ब्रेस्ट कम करने की मेडिसिन का नाम व आयुर्वेदिक क्रीम ,होम्योपैथिक व एलोपैथिक दवा

महिलाओं के पर्सनैलिटी में उनके ब्रेस्ट एक अहेम भूमिका निभाते हैं। महिलाओं का शरीर उनके ब्रेस्ट के आकार के अनुसार देखने में सुंदर तथा आकर्षक लगता है। यदि उनके ब्रेस्ट का साइज उनके शरीर के अनुसार सामान्य रूप में होता है, तो महिलाओं की पर्सनैलिटी देखने में आकर्षक लगती है। इसी के विपरीत यदि महिलाओं के ब्रेस्ट शरीर के अनुसार अधिक बड़े तथा ढीले होते हैं, तो यह सुंदर से सुंदर महिला की पर्सनैलिटी को बेकार कर देते हैं। अतः प्रत्येक महिला अपने स्तनों के साइज को परफेक्ट बनाने की कोशिश करती है। स्तनों के साइज अपने बॉडी के साइज के अनुपात में करने की कोशिश करती हैं, इसलिए महिलाएं तथा लड़कियां स्तनों का साइज कम करने के लिए ब्रेस्ट कम करने की मेडिसिन का नाम तथा उपाय जानने की कोशिश करती हैं।

आज के समय में प्रत्येक लड़की का सपना होता है, कि वह देखने में सुंदर तथा आकर्षक लगे जिसके लिए वह अपने शरीर के प्रत्येक अंग के बारे में ध्यान देती है, तथा उसे सुंदर बनाने की कोशिश करती है। लड़कियों के शरीर को सुंदर बनाने में उनके स्तन अहम भूमिका निभाते हैं। इसलिए प्रत्येक महिला ने स्तन को सामान्य आकार के बनाए रखने की कोशिश करती है।

ब्रेस्ट कम करने की मेडिसिन का नाम

आधुनिक समय में प्रदूषित वातावरण के कारण किसी को भी पर्याप्त पोषण आहार नहीं मिल पाता है, क्योंकि वातावरण प्रदूषित होने के कारण हमारे खाद्य पदार्थों में पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व नहीं पाए जाते हैं, तथा आधुनिक समय में हमारे शरीर में पोषक तत्वों की कमी के कारण विभिन्न प्रकार के रोग हो जाते हैं, जिन से हमारे शरीर में विभिन्न प्रकार की विकृतियां हो जाती हैं। महिलाओं के शरीर में स्तनों को सुडौल तथा मीडियम आकार के बनाए रखने में पौष्टिक खाद्य पदार्थों का बहुत बड़ा योगदान रहता है, क्योंकि यदि शरीर को पर्याप्त मात्रा में शोषण नहीं मिलता है, तो महिलाओं के स्तन छोटे रह जाते हैं, तथा यदि हम बाजार से अत्यधिक तैलीय पदार्थों का सेवन करने के कारण हमारे शरीर में अत्यधिक फैट जमा होने लगता है, जिसके कारण महिलाओं के स्तन बड़े हो जाते हैं, तथा वह नीचे की ओर लटकने लगते हैं। जिसके कारण महिलाओं का शरीर बहुत ही बेकार दिखने लगता है। इन सभी समस्याओं से बचने के लिए आज हम आपको बड़े ब्रैस्ट को छोटा करने की कुछ उपाय बताएंगे, जिनके द्वारा आप अपने बड़े तथा ढीले ब्रेस्ट को छोटे तथा टाइट बना सकती हैं।

ब्रेस्ट का नार्मल साइज़ कितना होना चाहिए

ब्रेस्ट का नार्मल साइज़ कितना होना चाहिए

महिलाओं को शारीरिक अनुपात के अनुसार उनके ब्रेस्ट के साइज अलग-अलग हो सकते हैं। महिलाओं को अपने ब्रेस्ट का साइज का अनुपात सही रखने के लिए अपनी शारीरिक शक्ति तथा खानपान पर अधिक ध्यान देना चाहिए। जिससे शरीर में पर्याप्त शारीरिक शक्ति मिलती रहे, तथा किसी भी प्रकार की अत्यधिक फैट जमा न होने पाए। इसके लिए एक डाइट प्लान तैयार करना चाहिए, जिसके अनुसार दैनिक रूप से पोषक तत्व ग्रहण करने चाहिए। शारीरिक अनुपात के अनुसार यदि किसी महिला की लंबाई 5.6 इंच है, तो उसके शरीर तथा ब्रेस्ट, कमर तथा हिप में 32 28 32 का अनुपात होना चाहिए, अर्थात 5 फुट 6 इंच लंबी महिला के स्तन 32 इंच तथा कमर 28 इंच व कमर के नीचे का हिस्सा 32 इंच होना चाहिए। यह एक आदर्श अनुपात होता है, जिसमें महिलाओं का फिगर बहुत अच्छा दिखाई देता है। शारीरिक लंबाई तथा अन्य अनुपात के अनुसार यह माप कम तथा अधिक हो सकती हैं।

