गलती से हो गई हैं गर्भवती तो लीजिये | 1 month pregnancy rokne ki tablet

कुछ महिलाएं कभी-कभी ना चाहते हुए भी विषम परिस्थितियों के कारण गर्भवती हो जाती हैं। किंतु समय उनको किसी बच्चे की आवश्यकता नहीं होती है। ऐसे गर्भ को अनचाहा गर्भ कहते हैं। जो असुरक्षित यौन संबंध स्थापित करने के पश्चात होता है। यदि महिलाएं पीरियड्स के दौरान असुरक्षित यौन संबंध स्थापित करती हैं, तो वह गर्भवती हो सकती हैं जब वह ऐसी परिस्थिति में गर्भवती हो जाती हैं और उनको उस समय किसी बच्चे की आवश्यकता नहीं होती है। ऐसी स्थिति में हुए गर्भपात कराने के बारे में सोचती हैं, किंतु संकोच बस वे किसी से कह नहीं पाती है। जिसके कारण बच्चा काफी दिनों तक गर्भ में पलता रहता है। अनचाहे गर्भ से बचने के लिए महिला डॉक्टर कुछ टैबलेट की जानकारी देती हैं, जिनके प्रयोग के पश्चात 12 से 15 सप्ताह की प्रेग्नेंसी को समाप्त किया जा सकता है। आज हम आपको ऐसे ही 1 month pregnancy rokne ki tablet की जानकारी देंगे जिनकी सहायता से आप अनचाहे प्रेगनेंसी को समाप्त कर सकती हैं।

1 month pregnancy rokne ki tablet

ऐसी महिलायें जो गर्भवती नहीं होना चाहती हैं या बच्चों के जन्म में अंतराल रखना चाहती हैं, उनके लिए गर्भनिरोधक दवाएं बहुत उपयोगी हैं। वास्तव में गर्भनिरोधक गोलियां अनचाहे गर्भ से बचने का सुरक्षित उपाय हैं। गर्भधारण रोकने के अलावा भी इन गर्भनिरोधक दवाओं के कई और फायदे हैं गर्भनिरोधक दवाओं में फीमेल हार्मोन (प्रोजेस्टिन एवं एस्ट्रोजन) होते हैं। ये हार्मोन शरीर के अंदर जाकर ओव्यूलेशन की प्राकृतिक प्रकिया में बाधा पहुंचाते हैं और अंडों को ओवरी से निकलने से रोकते हैं। इसके अलावा ये गर्भनिरोधक गोलियां सर्वाइकल म्यूकस के गाढ़ेपन को और बढ़ा देती हैं जिससे किसी शुक्राणु का गर्भाशय ग्रीवा में जाना और अंडे तक पहुंचना बहुत मुश्किल हो जाता है। इस तरह यह दवाइयां गर्भ ठहरने से रोकती हैं।

गर्भपात के कारण

गर्भपात के कारण

भारतीय संविधान के मेडिकल टर्मिनेशन ऑफ प्रेगनेंसी MTP के अनुसार किसी महिला का गर्भपात करवाने के कुछ नियम तथा कानून बताए गए हैं। प्रत्येक अस्पताल या प्रत्येक महिला या डॉक्टर द्वारा गर्भपात नहीं कराया जा सकता है। गर्भपात कराने के लिए भारत में एक कानून बनाया गया है, जिसे मेडिकल टर्मिनेशन ऑफ प्रेगनेंसी के नाम से जाना जाता है। इसके अनुसार यदि  किसी महिला का गर्भपात होता है, तो सबसे पहले महिला का गर्भपात कराने के लिए महिला की सहमति आवश्यक होती है। महिला के सहमत के अलावा कुछ अन्य महत्वपूर्ण कारण होने के साथ ही आप महिला का गर्भपात करा सकते हैं। यह कारण निम्नलिखित हैं

  • गर्भनिरोधक या गोलियों के उपयोग के बावजूद गर्भ ठहरने पर।
  • अगर सामाजिक कारण जैसे ज्यादती या अन्य कारण से। 
  • महिला गर्भ नहीं चाहती हो।
  • बच्चे के कारण मां को खतरा हो आदि।

