और टेस्टोस्टेरोन हार्मोन का श्रावण सामान्य रूप से हो सके।

प्याज

प्याज

प्याज शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने का काम करती है। इसमें फॉस्फोरस, मैग्नीशियम, पोटेशियम और विटमिन-सी जैसे कई गुण पाए जाते हैं, जो शरीर को निरोग बनाने के साथ-साथ इम्यूनिटी बढ़ाने में भी मदद करते हैं।इन सभी पदार्थों की पूर्ति के कारण शरीर में टेस्टोस्टेरोन का श्रावण सामान्य रूप से होता रहता है जिन व्यक्तियों में टेस्टोस्टेरोन का श्रम सामान्य रूप से नहीं होता है तथा उनको विभिन्न प्रकार की सेक्स समस्याओं का सामना करना पड़ता है और उनकी प्रजनन क्षमता कमजोर होने के कारण वह  किसी बच्चे के जन्म के लिए उपयुक्त शुक्राणु नहीं दे पाते हैं। इन सब चीजों से बचने के लिए दैनिक रूप से प्याज का सेवन करना चाहिए प्याज हमें कैंसर से बचाव  करता है प्याज में एंटी-कैंसर गुण भी पाए जाते हैं।

शहद

शहद

शहद का सेवन शारीरिक इम्यूनिटी को बढ़ाने के लिए किया जाता है शहर में विभिन्न प्रकार के एंटी ऑक्सीडेंट तथा एंटीबायोटिक गुण पाए जाते हैं शहद का सेवन आपकी सेहत के लिए कई तरीके से फायदेमंद हो सकता है। शहद में भरपूर मात्रा में विटामिन सी, विटामिन बी6, कार्बोहाइड्रेट, अमीनो एसिड आदि पोषण तत्व पाए जाते हैं।

उपर्युक्त सभी गुड होने के कारण शहद का प्रयोग टेस्टोस्टेरोन हार्मोन के सावन को बढ़ाने के लिए किया जाता है जो पुरुषों में शुक्राणुओं के निर्माण में सहायक होता है टेस्टोस्टेरोन हार्मोन के श्रावन से सेक्स क्रियाएं सामान्य रूप से होती रहती है सभी प्रकार की सेक्स क्रियाओं तथा टेस्टोस्टेरोन हार्मोन किस रावण को बढ़ाने के लिए दैनिक रूप से शहद का प्रयोग करना आवश्यक होता है यह हमारी सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद है।

अनार

अनार

अनार हमारे शरीर में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन के स्राव को बढ़ाता है अनार में फाइबर, विटामिन के,सी, और बी, आयरन, पोटेशियम, जिंक और ओमेगा-6 फैटी एसिड और भी कई सारे तत्व पाये जाते हैं। जब भी कोई व्यक्ति बीमार होता है तो सबसे पहले उसको अनार का सेवन करने की सलाह दी जाती है।

अनार खाना हमारी बीमारियों को ही दूर नहीं करता है बल्कि यह सेहत के लिए रामबाण होता है। एक प्रकार से देखा जाए तो अनार में उपस्थित सभी तत्व शारीरिक शक्ति को बढ़ाते हैं शारीरिक शक्ति अच्छी होने के कारण टेस्टोस्टेरोन हार्मोन का स्राव सामान्य रूप से बना रहता है जिन व्यक्तियों में शारीरिक कमजोरी होने के कारण टेस्टोस्टेरोन हार्मोन का स्राव समय से पहले बंद हो जाता है उनको दैनिक रूप से अनार का सेवन करना चाहिए।

अदरक

अदरक

जिन व्यक्तियों में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन का स्राव समय से पहले बंद हो जाता है उनके टेस्टिस में शुक्राणुओं की संख्या कम हो जाती है या शुक्राणु बनना बंद हो जाते हैं उनको दैनिक रूप से अदरक का प्रयोग करना चाहिए अदरक के प्रयोग करने से टेस्टोस्टेरोन हार्मोन का श्रावण पुनः शुरू हो जाता है कच्ची अदरक में अच्छी खासी मात्रा में विटामिन A, विटामिन D, आयरन, जिंक और कैल्शियम जैसे न्यूट्रिएंट्स पाए जाते हैं, जिन्हें खाने से कई बीमारियां दूर होती हैं. वहीं कच्चे अदरक का सेवन करने से सर्दी-खांसी जैसे वायरल इंफेक्शन से काफी हद तक बचा जा सकता है टेस्टोस्टेरोन हार्मोन के श्रावण को  बढ़ाने के लिए दैनिक रूप से अदरक का प्रयोग करना चाहिए।