ब्रेस्ट साइज़ कैसे नापें

जैसा आप को हम ने बताया कि महिलाओं के ब्रैस्ट कमर तथा हिप में 32 28 32 इंच का अनुपात होना चाहिए। किंतु यदि आप इस अनुपात को कैसे मापे इसकी जानकारी लेना चाहते हैं, तो आपको आज हम तरीका बताएंगे कि आप अपने ब्रेस्ट साइज को कैसे नाप सकते हैं। इसके लिए आपको एक मेजरमेंट टेप की आवश्यकता होती है। इस मेजरमेंट टेप की सहायता से अपने ब्रेस्ट के साइज को अपने घर पर अपने आप माप सकती हैं। इसके लिए आपको निम्नलिखित स्टेप अपनाने की आवश्यकता हो सकती है।

  • सबसे पहले आप शरीर में सबसे फिट कपड़े पहने।
  • अपनी ब्रा को बहुत अधिक टाइट तथा ढीला न छोड़े।
  • मेजरमेंट टेप को अपने सीने के चारों तरफ सबसे ऊंचे भाग पर लगाएं।
  • आपके ब्रेस्ट का सबसे ऊंचा भाग ब्रेस्ट के निप्पल के पास होता है।
  • मेजरमेंट टेप को घुमाते हुए ब्रेस्ट के ऊपर से चारों तरफ अपने ब्रेस्ट में बांधे।
  • मेजरमेंट टेप का पहला हिस्सा मेजरमेंट टेप के दूसरे हिस्से में जहां पर टच हो रहा है उस संख्या को नोट कर लें।
  • यही संख्या के ब्रेस्ट का साइज होगा।
  • इसी तरह आप अपनी कमर तथा हिप साइज को भी नाप सकती हैं।

ब्रेस्ट कम करने की मेडिसिन का नाम

आधुनिक समय में पर्याप्त पोषक तत्व तथा शारीरिक कमियों के कारण महिलाओं के स्तन बड़े हो जाते हैं। बड़े स्तनों का मुख्य कारण शरीर में अत्यधिक चर्बी तथा अधिक मात्रा में मांसपेशियों का विकास होता है। महिलाओं के शरीर में अत्यधिक फैट जमा हो जाने के कारण महिलाओं के स्तन बड़े हो जाते हैं, तथा उनमें ढीलापन आ जाता है, जिसके कारण उनका शरीर देखने में अच्छा नहीं लगता है, जिसके कारण बहुत सारी महिलाएं परेशान रहती हैं। महिलाओं की इस समस्या को दूर करने के लिए आज हम ब्रेस्ट कम करने की मेडिसिन के नाम तथा उनके प्रयोग के बारे में बताएंगे जो उनके ब्रैस्ट को छोटा करके उनके शारीरिक संरचना को सुंदर और आकर्षक बना सकती है।

ब्रेस्ट को कम करने के लिए सबसे पहले अपने शारीरिक शक्ति तथा खान-पान पर ध्यान देने की आवश्यकता होती है। अधिक मात्रा में बाजार में उपलब्ध फैटीय पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए, तथा निम्नलिखित दवाओं का प्रयोग करते हुए आप अपने स्तनों को सुंदर तथा सुधार व छोटे बना सकती हैं।

  • ब्रेस्ट कम करने की मेडिसिन का नाम।
  • ब्रेस्ट कम करने की आयुर्वेदिक दवा।
  • ब्रेस्ट कम करने की आयुर्वेदिक दवा patanjali
  • ब्रेस्ट कम करने की घरेलू विधियाँ।

ब्रेस्ट कम करने की दवा होमोपैथिक

आज के समय में प्रत्येक व्यक्ति ऐसी दवाओं का सेवन करना चाहता है, जो उसके स्वास्थ्य को तुरंत लाभ प्रदान करती हैं। ऐसी दवाइयां लगभग एलोपैथ द्वारा बनाई जाती है, जो शरीर को तुरंत फायदा प्रदान करती हैं। इसलिए शीघ्र फायदे के लिए ज्यादातर महिलाओं के द्वारा ब्रेस्ट टाइट करने की मेडिसिन के रूप में एलोपैथिक दवाओं का प्रयोग किया जाता है। जिसके द्वारा वह अपने ब्रेस्ट को छोटे करके अपने शरीर की पर्सनालिटी को सुंदर तथा आकर्षक बनाती हैं। महिलाओं के ब्रेस्ट बड़े होने के कारण उनका शरीर सुंदर नहीं दिखती है, जिसके कारण उनकी पर्सनैलिटी अच्छी नहीं होती है, और वह किसी भी पुरुष तथा व्यक्ति के आकर्षण का कारण नहीं बनती हैं। किंतु महिलाओं की इच्छा होती है, कि उनका शरीर इतना फिट हो की वह प्रत्येक पुरुष के आकर्षण का केंद्र बने। इसके लिए आज हम आपको कुछ दवाओं के नाम बताएं जिससे आप अपने ब्रेस्ट को छोटे व सुन्दर बना सकती हैं।