उपरोक्त बताए गए गर्भपात के चारों कारण भारतीय संविधान मेडिकल टर्मिनेशन आफ प्रेगनेंसी एक्ट के तहत बताए गए हैं। इसके अलावा यदि किन्ही कारणों से गर्भपात कराया जाता है तो वह कानूनन अपराध होता है। गर्भपात कराने के लिए महिला का किसी दो महिला गायनेकोलॉजिस्ट से सलाह लेना आवश्यक होता है। इसके पश्चात विभिन्न विधियों द्वारा गर्भपात कराया जा सकता है। जोकि डॉक्टर के परामर्श तथा निगरानी में हो सकता है। गर्भपात कराने के कुछ और भी कारण हो सकते हैं। जो निम्नलिखित हैं 

  • अनचाहे प्रेगनेंसी को रोकने के लिए।
  • दो बच्चों में पर्याप्त अंतर रखने के लिए।
  • हो सकता है महिला अभी-अभी मां बनी हो।
  • अनुवांशिक विकृति के कारण।
  • जनसंख्या नियंत्रण की दृष्टि से।
  • परिवार नियोजन के तहत।
  • और अधिक बच्चों की आवश्यकता ना होने के कारण। 
  • महिला के साथ रेप जैसा दुराचार होने के कारण। 
  • गर्भधारण के दौरान गर्भ में बच्चे को कोई बीमारी होने के कारण।
  •  गर्भ में बच्चा अत्यधिक कमजोर होने के कारण।
  •  महिला का किसी विशेष रोग के ग्रसित होने के कारण।

Read Also : अनवांटेड 72 खाने के बाद कितने दिन बाद पीरियड आता है

गर्भपात कराने की विधियां

भारतीय गर्भपात एक्ट मेडिकल टर्मिनेशन आफ प्रेगनेंसी के तहत गर्भपात को निम्नलिखित तीन विधियों द्वारा किया जा सकता है। जब महिला को गर्भपात कराना होता है, तो उसे सबसे पहले डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए डॉक्टर महिला की शारीरिक संरचना के अनुसार उसे गर्भपात कराने की निम्नलिखित विधियों में से किसी एक का चयन करने को कहते हैं, जो उसके स्वास्थ्य के लिए सुरक्षित तथा कारगर हो सकती है। महिलाओं को अपने मन से किसी भी प्रकार की गर्भपात तरीके को नहीं अपनाना चाहिए, बिना किसी गायनेकोलॉजिस्ट की सलाह से गर्भपात नहीं अपनाना चाहिए। गर्भपात करने की विधियां निम्नलिखित हैं

  • सर्जिकल गर्भपात। 
  • सलाइन वॉटर विधि।
  • मेडिकल अबॉर्शन।

सर्जिकल गर्भपात

सर्जिकल गर्भपात

सर्जिकल गर्भपात, नेचुरल गर्भपात के समान नहीं होता है। नेचुरल गर्भपात तब होता है जब गर्भावस्था के 20 वें सप्ताह से पहले एक गर्भावस्था अपने आप समाप्त होती है।सर्जिकल गर्भपात में, गर्भाशय-ग्रीवा को पहले दवा से विस्तृत किया जाता है। गर्भाशय की निकासी, गर्भ को हटाने या खींचकर निकालने के लिए संकीर्ण सक्शन प्रवेशनी से किया जाता है। यह प्रक्रिया स्थानीय या सामान्य संज्ञाहरण के तहत की जा सकती है।सर्जिकल गर्भपात में गर्भाशय (गर्भाशय ग्रीवा) के मुह को फैलाना और गर्भाशय में एक छोटा सा चूषण ट्यूब लगाया जाता है। चूषण का उपयोग गर्भाशय से भ्रूण और गर्भावस्था संबंधित भागों को हटाने के लिए किया जाता है।

सलाइन वॉटर विधि

इस तरीके में डिहाइड्रेशन के लिए गर्भाशय में खारे पानी को इंजेक्ट किया जाता है। खारा पानी भ्रूण को समाप्त कर देता है। इस विधि में ड्रिप की मदद से लगभग 200 सीसी एमनियोटिक द्रव को निकला जाता है और एमनियोटिक बैग को डिस्टिल्ड पानी व नमक के सोल्यूशन से भरा जाता है। इससे गर्भ में ही भ्रूण की मृत्यु हो जाती है। इसके बाद लेबर की मदद से भ्रूण को निकाला जाता है।

