1 दिन में कितनी बार करना चाहिए – एक हफ्ते में कितनी बार संबंध बनाना चाहिए

संभोग प्रत्येक स्त्री एवं पुरुष को एक अलग आनन्द की अनुभूति कराता है। नया दाम्पत्य जीवन शुरू करने वाला जोड़े में लड़का तथा लड़की दोनों ही चाहते हैं कि वह अधिक से अधिक शारीरिक सम्बन्ध बनायें और अपनी कामेच्छा को संतुष्ट करें परन्तु समय के साथ सेक्स करना कम होता जाता है। यह एक साधारण बात है यह सभी के साथ होता है। अक्सर आप लोगों के मन में प्रश्न आते हैं जैसेः-

  • 1 दिन में कितनी बार शीरीरिक संबंध बनाने चाहिए?
  • एक हफ्ते में कितनी बार संबंध बनाना चाहिए?
  • मास्टरबेशन कितने दिन में करना चाहिए?
  • महीने में कितनी बार शारीरिक संबंध बनाना चाहिए?
  • एक रात में कितनी बार संबंध बनाना चाहिए?
  • बच्चा पैदा करने के लिए कितनी बार करना चाहिए?
  • प्रेग्नेंट होने के लिए कब सम्बन्ध बनाना चाहिए?
  • महिला की कितनी उम्र तक संबंध बनाने की इच्छा होती है?
  • पहला राउंड कितने समय तक चलना चाहिए?
  • आदमी का पानी कितनी देर में निकलता है?
  • क्या हर दिन सेक्स करना चाहिए?

ऊपर दिये गये प्रश्न व यौन क्रिया स्थापित करने सम्बन्धी अन्य प्रश्न के विषय में लोगों के भिन्न भिन्न राय हैं। एक दिन या रात में कितनी बार सेक्स करना चाहिए यह आपके और आपके पार्टनर के बल एवं स्टेमिना पर निर्भर करता है। जब तक आप युगल की कामेच्छा शांत नहीं होती है औप यौन संबंध बना सकते हैं। सेक्स करने से भी शरीर की कैलोरीज घटती हैं, संभोग भी एक तरह का व्यायाम है। संभोग करने से आपकी शारीरिक एवं मानसिक स्वास्थ्य में वृद्धि होती है। सेक्स भी एक आम प्रक्रिया है जैसे खाना खाना, नहाना, पानी पीना, सोना। प्रत्येक स्त्री पुरुष का क्लाइमेक्स टाइम अलग अलग होता है। कोई स्त्री एक बार शारीरिक संबंध बना के ही संतुष्ट हो जाती है तो किसी को दो तीन बार सेक्स करने के उपरांत ही संतुष्टि प्राप्त होती है। अतः यौन इच्छा की संतुष्टि आप के और आपके सेक्स पार्टनर के स्टेमिना पर निर्भर करता है कि आपको कितनी बार करना होगा जिससे कि आपका साथी संतुष्ट हो जाये और जिंदगी के इन खास पलों को महसूस कर पाये। सामान्यतः महिलांए 25 से 30 मिनट की टाइमिंग वाले सेक्स सेक्शन में आनन्द की चरम सीमा को प्राप्त कर लेती हैं। यदि आपका सेक्स पार्टनर उपलब्ध नहीं है और आप को कामोत्तेजना हो रही है तो मास्टरबेशन कितने दिन में करना चाहिए। सही शब्दों में कहें तो संभोग का सही समय एवं काउंट शरीर, मूड एवं वातावरण पर निर्भर करता है। यह भी है कि सेक्स डिजायर उम्र, समय और स्वास्थ्य पर निर्भर करती है। इसके लिए अभी तक न कोई मानक व संख्या तय है ना ही की जा सकती है। जैसा कि हम बचपन से सुनते आ रहे हैं कि हर जीच की अति कोई न कोई नुकसान अवश्य देती है। अतः जरूरत और सीमा से ज्यादा सेक्स करना भी आपके शरीर के लिए हानिकारक हो सकता है। आज हम आपको इस लेख के द्वारा सेक्स सम्बन्धी प्रश्नों का उत्तर उपलब्ध कराने की कोशिश कर रहे हैं तो इस लेख को अंत तक अवश्य पढे़।

क्या प्रत्येक दिन सेक्स करना सामान्य है?