  • फ्रैगरिया वेस्का 30 सीएच।
  • बी-रिड्यूस ब्रेस्ट साइज रिडक्शन क्रीम।
  • ब्रेस्ट रिडक्शन क्यूट B60 कैप्सूल।
  • वाइट क्वो करुआ कैप्सूल।
  • फाइटोलक्का डिकेनड्रा 30 सीएच।

फ्रैगरिया वेस्का 30 सीएच

फ्रैगरिया वेस्का 30 सीएच

महिलाओं को ब्रेस्ट कम करने के लिए एक एलोपैथिक दवा है, जो महिलाओं के बड़े तथा ढीले ब्रेस्ट को छोटे व सुंदर बना देती है, जो महिलाएं अपने बड़े तथा ढीले स्तनों से परेशान रहती हैं, उनको दैनिक रूप से इस दवा का प्रयोग करना चाहिए। ब्रेस्ट कम करने के लिए फ्रैगरिया वेस्का 30 सीएच एक एलोपैथिक दवा है, ये दवा उन महिलाओं के लिए कारगर है, जिन्होंने शिशु को स्तनपान कराना बंद कर दिया है, लेकिन फिर भी स्तनों का आकार कम नहीं हो रहा है। इस दवा की दो-दो बूंद दिन में 3 बार ले सकते हैं, इस दवा के प्रयोग से महिलाओं में बड़े स्तनों की समस्या समाप्त हो जाती है, क्योंकि यह शरीर की एक्स्ट्रा चर्बी को समाप्त कर देती है, जिसके कारण शरीर से फैट समाप्त हो जाती है, तथा स्तनों की ग्रंथियों में तनाव आ जाता है, जिसे स्तन छोटे तथा सुंदर दिखने लगते हैं।

फाइटोलक्का डिकेनड्रा 30 सीएच

फाइटोलक्का डिकेनड्रा 30 सीएच

महिलाओं को अपने छोटे ब्रेस्ट बड़े करने के लिए कुछ विशेष प्रकार की दवाओं का प्रयोग करना चाहिए, कुछ महिलाओं के स्तन उनकी शारीरिक कमियों तथा अत्यधिक फैटी शरीर होने के कारण उनके ब्रैस्ट लटके हुए तथा बड़े हो जाते हैं, जिससे उनका शरीर का सेप बिगड़ जाता है, क्योंकि महिलाओं के स्तन बड़े होने के कारण उनका शरीर देखने में बहुत ही बेकार लगने लगता है। ऐसी स्थिति में महिलाएं अपने स्तनों को छोटा करने के लिए फाइटोलक्का डिकेनड्रा 30 सीएच का प्रयोग करती हैं, जो उनके स्तनों में जमा अतिरिक्त फैट को निकालकर उनके स्तन का सेप छोटा तथा सुंदर बनाती हैं, जो महिलाएं विभिन्न प्रकार की दवाओं का प्रयोग करके अपने स्तनों को छोटा नहीं कर पाए हैं, और वह अपनी पर्सनैलिटी को स्तनों के कारण सो नहीं कर पाते हैं। ऐसे में महिलाओं को फाइटोलक्का डिकेनड्रा 30 सीएच दवा का प्रयोग करना चाहिए, जो उनके स्तनों को साईज को सही करती है, तथा उनके शरीर को आकर्षक बनाती है।

ब्रेस्ट कम करने की क्रीम

महिलाएं अपने ब्रेस्ट को कम करने के लिए विभिन्न प्रकार की क्रीम का प्रयोग करती हैं जिनके द्वारा वह अपने स्तनों को छोटा व टाइट बनाती हैं ब्रैस्ट को टाइट करने वाली क्रीम का प्रयोग करने के लिए महिलाएं इसको अपने ब्रेस्ट के ऊपर दैनिक रूप से अप्लाई करते हैं तथा कुछ क्रीमो द्वारा ब्रेस्ट की मसाज भी की जाती है जिससे महिलाओं के ब्रेस्ट में एक्स्ट्रा फैट कम हो जाती है तथा स्तन छोटे व टाइट हो जाते हैं स्तनों में प्रयोग की जाने वाली क्रीम निम्नलिखित हैं

बी-रिड्यूस ब्रेस्ट साइज रिडक्शन क्रीम

बी-रिड्यूस ब्रेस्ट साइज रिडक्शन क्रीम

जो महिलाएं अपने ब्रेस्ट के साइज को छोटा करने की सोच रहे हैं, उनके लिए यह एक बहुत अच्छी क्रीम है, जो ब्रेस्ट के साइज को छोटा करती है, तथा उन्हें सुंदर तथा आकर्षक बनाती है। जिन महिलाओं के स्तन उनकी विशेष प्रकार की शारीरिक कमियों तथा अत्यधिक फैट बढ़ने के कारण बड़े तथा लटक दार हो जाते हैं। जिसके कारण उनका शरीर देखने में बहुत ही बेकार लगने लगता है। ऐसी महिलाएं अपने आप को सुंदर तथा आकर्षक बनाने के लिए ब्रेस्ट कम करने वाली क्रीम बी-रिड्यूस ब्रेस्ट साइज रिडक्शन क्रीम का प्रयोग कर सकती हैं। यह क्रीम के स्तनों को छोटा तथा टाइट बनाने में मदद करती है, तथा यह स्तनों के अंदर अतिरिक्त फैट को हटाने में सहायक होती है। जिससे महिलाओं के स्तन छोटे हो जाते हैं, तथा उनमें पर्याप्त तनाव के कारण वह सुडोल दिखते हैं। महिलाएं अपने स्तनों को छोटा बनाने के लिए इस क्रीम का प्रयोग रात को सोते समय अपने स्तनों के ऊपर कर सकती हैं।