See Also : लड़कियों को जोश बढ़ाने की दवा जो लड़की को तुरंत गरम कर देगी

मेडिकल अबॉर्शन

मेडिकल अबॉर्शन

सबसे सुरक्षित और प्रचलित गर्भपात है, जिसका प्रयोग महिलाएं डॉक्टर की सहायता से स्वयं भी कर सकती हैं। इस गर्भपात में कुछ विशेष प्रकार की दवाओं का प्रयोग किया जाता है। कई बार महिलाएं मां नहीं बनना चाहतीं और इसके लिए वह कई तरह के गर्भनिरोधक उपाय अपनाती हैं। लेकिन कभी-कभार ऐसा भी हो जाता है कि उन्हें गर्भ ठहर जाता है। ऐसे में वह महिला उस बच्चे को जन्म नहीं देना चाहती या देने की स्थिति में नहीं होती, तो उसके दिमाग में आता है अबॉर्शन का ख्याल। मेडिकल अबॉर्शन वह प्रक्रिया है, जिसके तहत दवाइयों द्वारा अबॉर्शन किया जाता है। जिसमें ये दवाइयां गर्भाशय की लाइनिंग को खत्म कर देती हैं, जिस कारण भ्रूण गर्भाशय से अलग होकर नष्ट हो जाता है। “7 हफ्ते तक के ही गर्भ का अबॉर्शन दवाइयों द्वारा संभव है। मेडिकल अबॉर्शन में प्रयुक्त होने वाली सॉल्ट निम्नलिखित प्रकार के होते हैं

  • मिफेप्रिस्टोन  
  • मिसोप्रोस्टोल
  • मिफेप्रिस्टोन + मिसोप्रोस्टोल

मिफेप्रिस्टोन

मिफेप्रिस्टोन सॉल्ट प्रोजेस्ट्रोन हारमोंस के श्रावण को  रोक देता है, जिसके कारण मासिक धर्म जैसी स्थिति उत्पन्न हो जाती है और गर्भाशय टूट जाता है जिसके फलस्वरूप गर्भपात हो जाता है।

मिसोप्रोस्टोल

मिसोप्रोस्टोल सॉल्ट द्वारा गर्भाशय को संकुचित किया जाता है, मिसोप्रोस्टोल  के प्रयोग से गर्भाशय संकुचित हो जाता है और गर्भपात हो जाता है।

मिफेप्रिस्टोन + मिसोप्रोस्टोल

मिफेप्रिस्टोन तथा मिसोप्रोस्टोल का प्रयोग डॉक्टर अधिक दिनों के गर्भ को गर्भपात करने के लिए करते हैं जिसमें मिफेप्रिस्टोन सॉल्ट गर्भ को तोड़ता है, तथा मिसोप्रोस्टोल सॉल्ट गर्भ को संकुचित करके गर्भपात कर देता है। आधुनिक समय में इस विधि का प्रयोग दवाइयों द्वारा गर्भपात कराने के लिए अधिक मात्रा में किया जाता है। यह सुविधा के लिए उपलब्ध गोलियों को कंबाइंड गर्भपात की टेबलेट के नाम से जाना जाता है। 

प्रेगनेंसी रोकने की दवा

जिन महिलाओं को अनचाहे गर्भ से बचने के लिए दवाइयों की आवश्यकता होती है तथा वह दवाइयों द्वारा गर्भपात करना चाहती हैं। उनके लिए मिफेप्रिस्टोन तथा मिसोप्रोस्टोल कंबाइंड दवाओं का प्रयोग डॉक्टर करने की सलाह देते हैं जो पूर्ण रूप से गर्भपात करने में समर्थ होती हैं। यह दवाइयां सुरक्षित गर्भपात करने के लिए बाजार से डॉक्टर के परामर्श के अनुसार ली जा सकती हैं, जिनका प्रयोग डॉक्टर की सलाह से सुरक्षित और आसान होता है। यह दवाइयां निम्नलिखित हैं