एक दिन में कितनी बार संबंध बनाना चाहिए- आज के युवा वर्ग एवं वैज्ञानिकों की राय में सेक्स को Stress Buster (चिंता निवारक) माना जाता है, सेक्स या हस्तमैथुन करने से आपको तुरंत तनाव से मुक्ति मिलती है और अच्छी नींद आती है। सेक्स आपके मूड को तुरंत बना देता है। मानव जीवन के कुछ पल जैसे डेटिंग, शादी के बाद हनीमून टाइम कुछ ऐसे पल होते हैं जिसमें कपल्स रोजाना शारीरिक संबंध स्थापित अवश्य करते हैं। जो कि सामान्य है इसमें कुछ भी गलत नहीं है। यदि पुरुष या स्त्री अविवाहित है और उसके पास कोई सेक्स पार्टनर नहीं है तो वह मुठ मारकर अपनी यौन इच्छा की पूर्ति कर सकता है जो कि प्राकृतिक है। डॉक्टर्स के अनुसार आप सप्ताह में दो से तीन बार सेक्स करते हैं तो इससे आपके शरीर पर कोई दुष्प्रभाव नहीं पड़ेगा।

सेक्स करने के फायदे

सेक्स का मुख्य उद्देश्य अपना वंश बढ़ाना ही नहीं होता है। संभोग आपको शारीरिक एवं मानसिक संतुष्टि प्रदान करता है। यह दम्पत्ति के मध्य प्यार एवं भरोसे को बढ़ाता है। शारीरिक संबंध बनाने से स्त्री एवं पुरूष का तनाव भी कम होता है। सप्ताह में कम से कम एक बार संभोग करना आपको निम्नलिखित फायदे प्रदान कर सकात है।

  • कामेच्छा में वृद्धि।
  • स्त्रियों में मूत्राशय नियंत्रण बढ़ता है।
  • यौनि कोमल होती है।
  • वजन कम करने का बेहतर विकल्प।
  • रक्तचाप को निम्न करता है।
  • हृदय रोग होने का खतरा कम होता है।
  • पुरुषों में प्रोस्टेट संबंधी विकार में कमी आती है।
  • अच्छी नींद।
  • याददाश्त तेज होती है।
  • तनाव से मुक्ति।
  • इम्यूनिटी बढ़ाता है।
  • मूड अच्छा बनता है।

महीने में कितनी बार शारीरिक संबंध बनाना चाहिए?

सेक्स आपकी शारीरिक जरूरतों को पूरी करते हुए स्त्री एवं पुरुष के मध्य भावनात्मक संबंध भी स्थापित करता है। यदि तुलना की जाये तो सेक्स करने के उपरान्त महिलांए अधिक भावनात्मक हो जाती हैं। सेक्स करने अपने फायदे हैं तो साथ में नुकसान को भी नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। सेक्स को कदापि अपने जीवन का अनिवार्य और दैनिक कार्य न बनाये। किसी किसी स्त्री पुरुष में सेक्स करने की भी लत लग जाती है जो कि बिल्कुल गलत है। शारीरिक संबंध बनाते समय लडका तथा लड़के मध्य आपसी सहमति होना भी अति आवश्यक है। स्त्री एवं पुरुष के मध्य आपस में अंतरंग होने की इच्छा इन पलों को संतुष्टिदायक एवं आनन्ददायक बनाता है। अपने पार्टनर को जबरदस्ती यौन संबंध बनाने को मजबूर करना कानूनन अपराध है। सेक्स का मतलब यह नहीं है कि आप अपने लिंग को महिला की यौनि में प्रवेश ही करायें और पानी छोडें। कभी कभी शारीरिक अंतरंगता का अनुभव चंबन एवं आलिंगन में प्राप्त किया जा सकता है। यदि आप पति पत्नि के मध्य यौन समस्यांए रिश्ते में बांधा डाल रही हैं तो आप किसी सैक्स रोग विशेषज्ञ से काउंसलिंग प्राप्त कर सकते हैं। जानकारों का मानना है कि एक कपल को वीकली मिनिमम 3 से 4 बार तथा मंथली मिनिमम 10 से 12 बार संबंध स्थापित करने चाहिए। यह आपके मानसिक, शारीरिक एवं दाम्पत्य जीवन के लिए लाभदायक है।