ब्रेस्ट रिडक्शन क्यूट B60 कैप्सूल

ब्रेस्ट रिडक्शन क्यूट B60 कैप्सूल

जो महिलाएं अपने स्तनों को छोटा तथा सुंदर बनाने के लिए परेशान रहती हैं, तथा विभिन्न प्रकार की दवाओं का प्रयोग करने के पश्चात भी उनके स्तनों का साइज सामान्य आकार में नहीं आता है, उनके लिए ब्रेस्ट रिडक्शन क्यूट B60 कैप्सूल बहुत ही उपयोगी औषधि है, जिसका प्रयोग दैनिक रुप से करने पर महिलाओं के स्तन सामान्य आकार में आ जाते हैं, तथा महिलाओं का शरीर देखने में आकर्षक लगने लगता है। ब्रेस्ट रिडक्शन क्यूट B60 कैप्सूल के प्रयोग से महिलाओं के शरीर में एस्ट्रोजन लेवल सामान्य हो जाता है, जिसके कारण महिलाओं के शरीर में जमा एक्स्ट्रा फैट रिड्यूस होने लगती है। फैट रिड्यूस होने से महिलाओं के स्तन में परिवर्तन आने लगता है, तथा महिलाओं के स्तन छोटे व सुडौल होने लगते हैं फैटी शरीर होने के कारण बड़े तथा ढीले स्तनों से परेशान महिलाएं ब्रेस्ट रिडक्शन क्यूट B60 कैप्सूल का प्रयोग कर सकती हैं। यह इनके शरीर को सुंदर तथा आकर्षक बनाने में मदद करता है।

वाइट क्वो करुआ कैप्सूल

महिलाओं में एस्ट्रोजन लेवल अधिक होने के कारण शरीर में फैट की मात्रा बढ़ जाती है, जिसके कारण महिलाओं के स्तनों में बढ़ाव आ जाता है। महिलाओं में अधिक फैट होने के कारण उनके स्तन बड़े तथा ढीले हो जाते हैं, जिनके कारण उनका शरीर देखने में अच्छा नहीं लगता है। प्रत्येक महिला का सपना होता है, कि उनका शरीर देखने में आकर्षक तथा सुंदर लगे, इसके लिए वे अपने स्तनों को ठीक करने के लिए विभिन्न दवाओं का प्रयोग करती हैं। जिसमें स्तनों का आकार ठीक करने के लिए वाइट क्वो करुआ कैप्सूल का प्रयोग बहुत ही कारगर साबित हुआ है। वाइट क्वो करुआ कैप्सूल के प्रयोग से महिलाओं में एस्ट्रोजन लेवल सामान्य हो जाता है, जिससे उनके शरीर की फैट समाप्त होने लगती है। फैट समाप्त होने के कारण स्तनों का आकार धीरे-धीरे छोटा होने लगता है, जिससे उनके शरीर के आकर्षण में बढ़ोतरी हो जाती है। जिन महिलाओं के स्तन अत्यधिक फैट के कारण बड़े हो जाते हैं, उनको दैनिक रूप से वाइट क्वो करुआ कैप्सूल का प्रयोग करना चाहिए। 

ब्रेस्ट कम करने की आयुर्वेदिक दवा

कुछ महिलाओं को एलोपैथिक तथा होम्योपैथिक दवाओं से विशेष प्रकार की एलर्जी होती है, जिसके कारण वे एलोपैथिक तथा होम्योपैथिक दवा प्रयोग नहीं कर पाती हैं। ऐसे में कुछ महिलाएं अपने स्तनों के साइज को पर्याप्त आकार में बनाने के लिए कुछ विशेष प्रकार की आयुर्वेदिक दवाओं का प्रयोग करती हैं, जो उनके बड़े तथा ढीले स्तनों को छोटे तथा सुडौल स्तनों में बदलने का कार्य करती है। यह आयुर्वेदिक दवाइयां पूर्ण रूप से सुरक्षित होती हैं, तथा शरीर को किसी प्रकार का नुकसान नहीं करती हैं। आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति हमारे भारतीय चिकित्सा पद्धति में सबसे प्राचीन चिकित्सा पद्धति है, जिसका प्रयोग करते हुए प्रत्येक बीमारी का इलाज किया जा सकता है।