  • Cytolog Tablets
  • Fibroease 25 mg tablet
  • Unwanted Kit Tablets
  • Mifegest 200 MG Tablet
  • T Pill Kit Tablet
  • Insta kit
  • Mifty kit
  • Clean kit
  • Clear kit
  • Misoprostal

Cytolog Tablets

Cytolog Tablets का प्रयोग मेडिकल अबॉर्शन के लिए किया जाता है, जो महिलाएं अनचाहे गर्भ से बचना चाहती हैं। उनको 10 से 12 महीने की प्रेगनेंसी हो समाप्त करने के लिए Cytolog Tablets  का प्रयोग करने की सलाह महिला डॉक्टरों द्वारा दी जाती है। Cytolog Tablets का प्रयोग गर्भपात के अलावा पीरियड्स के दौरान या फिर डिलीवरी के पश्चात होने वाली अत्यधिक ब्लीडिंग को रोकने के लिए भी किया जाता है। जिन महिलाओं में डिलीवरी के पश्चात अत्यधिक ब्लीडिंग होने लगती हैं, तो इस ब्लीडिंग को रोकने के लिए महिला डॉक्टर द्वारा Cytolog Tablets का प्रयोग किया जाता है।

Cytolog Tablets

अत्यधिक सुरक्षित लाभ प्राप्त करने के लिए Cytolog Tablets का प्रयोग किसी अन्य टेबलेट के साथ किया जाता है, तथा इसका प्रयोग भोजन के साथ या भोजन के पश्चात कर सकते हैं। इसका प्रयोग करने के लिए पूरी टेबलेट को पानी के साथ निगल लिया जाता है, इसे चबाया या तोड़ा नहीं जाता है। टेबलेट खाने के पश्चात जी मिचलाता है तो डॉक्टर से संपर्क करें या फिर यदि टेबलेट के प्रयोग के 30 मिनट के अन्दर उल्टी हो जाती है तो डॉक्टर से सलाह लें या फिर दूसरी टैबलेट का प्रयोग करें। 

यह भी जाने : सफेद पानी की रामबाण दवा | पतंजलि की रामबाण सफ़ेद डिस्चार्ज की दवा

Fibroease 25 mg tablet

Fibroease 25 mg tablet का प्रयोग 10 से 12 सप्ताह की प्रेग्नेंसी को समाप्त करने के लिए किया जाता है। जो महिलाएं असुरक्षित यौन संबंध के कारण हुई प्रेगनेंसी को समाप्त करना चाहती हैं, कभी-कभी महिलाओं को बच्चे की आवश्यकता नहीं होती है, किंतु पीरियड्स के दौरान सेक्स करने से वह प्रेग्नेंट हो जाती हैं, जिसके कारण उनको बाद में प्रेगनेंसी समाप्त करने की दवा की आवश्यकता होती है, जिस के रूप में बहुत सारी महिलाएं डॉक्टर की सहायता से या सलाह से Fibroease 25 mg tablet का प्रयोग करती हैं। जिसके द्वारा वह अपनी प्रेगनेंसी को समाप्त कर लेती हैं।

Fibroease 25 mg tablet

Fibroease 25 mg tablet का प्रयोग अन्य चीजों के लिए या 10 सप्ताह से ज्यादा प्रेगनेंसी को समाप्त करने के लिए नहीं किया जा सकता है। इसके कुछ साइड इफेक्ट भी हैं जो  आपको आपके डॉक्टर द्वारा बता दिए जाएंगे। यदि आप इसका प्रयोग करती हैं तो यह पूर्ण रूप से सुरक्षित गर्भपात करने की दवा है। 

Unwanted Kit Tablets

Unwanted Kit Tablets का प्रयोग महिलाओं द्वारा 10 से 12 सप्ताह की प्रेगनेंसी को रोकने के लिए किया जाता है, जो महिलाएं अनचाहे गर्भ  से बचना चाहती हैं या पीरियड के दौरान होने वाले सेक्स से महिलाएं प्रेग्नेंट हो जाती हैं, किन्तु उनको उस समय बच्चे की आवस्यकता नहीं होती है, वे महिलाएं गर्भपात की टेबलेट्स का प्रयोग करती हैं। अनचाहे गर्भ से बचने के लिए Unwanted Kit Tablets का प्रयोग किया जा सकता है।