निष्कर्ष

आज के लेख में हमने हमने आपको टेस्टोस्टेरोन हार्मोन के स्राव को पढ़ाने के लिए जानकारी दी है टेस्टोरोन हार्मोन हमारे शरीर में पिट्यूटरी ग्लैंड में स्रावित होता है, जो पुरुषों के सेक्स संबंधित क्रियाओं के लिए जिम्मेदार होता है, तथा टेस्टोस्टेरोन हार्मोन के स्राव की सहायता के पुरुषों में टेस्टिस मैं शुक्राणुओं का निर्माण होता है जो प्रजनन क्षमता के लिए आवश्यक करते हैं। जिन पुरुषों में शीघ्रपतन की समस्या होती है उनमें टेस्टोस्टेरोन के हारमोंस का श्रावण कम हो जाता है इन सभी समस्याओं से निपटने के लिए उपरोक्त लेख में हार्मोन बढ़ाने की दवा की जानकारी दी गई है।

लोगों द्वारा पूछे गए प्रश्न

हार्मोन की कमी से कौन सा रोग होता है? 

हारमोंस की कमी से विभिन्न प्रकार की शारीरिक कमियां हो जाती हैं जिन व्यक्तियों में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन का श्रावण समय के पहले बंद हो जाता है उनमें प्रजनन क्षमता समाप्त हो जाती है हारमोंस श्रावण बंद होने के कारण वीर्य पतला हो जाता है और शुक्राणु की कमी हो जाती है जिसके कारण विभिन्न प्रकार की सेक्स समस्याएं होने लगती हैं आज की कमी के कारण पुरुषों की प्रजनन क्षमता कमजोर हो जाती है जिसके कारण शीघ्रपतन तथा शीघ्र स्खलन की समस्या हो जाती है सभी समस्याओं से बचने के लिए उपरोक्त लेख में विभिन्न प्रकार की दवाओं का वर्णन किया गया है इनके प्रयोग से हारमोंस के श्रावण को बढ़ाया जा सकता है।

हार्मोन की कमी में क्या खाना चाहिए Male?

हारमोंस की कमी को पूरा करने के लिए उपरोक्त लेख में विभिन्न प्रकार की दवाओं तथा खाद्य पदार्थों का वर्णन किया गया है जिनके प्रयोग से हारमोंस की कमी को पूरा किया जा सकता है हारमोंस की कमी को पूरा करने के लिए दैनिक रूप से हरी सब्जियां शहद अदरक आदि का प्रयोग किया जा सकता है इसके साथ-साथ कुछ उपरोक्त लेख में वर्णित दवाओं का भी प्रयोग किया जा सकता है। 

शरीर में हार्मोन बढ़ाने के लिए क्या करना चाहिए?

हमारे शरीर में हारमोंस की कमी के कारण विभिन्न प्रकार के रोग हो जाते हैं यह शरीर में पुरुष हार्मोन टेस्टोस्टेरोन की कमी हो जाती है तो शरीर में शुक्राणुओं की संख्या कम हो जाती है जिसके कारण हमारे वीर में पतलापन हो जाता और शीघ्र स्खलन तथा शीघ्रपतन की बीमारी होने लगती हैं इन सभी कमी को पूरा करने के लिए उपरोक्त लेख में विभिन्न प्रकार के आयुर्वेदिक एलोपैथिक दवाओं का वर्णन किया गया है जिनके प्रयोग के साथ साथ कुछ खाद्य पदार्थ बताए गए हैं जिनका प्रयोग करने से शरीर में हार्मोन के स्राव को बढ़ाया जा सकता है दैनिक रूप से एक्सरसाइज तथा पर्याप्त नींद लेना बहुत आवश्यक है। 

Leave a Comment