भारत में प्राचीन काल से आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति का प्रयोग विभिन्न प्रकार के रोगों को ठीक करने के लिए किया जाता था, जिसका वर्णन विभिन्न प्रकार के वेदो तथा ग्रंथों में भी पाया जाता है। महिलाओं के स्तनों को ठीक करने के लिए आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति द्वारा विभिन्न प्रकार की जड़ी बूटियों का प्रयोग करते हुए कुछ दवाओं का निर्माण किया गया है, जिनके द्वारा महिलाओं के ढीले तथा बड़े स्तनों को छोटे तथा सुंदर आकर्षक बनाने में किया जा सकता है। यह दवाइयां निम्नलिखित हैं 

  • CRD आयुर्वेदिक बोसोम कैप्सूल।
  • Hassnar Kamtone F- एनर्जी।
  • Hassnar हेल्थ केयर बॉडी टोनिंग कैप्सूल।
  • Afflatus आयुर्वेदि बिगन मसाज क्रीम।

CRD आयुर्वेदिक बोसोम कैप्सूल

CRD आयुर्वेदिक बोसोम कैप्सूल।

CRD आयुर्वेदिक बोसोम कैप्सूल महिलाओं के बड़े स्तनों को छोटा करने के लिए तथा उन्हें सुंदर तथा टाइट बनाने के लिए बहुत ही उपयोगी दवा है। जिन महिलाओं के स्तन शारीरिक फैट के कारण बड़े तथा ढीले हो जाते हैं, जिसके कारण उनका शरीर तथा शरीर की बनावट बेकार लगती है। अपने शरीर की सुंदरता को बढ़ाने के लिए प्रत्येक महिला अपने स्तनों का साइज तथा आकार सामान्य तथा शरीर के अनुसार बनाने की कोशिश करती है। जिसके लिए वह CRD आयुर्वेदिक बोसोम कैप्सूल का प्रयोग करती है, जो महिलाओं में बड़े तथा ढीले स्तनों को टाइट बनाने में सहायक होते हैं। यह कैप्सूल स्तनों के मांसपेशियों को टाइट बनाती है, जिससे लटके तथा बड़े स्तन टाइट होते हैं तथा छोटे हो जाते हैं, जिससे उनका शरीर देखने में फिट लगता है, तथा उनके शरीर की सुंदरता बढ़ जाती है। जिन महिलाओं के स्तन बड़े तथा ढीले हैं उनको CRD आयुर्वेदिक बोसोम कैप्सूल का प्रयोग करना चाहिए। 

Hassnar Kamtone F- एनर्जी

Hassnar Kamtone F- एनर्जी

महिलाओं में विभिन्न प्रकार की शारीरिक कमियों के कारण उनके शरीर में अत्यधिक फैट का निर्माण होने लगता है। जिसके कारण उनके शरीर में अत्यधिक फैट एकत्रित होने लगता है। शरीर में अत्यधिक फैट इकट्ठा होने के कारण महिलाओं के स्तन ढीले तथा लचकदार हो जाते हैं, जिसके कारण महिलाओं के शरीर में सुंदरता की कमी आने लगती है, क्योंकि महिलाओं का शरीर उनके स्तनों के आकार के अनुसार है सुंदर तथा आकर्षक दिखाई देता है। महिलाएं अपने स्तनों को टाइट बनाने के लिए Hassnar Kamtone F- एनर्जी दवा का प्रयोग करती हैं, जिसके द्वारा उनके स्तन छोटे तथा टाइट हो जाते हैं, जिसे महिलाओं में ब्रेस्ट कम करने की मेडिसिन का नाम से जाना जाता है। जिन महिलाओं के स्तन की मांसपेशियां विभिन्न प्रकार की शारीरिक कमियों तथा अत्यधिक फैट के कारण ढीली हो जाती हैं, उनको दैनिक रूप से Hassnar Kamtone F- एनर्जी कैप्सूल का प्रयोग करना चाहिए।

Hassnar हेल्थ केयर बॉडी टोनिंग कैप्सूल

Hassnar हेल्थ केयर बॉडी टोनिंग कैप्सूल

Hassnar हेल्थ केयर बॉडी टोनिंग कैप्सूल का प्रयोग महिलाओं को स्वस्थ तथा सुंदर बनाने के लिए किया जाता है, जिसके प्रयोग से महिलाओं के शरीर में अतिरिक्त फैट समाप्त हो जाती है, तथा उनका शरीर स्लिम तथा सुंदर दिखने लगता है। आधुनिक समय में बाजार में उपलब्ध खाने-पीने के सामानों में अत्यधिक तेल तथा अन्य तैलीय पदार्थों का प्रयोग किया जाता है, जिसके कारण हमारे शरीर में फैट बढ़ने लगता है। शरीर में फैट बढ़ने के कारण हमारे शरीर में पेट तथा स्तनों के आसपास चर्बी एकत्रित होने लगती है, जिसके कारण हमारा पेट तथा स्तन बड़े होने लगते हैं। महिलाओं के स्तन बड़े होने के कारण उनकी पर्सनालिटी पर प्रभाव डालते हैं, जिसके कारण महिलाएं अपने स्तनों को छोटा करने के लिए Hassnar हेल्थ केयर बॉडी टोनिंग कैप्सूल का प्रयोग करती हैं, जिससे उनका शरीर फिट रहता है, और उनके स्तन छोटे तथा टाइट रहते हैं।