Unwanted Kit Tablets

Unwanted Kit Tablets में दो दवाएं मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रोस्टोल शामिल हैं जो गर्भावस्था को चिकित्सकीय रूप से समाप्त करने के लिए उपयोग की जाती हैं। किट में 5 गोलियां हैं। मिफेप्रिस्टोन की एक गोली और मिसोप्रोस्टोल की चार गोलियां। मिसोप्रोस्टोल एक सिंथेटिक प्रोस्टाग्लैंडीन है जो गर्भाशय ग्रीवा को नरम करने, गर्भाशय को अनुबंधित करने और गर्भाशय की सामग्री को खाली करने की अनुमति देता है। यह रोगी की स्थिति के आधार पर योनि या मौखिक रूप से प्रशासित किया जाता है।    

Mifegest 200 MG Tablet

Mifegest 200 MG Tablet का प्रयोग सुरक्षित गर्भपात के लिए किया जाता है, जो महिलाएं पीरियड्स के दौरान असुरक्षित संभोग करने से गर्भवती हो जाती हैं। उनके द्वारा बच्चे की आवश्यकता ना होने के कारण गर्भपात की आवश्यकता के लिए Mifegest 200 MG Tablet  का प्रयोग किया जाता है। Mifegest 200 MG Tablet एक एंटी-प्रोजेस्टेशनल स्टेरॉयड समूह की दवा है, जिसका इस्तेमाल गर्भावस्था के मेडिकल टर्मिनेशन के लिए किया जाता है। यह गर्भावस्था के विकास के लिए आवश्यक एक हार्मोन प्रोजेस्ट्रोन की क्रिया को ब्लॉक करके काम करता है प्रोजेस्ट्रोन के ब्लॉक हो जाने के कारण गर्भ नष्ट हो जाता है। तथा बाद में मिसोप्रोस्टोल के प्रयोग से गर्भपात करा दिया जाता है।

Mifegest 200 MG Tablet

इस दवा के सबसे आम साइड इफेक्ट में मिचली आना , उल्टी, गर्भाशय में क्रैम्प , डायरिया (दस्त), गर्भपात के बाद संक्रमण, और गर्भाशय से खून बहना शामिल हैं, अगर आप इनसे परेशान हैं या स्थिति गंभीर होती जा रही है, तो अपने डॉक्टर को बताएं सुरक्षित गर्भपात करने के लिए महिला डॉक्टर द्वारा Mifegest 200 MG Tablet का प्रयोग करने की सलाह दी जाती है जो महिलाओं के लिए गर्भपात के एक सुरक्षित दवा है।

T Pill Kit Tablet

T Pill Kit Tablet महिला गर्भपात की एक दवा है, जिसका प्रयोग महिलाओं द्वारा अनचाहे गर्भ को समाप्त करने के लिए प्रयोग की जाने वाली दवा है। इसका प्रयोग 7 से 10 सप्ताह की प्रेग्नेंसी को समाप्त करने के लिए किया जा सकता है। T Pill Kit Tablet किट दो दवाओं का मिश्रण है, जिसका इस्तेमाल चिकित्सीय गर्भपात (गर्भपात) के लिए किया जाता है। यह दवा आपकी गर्भावस्था को बनाए रखने के लिए आवश्यक प्रोजेस्टेरोन नामक महिला हार्मोन को प्रभावी रूप से ब्लॉक करती है, और गर्भाशय को सिकोड़ती है जिससे गर्भपात में आसानी होती है।

T Pill Kit Tablet

जो महिलाएं पीरियड के समय होने वाले सेक्स के दौरान गर्भवती हो जाती हैं तथा उस समय उनको किसी बच्चे की आवश्यकता नहीं होती है या विषम परिस्थितियों में कुछ महिलाएं और लड़कियां गर्भवती हो जाती हैं, तो उनको गर्भपात करने की आवश्यकता होती है उसके लिए वे T Pill Kit Tablet का प्रयोग करती हैं। जिनसे सुरक्षित गर्भपात हो जाता है अतः सुरक्षित गर्भपात करने के लिए महिलाओं द्वारा T Pill Kit Tablet का प्रयोग करने की सलाह दी जाती है जो कि पूर्ण रूप से सुरक्षित है।