एक हफ्ते में कितनी बार संबंध बनाना चाहिए1

यह भी जाने : सैक्स पॉवर कैप्सूल पतंजलि- टाइम बढ़ाने की मेडिसिन पतंजलि

सैक्स करने से वजन कम होता है

विज्ञान के अनुसार एक बार सेक्स करने से उतनी ही कैलोरी बर्न होती है जितना जांगिग करने से। हाल ही में हुये अध्ययने से ज्ञात हुआ है कि 30 मिनट के सेक्स टाइमिंग में पुरुष 130 कैलोरी तक बर्न कर सकते हैं वहीं महिलांए 90 कैलोरी तक आसानी से बर्न कर सकती हैं। सेक्स व्यायाम का एक अच्छा विकल्प है जिसमें आप अपनी कैलोरी को बर्न करने के साथ साथ आनंद भी प्राप्त कर सकते हैं।

सेक्स करने के नुकसान

यदि आप पोर्नस्टार्स को देखकर, सेक्स वर्धक दवाओं का प्रयोग कर अपने पार्टनर के साथ सेक्स संबंध बना रहे हैं तो भविष्य में आप विभिन्न प्रकार की समस्याओं का सामना कर सकते हैं।

सेक्स करने के नुकसान

  • शारीरिक थकान
  • मानसिक थकान
  • गुप्तांग में दर्द या जलन

सेक्स करने का सही समय क्या है और सेक्स कितनी बार करना चाहिए?

कई स्त्री पुरुष के मन में चलता रहता है कि सेक्स करने का सही समय क्या है दिन या रात। यदि हम आध्यात्म के हिसाब से देंखे तो शास्त्रों में संभोग करने का उत्तम समय रात्रि को ही बताया गया है। मेडीकल साइंस के हिसाब से कामेच्छा उत्पन्न होने पर कभी भी सेक्स किया जा सकता है। यदि आप गर्भधारण करने की इच्छा के साथ शारीरिक संबंध बना रही हैं तो सुबह का समय आपके लिए बेस्ट है क्योंकि इस समय पुरुष के शरीर में टेस्टोस्टेरान एवं एनर्जी लेवल पीक पर होता है। साथ ही सेक्स करने के उपरांत आप दोनो में आक्सीटोसिन का लेवल बढेगा और आप दोनों को एक अलग अनुभूति की प्राप्ति होती है। साथ ही सहवास के कारण उत्पन्न हुए एड्रोर्फिन हार्मोन के कारण आपका मूड पूरे दिन ठीक रहता है। साथ ही यह भी ध्यान रखें कि प्रेंग्नेंसी के लिए आप पीरिएड से 10 वे दिन से 17 वे दिन तक शारीरिक संबंध अवश्य बनायें। गर्भधारण के लिए हफ्ते में 3 से 4 बार एक दिन छोडकर शारीरिक संबंध बनाने के गर्भधारण के अवसर बढ जाते हैं। इन दिनों में स्त्रियों में ओवूलेशन पीरिएड होता है और महिला की सेक्स करने की इच्छा अधिक होती है और महिला की योनी का ऊपरी भाग करीब बीस प्रतिशत बढ जाता है। वर्कआउट / एक्सरसाइज करने के उपरांत आप दम्पत्ति में रक्त संचार बढ जाता है साथ ही अन्य सेक्स सम्बंधी हार्मोन्स में वृद्धि होती है। यदि आप व्यायाम करने के उपरांत संभोग करते हैं तो आपको एक अलग अनुभव की प्राप्ति होगी।

कभी भी अपनी तुलना अन्य दम्पत्ति से करते हुए यौन संबंध स्थापित न करें। कई बार लोग अपने मन में भ्रांति पैदा कर लेते हैं कि कम सेक्स करने से उनका वैवाहिक रिश्ता अन्य लोगों की तुलना में कमजोर है। इस प्रश्न पर हुई रिसर्च में रिसर्चर द्वारा बताया गया है कि अधिकतर दंपत्ति हफ्ते में 2 से 3 बार शारीरिक संबंध स्थापित करते हैं, बल्कि सेक्स एक्पर्ट का मानना है कि सप्ताह में एक से दो बार सेक्स करना आपके लिए बेहतर है। स्त्री एवं पुरुष का यह सोचना कि रिश्ते की मजबूती के लिए अपने पति या पत्नी के साथ सेक्स करना रोजाना आवश्यक है यह बिल्कुल गलत सोच है। यौन क्रियाओं की अधिकता भी आप पति पत्नी के मध्य दरार ला सकती है। बढती उम्र के साथ भी सेक्स करने की आदत में बदलाव आता है। सेक्स करना आपके पूर्ण रूप से आपके साथी की इच्छा, वातावरण व अन्य कारणों पर निर्भर करता है। दिन, सप्ताह, महीने, वर्ष में आप पति पत्नि को कितनी बार संभोग करना है यह आप दोनों के ऊपर निर्भर करता है, इस संबंध में आप दोनो को एक दूसरे की खुशी ध्यान रखना अहम है।