Afflatus आयुर्वेदि बिगन मसाज क्रीम

महिला ने अपने बड़े स्तनों के कारण बहुत अधिक परेशान रहते हैं, क्योंकि उनके स्तन बड़े होने के कारण उनकी पर्सनालिटी पर बहुत अधिक प्रभाव पड़ता है, जिसके कारण होने विभिन्न स्थानों पर शर्मिंदा होना पड़ता है, जिसके लिए वे निरंतर प्रयास करती हैं, कि उनके स्तन छोटे तथा टाइट रहे इसके लिए महिलाओं को विभिन्न प्रकार के आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों से तैयार Afflatus आयुर्वेदि बिगन मसाज क्रीम का प्रयोग करना चाहिए जो शरीर से अतिरिक्त चर्बी को समाप्त होती है तथा स्तनों की स्तन ग्रंथियों को मजबूत बनाती है, तथा उन्हें टाइट बनाते हैं। जिसके कारण महिलाओं के बड़े स्तन टाइट तथा छोटे हो जाएंगे, जिन महिलाओं में उनके ब्रैस्ट ढीले तथा बड़े होने की समस्या होती है, उनको दैनिक रूप से अपने स्तनों पर Afflatus आयुर्वेदि बिगन मसाज क्रीम का प्रयोग करना चाहिए, जिससे उनके स्तन छोटे तथा सुंदर हो जाते हैं, तथा उनकी पर्सनालिटी आकर्षक लगने लगती हैं।

ब्रेस्ट कम करने की आयुर्वेदिक दवा patanjali

महिलाएं अपने स्तनों को बढ़ाने तथा ढीले होने से बहुत अधिक परेशान रहती हैं, उनके महिलाओं के ढीले तथा बड़े स्तन के कारण महिलाओं की सामाजिक सम्मान में कमी होती है, जिसके कारण लोगों के उनके प्रति विपरीत माइंडसेट होता है, तथा उनकी पर्सनैलिटी पर बड़े स्तनों का प्रभाव पड़ता है, जिसके कारण प्रत्येक महिला की सोच होती है, कि उसके स्तन सामान्य आकार के रहें जो देखने में सुंदर और आकर्षक लगे। अतः प्रत्येक महिला अपने स्तनों पर छोटे तथा टाइट बनाने की कोशिश करती है, जिसके कारण उनका शरीर सुंदर और आकर्षक दिखाई देने लगता है। महिला अपने स्तनों का आकार सही करने के लिए पतंजलि आयुर्वेद द्वारा तैयार निम्नलिखित दवाओं का प्रयोग कर सकती हैं।

  • दिव्य मेदोहर वटी।
  • शतावर वटी।
  • शिलाजीत रसायन वटी।
  • दिव्य वृधिवाधिका वटी।
  • पतंजलि तेजस तैलम।

दिव्य मेदोहर वटी

दिव्य मेदोहर वटी

दिव्य मेदोहर वटी का निर्माण शरीर से अत्यधिक फैट तथा शरीर के वजन को कम करने के लिए किया गया है। जिन व्यक्तियों में अत्यधिक हेड की वजह से उनका शरीर का वजन बढ़ता है, शरीर के बढ़े हुए वजन को कम करने के लिए अर्थात शरीर के मोटापे को कम करने के लिए दिव्य मेदोहर वटी का प्रयोग किया जाता है। महिलाएं अपने स्तनों से अत्यधिक जमी फैट को निकालने के लिए दिव्य मेदोहर वटी का प्रयोग करती हैं। जिसके कारण महिलाओं के स्तनों में जमीन अतिरिक्त फैट निकल जाती है, और उनके स्तन सामान्य आकार में परिवर्तित होने लगते हैं, जिससे उनका शरीर सुंदर तथा आकर्षक दिखाई देने लगता है। जिन महिलाओं के स्तन बड़े तथा ढीले होते हैं, उनको दैनिक रूप से पतंजलि आयुर्वेद द्वारा निर्मित दिव्य मेदोहर वटी का प्रयोग कर सकती हैं। यह शारीर से अतिरिक्त फैट को हटाकर उनके शरीर तथा उनके स्तनों को फिट बनाता है। दिव्य मेदोहर वटी का प्रयोग थायराइड की दवा के रूप में भी प्रयोग किया जाता है, यह थायराइड की समस्या को जड़ से समाप्त कर देती है।