यह भी जाने : महिलाओं में ब्रेस्ट ढीले व छोटे होने का कारण | छोटे दूध कैसे बड़े करें | ब्रेस्ट ग्रोथ टिप्स

Insta kit

Insta kit का प्रयोग महिलाओं द्वारा 10 सप्ताह के अंदर के प्रेगनेंसी को दूर करने के लिए यह समाप्त करने के लिए किया जाता है। जो महिलाएं पीरियड के दौरान होने वाले सेक्स से गर्भवती हो जाती है, किंतु उस समय उनको बच्चे की आवश्यकता नहीं होती है या फिर वह दो बच्चों की मौत अंतराल रखना चाहती हैं या विभिन्न कारणों से गर्भपात कराना चाहती वह महिलाएं Insta kit  टैबलेट का प्रयोग करते हैं जो गर्भपात के काम आती है।

Insta kit

Insta kit एक स्त्री रोग विशेषज्ञ की देखरेख में या स्वयं-प्रशासित किया जा सकता है, ताकि यदि आवश्यक हो, तो रोगी को अन्य स्वास्थ्य सुविधाओं उपलब्ध होनि चाहिए। यदि आप गर्भधारण के 63 दिनों के भीतर हैं तो Insta kit चिकित्सकीय रूप से निर्धारित समय और विधि द्वारा लेती है तो गर्भ पात किया जा सकता है। यदि आप 10 सप्ताह से अधिक गर्भवती हैं, तो डॉक्टर इस प्रक्रिया का विकल्प नहीं चुनते हैं। Insta kit एक सिंथेटिक स्टेरॉयड है जिसे पानी के साथ मौखिक रूप से लिया जाता है। यह प्रोजेस्टेरोन स्राव के साथ हस्तक्षेप करता है जो गर्भावस्था को समाप्त करता है। 

Mifty Kit

Mifty kit का प्रयोग महिलाओं की प्रेगनेंसी को समाप्त करने के लिए किया जाता है जो महिलाएं अनचाहे गर्भ को समाप्त करना चाहती हैं या फिर विभिन्न परिस्थितियों के कारण गर्भपात कराना चाहते हैं उनके लिए Mifty kit  टेबलेट बहुत ही सुरक्षित और आसान तरीका है किंतु इसका प्रयोग महिलाओं को डॉक्टर की सलाह पर करना चाहिए Mifty Kit में दो दवाइयां मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रोस्टोल शामिल होती हैं। यह गर्भावस्था को चिकित्सकीय रूप से समाप्त करने के लिए उपयोग किया जाता है। किट में 5 गोलियां हैं। मिफेप्रिस्टोन की एक गोली और मिसोप्रोस्टोल की चार गोलियां होती है। यदि आप गर्भधारण के 63 दिनों के भीतर हैं, तो Mifty Kit चिकित्सकीय रूप से निर्धारित है।

Mifty Kit

यदि आप 10 सप्ताह से अधिक गर्भवती हैं, तो डॉक्टर इस प्रक्रिया का विकल्प नहीं चुनते हैं। मिफेप्रिस्टोन एक सिंथेटिक स्टेरॉयड है जिसे पानी के साथ मौखिक रूप से लिया जाता है। यह प्रोजेस्टेरोन स्राव के साथ हस्तक्षेप करता है जो गर्भावस्था को समाप्त करता है। जिन महिलाओं को अनचाहे गर्भ से बचने की आवश्यकता होती है, और वह गर्भपात करना चाहती हैं तो उनको Mifty Kit की टेबलेट का प्रयोग करना चाहिए जो गर्भपात के लिए बहुत ही सुरक्षित है।