शादी के बाद अपने पति / पत्नि को जानना, भावनात्मक रूप से जुडना, प्यार एवं लगाव महसूस कराना आवश्यक है। धीरे धीरे लगाव और नजदीकियों के आने के उपरान्त सेक्स करने पर आप दोनो पति पत्नि को एक अलग आनंद प्राप्त होगा। अतः अपने नवजीवन की शुरूआत में इस नये रिश्ते को भरपुर समय अवश्य दें। यदि आप जबरदस्ती रोजाना अपने पार्टनर के साथ सेक्स करेंगे तो आपके पार्टनर को चिडचडेपन की समस्या उत्पन्न हो सकती है। महिलाओं में कितनी उम्र तक संबंध बनाने की इच्छा होती है इसका जबाव देना नामुमकिन है। यह आपके रहन सहन खान पान एवं आनुवांशिकी एवं शारीरिक एवं मानसिक दशाओं पर निर्भर करती है। सामान्यतः स्त्रियों में 50 वर्ष और उससे ऊपर जाने पर सेक्स डिजायर में कमी देखी गयी है।

यह भी जानें : पेनिस साइज बढ़ाने की दवा oil | इन तेलों से करें अपने लिंग की मसाज, होंगे अनेकों फायदे

अकसर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ’s)

प्रश्नः- पहला राउण्ड कितनी देर तक चलना चाहिए?

उत्तरः- पहला राउंड कितनी देर तक चलना चाहिए इसका जवाब दे पाना सम्भव नहीं है। यह भौतिक, शारीरिक एवं मानसिक परिस्थितियों पर निर्भर करता है। साथ ही यह आप और आपके सेक्स पार्टनर पर भी डिपेंड करता है। यह आप दोनों स्त्री पुरुष के स्टेमिना का खेल है। हालांकि माना जाता है कि एक कपल के मध्य सेक्स सेशन कम से कम 3 से 4 मिनट का अवश्य होना चाहिए। यदि आप 3 मिनट से कम समय में वीर्य स्खलित कर दे रहे हैं तो आपका फीमेल पार्टनर संतुष्ट नहीं होगा। दाम्पत्य जीवन की शुरुआत में तनाव एवं परफोर्मेन्स दबाव के कारण ऐसा होना कोमन है। यदि आपकी शादी हुये काफी समय व्यतीत हो गया फिर भी आपकी परफार्मेंस बेहतर नहीं हुयी है तो आपको डाक्टर के परामर्श की आवश्यकता है।

Read Also : महिलाओं की योनि के प्रकार Different types of Vagina | लीजिए सम्पूर्ण जानकारी

प्रश्नः- आदमी का पानी कितनी देर में निकलता है?

उत्तरः- आदमी का वीर्य कितनी देर में निकलता है इसका भी कोई आंसर करना मुमकिन है। यह पुरुष के मानसिक, शारीरिक, मूड एवं भौतिक परिस्थितियों पर निर्भर करता है। सेक्स रोग विशेषज्ञ के अनुसार पुरुष का पानी कम से कम 3 मिनट के सेक्स सेशन के बाद ही स्खलित होना चाहिए और ज्यादा से ज्यादा जितना हो वह बेहतर है परन्तु ज्यादा देर में झड़ना आपकी फीमेल पार्टनर की योनि में जलन एवं सूजन जैसी समस्या उत्पन्न कर सकता है।

प्रश्नः- क्या एक बार करने से प्रेग्नेंट होते हैं?

उत्तरः- इस प्रश्न का जबाव यही है कि यदि आपके वीर्य एवं आपकी सेक्स पार्टनर का शारीरिक स्वास्थय उत्तम है तो आप एक बार सेक्स करने के उपरान्त भी गर्भधारण जैसी खुशी जल्द पा सकते हैं।

Leave a Comment