शतावर वटी

दिव्य शतावर वटी

शतावर एक प्राकृतिक पौधा है, जिसकी जड़ों का प्रयोग विभिन्न प्रकार की जड़ी बूटियों बनाने में किया जाता है। शतावर की  जड़े  गुच्छे के रूप में निकलती हैं, जिसका प्रयोग मनुष्य के विभिन्न प्रकार की बीमारियों को ठीक करने के लिए किया जाता है। यह हमारे शरीर को फिट करने के लिए प्रयोग की जाती है। यह शरीर में अत्यधिक मोटापा हो रहा है, जिसके कारण महिलाओं के स्तन बड़े हो जाते हैं, तथा उनका शरीर अत्यधिक खराब दिखने लगता है। इसके लिए महिलाएं शतावर वटी का प्रयोग करती हैं। शतावर वटी के प्रयोग से महिलाओं के शरीर के साथ-साथ उनके स्तनों का साइज भी कम हो जाता है, जिससे उनका शरीर सुंदर आकर्षक दिखाई देने लगता है। पतंजलि आयुर्वेद द्वारा निर्मित सतावर का प्रयोग स्तनों को छोटा करने के साथ-साथ पेट में कब्ज तथा गैस की समस्या को ठीक करने के लिए भी किया जाता है, तथा पुरुषों की प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए शतावर वटी का प्रयोग किया जाता है।

शिलाजीत रसायन वटी

शिलाजीत रसायन वटी

पतंजलि आयुर्वेद द्वारा शिलाजीत रसायन वटी का निर्माण महिला तथा पुरुषों के विभिन्न प्रकार की यौन समस्याओं को ठीक करने के लिए किया जाता है। महिलाओं के बड़े हुए स्तनों को ठीक करने के लिए तथा उन्हें छोटा बनाने के लिए शिलाजीत रसायन वटी का प्रयोग किया जाता है। रसायन वटी महिलाओं के शरीर में एकत्रित एक्स्ट्रा फैट को समाप्त करती है। शरीर से एक्स्ट्रा फैट निकल जाने के कारण महिलाओं का शरीर स्लिम दिखाई देने लगता है। जिसके कारण उनके स्तन छोटे हो जाते हैं, तथा मांसपेशियां टाइट हो जाती है, जिनके कारण उनके स्तन टाइट दिखाई देने लगते हैं। शिलाजीत रसायन वटी के दैनिक प्रयोग से महिलाएं अपने बड़े तथा ढीले स्तनों को छोटा तथा टाइट बना सकती हैं। महिलाओं के सेक्स पावर बढ़ाने के लिए शिलाजीत रसायन वटी का प्रयोग किया जाता है, तथा  जिन पुरुषों में उनकी शारीरिक कमजोरी के कारण उनके शरीर में वीर्य की कमी हो जाती है, अर्थात वीर्य में शुक्राणुओं का निर्माण कम हो जाता है, जिसके कारण उनका वीर्य पतला हो जाता है। वीर्य को गाढ़ा बनाने के लिए शिलाजीत रसायन वटी का प्रयोग किया जाता है। 

दिव्य वृधिवाधिका वटी

दिव्य वृधिवाधिका वटी

दिव्य वृधिवाधिका वटी का प्रयोग शरीर से वात तथा पित्त को समाप्त करने के लिए किया जाता है। शरीर में वात तथा पित्त बढ़ने के कारण अत्यधिक फैट का निर्माण होता है, जिसके कारण हमारे शरीर का वजन बढ़ने लगता है, शरीर का वजन बढ़ने के कारण हमारे शरीर में विभिन्न प्रकार की समस्याएं होने लगती हैं। इन समस्याओं में महिलाओं के स्तनों का बड़ा हो जाना तथा ढीला हो जाना एक महत्वपूर्ण समस्या है, जिसके कारण महिलाओं के पर्सनालिटी पर विपरीत प्रभाव पड़ते हैं। अपने बड़े हुए स्तनों के कारण महिलाएं कुछ मानसिक समस्याओं का शिकार हो जाती है, तथा वह अपने स्तनों के लिए विभिन्न प्रकार की दवाओं का प्रयोग करती हैं। जिन महिलाओं के स्तन शरीर में अत्यधिक फैट बढ़ने के कारण बड़े हो जाते हैं, उनके लिए दिव्य वृधिवाधिका वटी बहुत ही उपयोगी मानी जाती है, तथा उसका प्रयोग पुरुषों के अंडकोष में पानी बढ़ने की समस्या को ठीक करने के लिए किया जाता है।

पतंजलि तेजस तैलम

पतंजलि तेजस तैलम

पतंजलि द्वारा निर्मित तेजस तैलम पूर्ण रूप से आयुर्वेदिक तेल है, जिसका प्रयोग पुरुषों  तथा महिलाओं की विभिन्न प्रकार की समस्याओं को ठीक करने के लिए किया जाता है। जिन महिलाओं के स्तन की मांसपेशियां ढीली हो जाती हैं, जिसके कारण उनके स्तन बहुत बड़े तथा ढीले दिखाई देते हैं, वह महिलाएं तेजस तेलम का प्रयोग करते हुए अपने स्तनों को छोटे तथा टाइट बना सकती हैं।तेजस तैलम का प्रयोग महिलाओं द्वारा अपनी योनि टाइट करने के लिए भी किया जाता है इसके लिए दैनिक रूप से तेजस तैलम द्वारा स्तनों की मसाज की जरूरत होती है, तेजस तैलम में विभिन्न प्रकार की आयुर्वेदिक औषधि गुण वाले तेल तथा औषधियां मिश्रित होती हैं, जिनमें शरीर की फैट को समाप्त करने के साथ-साथ मांसपेशियों को मजबूत बनाने के गुण पाए जाते हैं, जो स्तन ग्रंथियों कथा मांसपेशियों को टाइट बनाते हैं। इसके कारण स्तन छोटे तथा टाइट हो जाते हैं। तेजस तैलम का प्रयोग पुरुषों के द्वारा पेनिस का साइज बढ़ाने के लिए किया जाता है। 