Clean kit

 Clean kit का प्रयोग महिलाओं में प्रेगनेंसी को समाप्त करने के लिए प्रयोग की जाने वाली टेबलेट है, जो महिलाओं को अनचाहे गर्भ से बचाती है जो महिलाएं अनचाहे गर्भ को समाप्त करना चाहती हैं, उनको दैनिक रूप से डॉक्टर की सलाह तथा परामर्श से Clean kit  टेबलेट की सलाह दी जाती है। जैसा कि हमने आपको बताया clean kit गर्भनिरोधक दवा है, जिसका प्रयोग गर्भपात के लिए किया जाता है। clean kit के इस्तेमाल से 63 दिन से कम की प्रेगनेंसी को खत्म करने के लिए किया जा सकता है। यह दवा दो दवाओं के संयोजन से बनी है जिसमें से एक दवा प्रोजेस्टेरोन के प्रभाव को खत्म करती है जोकि गर्भावस्था बनाये रखता है क्यों कि यह हार्मोन महिलाओं में गर्भावस्था के लिए आवश्यक होता है और दूसरी गर्भपात के लिए प्रेरक करती है।

Clean kit

इसप्रकार यह दवा प्रेगनेंसी को खत्म कर देती है। यह दवा 63 दिन से कम  दिन की प्रेगनेंसी को रोकने या खत्म करने के लिए उपयोग की जाती है।महिलाओं द्वारा महिला डॉक्टर की सलाह पर 10 सप्ताह की कम प्रेगनेंसी को दूर करने के लिए Clean kit का प्रयोग सुरक्षित है।

Clear kit

Clear Kit को Medley कंपनी बनाती है और इसका प्रयोग गर्भपात के लिए किया जाता है। यह दवा 63 दिन से कम, दिन की प्रेगनेंसी को खत्म करने के लिए उपयोग की जाती है। जो महिलाएं दैनिक रूप से अपने पुरुष एवं साथी के साथ सेक्स क्रिया करती हैं वह पीरियड्स के समय होने वाले सेक्स करते हुए गर्भवती हो जाती हैं किंतु उस समय वह गर्भधारण के लिए तैयार नहीं होती इसके विभिन्न कारण जैसे बच्चे की आवश्यकता ना होना या फिर शारीरिक रूप से तैयार ना के कारण वे  गर्भ को समाप्त करने के लिए  गर्भपात की दवा का प्रयोग करते हैं

Clear kit

जिसमें Clear Kit टैबलेट महत्वपूर्ण गर्भपात की दवा जिसका प्रयोग 10 सप्ताह से कम के प्रेगनेंसी को समाप्त करने के लिए किया जाता है Clear Kit दो दवाओं के संयोजन से बनी है जिसमें से एक दवा प्रोजेस्टेरोन के प्रभाव को खत्म करती है जोकि गर्भावस्था बनाये रखता है क्यों कि यह हार्मोन महिलाओं में गर्भावस्था के लिए आवश्यक होता है। और दूसरी गर्भपात के लिए प्रेरक करती है। इसप्रकार Clear Kit प्रेगनेंसी को खत्म कर देती है। 

 Misoprostal

 Misoprostal प्रेगनेंसी को समाप्त करने वाली संयुक्त दवाओं का एक रूप है जिसमें दो दवाइयां  उपलब्ध होती हैं। पहले दवा का कार्य प्रोजेस्टेरोन हारमोंस के श्रावण को बंद कर देता है, जो महिलाओं में गर्भधारण के लिए सहायक होता है, जिससे गर्भ टूट जाता है, तथा दूसरी गर्भाशय को संकुचित करते हैं गर्भपात करने में सहायक होती है। Misoprostol एक दवा है जो गर्भावस्था को चिकित्सकीय रूप से समाप्त करने में मदद करती है।

 Misoprostal

डॉक्टर इस दवा को मिफेप्रिस्टोन के साथ लिखते हैं। जो महिलाएं विभिन्न कारणों से गर्भधारण के पश्चात गर्भपात कराती हैं उनको महिला डॉक्टर द्वारा  Misoprostal टेबलेट के प्रयोग की सलाह दी जाती है इसके प्रयोग के पश्चात महिलाओं में सुरक्षित गर्भपात किया जा सकता है।

 निष्कर्ष

महिलाओं को कभी ना कभी पूरे जीवन में गर्भपात की दवाओं की आवश्यकता जरूर से जरूर पड़ती है अनचाहे सेक्स या पीरियड के समय होने वाले सेक्स से  महिलाएं प्रेग्नेंट हो जाती हैं किंतु असुरक्षित यौन संबंध होने के कारण होने वाले  गर्भ को वे गर्भपात कराना चाहती हैं, क्योंकि विभिन्न कारणों से उनको उस समय बच्चे की आवश्यकता नहीं होती है ऐसी स्थिति में गर्भपात के लिए उन्हें महिला डॉक्टर को दवाओं  का प्रयोग करने की सलाह देती हैं जो गर्भपात के लिए जिम्मेदार होती हैं। अतः महिलाओं द्वारा गर्भपात करने के लिए जिन दवाओं का प्रयोग किया जाता है उपर्युक्त लेख में ऐसे ही कुछ 1 month pregnancy rokne ki tablet की जानकारी दी गई है जिनकी सहायता से महिलाएं 1 महीने से 10 सप्ताह की प्रेगनेंसी को समाप्त कर सकते हैं। इन दवाओं द्वारा गर्भपात कराना सुरक्षित और आसान होता है।

FAQ 

मैं 1 महीने की गर्भवती हूं और मुझे यह बच्चा नहीं चाहिए कौन सी गोलियां?

यदि आप 1 महीने की गर्भवती हैं और आप बच्चा गिराना चाहते हैं यह गर्भपात करवाना चाहते हैं इसके लिए आपको किसी महिला डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए महिला डॉक्टर आपके शारीरिक संरचना के अनुसार आपको कुछ टेस्ट लिखेंगे जिसके पश्चात वह सुनिश्चित करेगी कि आपको गर्भपात कराया जा सकता है या नहीं यदि आपके सारे टेस्ट सही होते हैं और आप गर्भपात के लिए उपयुक्त हैं तो महिला डॉक्टर उपरोक्त लेख में बताए गए विभिन्न प्रकार के दवाओं में से किसी एक दवा का प्रयोग करने की सलाह देंगे जिनका प्रयोग आप डॉक्टर की निगरानी में करेंगे और बच्चा ना चाहने वाले अनचाहे गर्भ को गिरा सकती हैं इसके लिए आपको उपरोक्त लेख का अध्ययन करके डॉक्टर द्वारा बताई गई दवाओं का प्रयोग करना चाहिए। 

प्रेगनेंसी रोकने की टेबलेट का नाम क्या है?

यदि आप अनचाहे गर्भ से बचना चाहती हैं या आप सेक्स के दौरान प्रेगनेंट हो गई हैं किंतु प्रेगनेंसी को रोकना चाहती हैं तो इसके लिए आपको किसी महिला गाइनेकोलॉजिस्ट से मिलना चाहिए जो आपके प्रेगनेंसी की अवधि तथा आपकी शारीरिक संरचना के अनुसार  आपको कुछ टेस्ट के पश्चात दवाओं का प्रयोग करने की सलाह देंगे उपरोक्त लेख में विभिन्न प्रकार की दवाओं का वर्णन किया गया है जिनका प्रयोग आप महिला डॉक्टर की सलाह से कर सकती हैं उपरोक्त लेख में बताई गई सभी दवाइयां पूर्ण रूप से गर्भपात के लिए सुरक्षित हैं कि इन दवाओं का प्रयोग आप महिला डॉक्टर की निगरानी में ही करें। 

अगर बच्चा नहीं चाहिए तो क्या करना चाहिए?

यदि आप बच्चा नहीं चाहती हैं तो भारतीय संविधान की धारा मेडिकल टर्मिनेशन ऑफ प्रेगनेंसी के तहत आप अपनी मर्जी से विभिन्न कारणों से के कारण बच्चे को गिरा सकते हैं किंतु इसके लिए आपको किसी महिला डॉक्टर से सलाह लेनी होगी महिला डॉक्टर आपकी प्रेगनेंसी की अवधि तथा आप की शारीरिक संरचना के अनुसार आपको कुछ दवाओं का प्रयोग करने की सलाह देंगे जिनकी सहायता से आप बच्चा गिरा सकती हैं। 

Leave a Comment