ब्रेस्ट का साइज़ बड़ा होने के नुकसान

महिलाओं के ब्रेस्ट तथा उनके स्वास्थ्य में आपसी कनेक्शन होता है। महिलाओं के बड़े ब्रेस्ट उनको काम करने में समस्या उत्पन्न कर सकते हैं। जिसके कारण उनको विशेष प्रकार की मानसिक समस्याओं का शिकार होना पड़ता है, महिलाओं के बड़े स्तनों के कारण उनको पीठ दर्द जैसी समस्याएं हो सकती हैं। जिसके कारण उनको दैनिक रूप से करने वाले कार्यों में समस्या उत्पन्न हो सकती है, और वह विभिन्न प्रकार की अन्य समस्याओं से परेशान हो सकती हैं। इसलिए महिलाओं के स्तनों का सामान्य आकार में होना बहुत ही आवश्यक होता है। महिलाओं के स्तन यदि पड़ जाते हैं तो उनको विभिन्न प्रकार की शारीरिक समस्याएं भी होने लगती हैं। अतः इन सभी समस्याओं से बचे रहने के लिए आवश्यक है, कि महिलाओं के स्तन सामान्य आकार के छोटे तथा टाइट बने रहें।

निष्कर्ष

आधुनिक समय में महिलाएं अपने स्तनों के साईज से परेशान रहती हैं, क्योंकि महिलाओं के शरीर में अत्यधिक फैट बढ़ जाने के कारण महिलाओं के स्तन बहुत बड़े तथा ढीले हो जाते हैं, जिसके कारण उनको पीठ दर्द तथा अन्य विभिन्न प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ता है, तथा स्तनों का आकार सही ना होने के कारण उनके पर्सनैलिटी खराब दिखने लगती है। इन सभी समस्याओं से बचने के लिए महिलाएं विभिन्न प्रकार के तरीके अपने स्तनों को ठीक करने के लिए अपनाती हैं। महिलाओं की समस्या को दूर करने के लिए उपरोक्त लेख में विभिन्न प्रकार की दवा तथा उनके उपयोग के बारे में जानकारी दी गई है, जिससे महिलाएं अपने स्तनों को ठीक कर सकती हैं।

FAQ’s 

अपने ब्रेस्ट को कैसे छोटा करें ?

ब्रेस्ट का आकार कम करने के लिए जरूरी होता है, कि शरीर की चर्बी को कम किया जाए। जिन महिलाओं के शरीर में अत्यधिक फैट होता है, तथा वह शारीरिक रूप से मोटी होती है, उनके ब्रेस्ट का आकार बहुत बड़ा होता है। ब्रेस्ट के आकार को कम करने के लिए शरीर की चर्बी को कम करने वाले कुछ उपाय करना आवश्यक होता है, जिसमें दैनिक रूप से एक्सरसाइज तथा फैटीय पदार्थों का सेवन कम मात्रा में करना चाहिए। उपरोक्त लेख में बताई गई दवाओं का प्रयोग करते हुए महिलाएं अपने स्तनों को ठीक कर सकती हैं। 

ब्रेस्ट साइज कम करने के लिए क्या खाएं ?

ब्रेस्ट साइज कम करने के लिए दैनिक रूप से पोषण युक्त आहार लेना चाहिए जिससे महिलाओं के शरीर में पर्याप्त मात्रा में पोषण पर पहुंचते रहते हैं, तो शरीर में अतिरिक्त फैट का निर्माण नहीं होता है। जिन महिलाओं के शरीर में पर्याप्त रूप से पोषक तत्वों की कमी रहती है, उनके शरीर में आखिरी फाइट का निर्माण होता है, जिसके कारण उनके शरीर में फैट की मात्रा बढ़ जाती है, और स्तन बड़े हो जाते हैं। अतः महिलाओं को स्तन का साइज कम करने के लिए दैनिक रूप से फल तथा हरी सब्जियों का सेवन करना चाहिए। 

ब्रेस्ट का साइज कितना होना चाहिए ?

महिलाओं में ब्रेस्ट का साइज की उम्र का लंबाई के हिसाब से अलग-अलग हो सकता है। महिलाओं की शारीरिक लंबाई का शारीरिक शक्ति के अनुसार महिलाओं के स्तनों का साइज निर्भर करता है। महिलाओं की 18 साल से 22 साल की उम्र तथा 5 फुट 6 इंच से 6 फुट की लंबाई वाली महिलाओं के ब्रैस्ट कमर तथा हीप मैं 32 28 32 का अनुपात होना चाहिए तथा यह 34-28-34 तक हो सकता है।

Leave a Comment