पीरियड के कितने दिन पहले प्रेग्नेंट हो सकते हैं | जाने गर्भधारण का सही तरीका

वास्तव में गर्भधारण करने के लिए ओव्यूलेशन से 5 दिन के बाद का पीरियड टाइम बहुत अच्छा होता है कुछ महिलाओं तथा पुरुषों का मानना होता है कि यदि पीरियड से पहले भी सेक्स किया जाता है तो गर्भधारण की संभावना रहती हैं क्योंकि पुरुष स्पर्म कुछ समय के लिए महिला योनि में सुरक्षित रहते हैं। तत्पश्चात जब महिलाओं के पीरियड प्रारंभ होते हैं तो वह पीरियड के समय निकलने वाले अंडों के साथ निषेचन कर लेते हैं, जिससे गर्भधारण हो जाता है ऐसा होने की संभावना हो सकती हैं। किंतु ऐसे संभावनाएं बहुत कम होती हैं की पीरियड से पहले सेक्स करने से गर्भ धारण हो सकता है। इसी कारण बहुत सी महिलाओं तथा पुरुषों के दिमाग में यह रहता है कि पीरियड के कितने दिन पहले प्रेग्नेंट हो सकते हैं तो हम आपको बता दें कि पीरियड से पहले 5 दिन तथा पीरियड के बाद 1 सप्ताह तक गर्भधारण के संभावनाएं रहती हैं। आज हम आपको इससे संबंधित कुछ जानकारी प्रदान करेंगे।

प्रत्येक महिला के दिमाग में प्रेगनेंसी से संबंधित विभिन्न प्रकार के सवाल होते हैं जैसे कि पीरियड के कितने दिन पहले प्रेग्नेंट हो सकते हैं या पीरियड्स के कितने दिन बाद सेक्स करने से प्रेग्नेंट हो सकते हैं या फिर क्या कोई पीरियड के समय सेक्स करने से गर्भ धारण कर सकता है। इन सभी प्रकार की समस्याओं से बचने के लिए आज के इस लेख में हम आपको कुछ जानकारी प्रदान करेंगे जिससे आप सही समय पर सेक्स क्रिया करके सही प्रकार से गर्भधारण कर सकती हैं और यदि आप गर्भधारण करना नहीं चाहती हैं तो सुरक्षित समय में ही सेक्स क्रिया करना चाहिए जो महिलाओं को प्रेगनेंसी से बचाए रखती है।

प्रेगनेंसी क्या है? (What Is Pregnancy?)प्रेगनेंसी क्या है?

महिलाओं में प्रत्येक माह मैं 28 दिन बाद पीरियड्स का चक्र आता है जिसमें महिलाओं के अंडाशय से अंडे बाहर निकलते हैं जिसे हम माहवारी पीरियड के नाम से जानते हैं महामारी के समय यदि महिला किसी पुरुष साथी के साथ सेक्स क्रिया करती है तो पुरुष से निकलने वाले वीर्य में शुक्राणु उपस्थित होते हैं तथा महिलाओं के अंडों से शुक्राणु निषेचित होकर गर्भाशय में भ्रूण का निर्माण करते हैं जिसके कारण निश्चित समय अंतराल के पश्चात महिला एक शिशु को जन्म देती है।

पुरुष के शुक्राणु तथा महिला के अंडाणु द्वारा होने वाले निषेचन जिसके पश्चात गर्भाशय में भ्रूण का निर्माण होता है यह क्रिया गर्भधारण या प्रेगनेंसी कहलाती है प्रेगनेंसी के कारण ही 9 माह के पश्चात महिला के द्वारा एक शिशु का जन्म होता है।

इसलिए जो महिलाएं प्रेग्नेंसी धारण नहीं करना चाहती हैं या उनको इस समय किसी बच्चे की आवश्यकता नहीं होती है वह पीरियड्स के समय पीरियड्स के बाद या पीरियड के कितने दिन पहले प्रेग्नेंट हो सकते हैं तक सुरक्षित सेक्स क्रिया करते हैं। जिसके कारण पुरुष के शुक्राणु महिला के गर्भाशय में स्थित अंडों से निषेचन क्रिया नहीं कर पाते हैं जिससे गर्भ धारण नहीं हो पाता है गर्भधारण ना होने के कारण महिलाएं प्रेगनेंसी से बची रहती हैं तथा किसी बच्चे को जन्म नहीं देती हैं।

पीरियड्स क्या है? (What Is The Period?)

पीरियड्स क्या है?

महिलाओं में प्रत्येक माह एक निश्चित समय अंतराल के पश्चात अंडाशय से अंडे परिपक्व होकर गर्भधारण के लिए तैयार हो जाते हैं तथा अंडाशय से निकलकर गर्भाशय में जाते हैं यह क्रिया माहवारी या पीरियड्स कहलाती है। महिलाओं में पीरियड एक निश्चित समय अंतराल के पश्चात होते हैं जो 4 से 5 दिन तक लगातार रहते हैं।

पीरियड के समय यदि कोई महिला किसी पुरुष के साथ सेक्स क्रिया करती है तो वह गर्भवती हो सकती है क्योंकि इस समय माहिला के अंडाशय से अंडे निकलकर गर्भाशय में गर्भधारण के लिए पहुंच जाते हैं। यदि वहां पर उन्हें पुरुष शुक्राणु निषेचित करता है तो महिलाएं गर्भवती हो जाती हैं। अतः प्रत्येक माह अंडाशय से अंडे निकलने के समय को माहवारी पीरियड्स कहा जाता है। 

Period के कितने दिन पहले प्रेग्नेंट हो सकते हैं

वैसे तो सामान्य तौर पर महिलाएं पीरियड्स के समय या पीरियड्स के बाद 5 दिन के अंदर तक गर्भधारण की संभावनाएं अधिक रहती हैं लेकिन कई बार ऐसा होता है कि पीरियड्स के कुछ दिन पहले भी यदि महिलाएं सेक्स क्रिया करती हैं और कुछ दिन बाद उनको पीरियड्स प्रारंभ हो जाते हैं तो भी वह गर्भवती हो जाती हैं। ऐसे मैं कुछ महिलाओं को गर्भधारण की आवश्यकता नहीं होती है तो वे पीरियड से पहले तथा पीरियड्स के बाद असुरक्षित यौन संबंध स्थापित करने से बचाते हैं।

ऐसे में जिन महिलाओं को पीरियड्स के सुरक्षित समय की जानकारी नहीं होती है की पीरियड के कितने दिन पहले प्रेग्नेंट हो सकते हैं। उनको इस बात की जानकारी की आवश्यकता होनी चाहिए पीरियड के कितने दिन पहले प्रेग्नेंट हो सकते हैं। जिससे वे असुरक्षित सेक्स क्रिया करने से बचे रहें और सुरक्षित गर्भधारण कर सकें।

महिलाओं में गर्भधारण से बचने के लिए सुरक्षित समय में सेक्स क्रिया करना चाहिए तथा असुरक्षित समय में सेक्स क्रिया करने के लिए विभिन्न प्रकार के गर्भनिरोधक तरीके अपनाए जा सकते हैं। जिससे असुरक्षित समय काल में सेक्स क्रिया करने से महिलाएं गर्भधारण से बच सकते हैं तथा निश्चित समय अंतराल के पश्चात ही वे अपनी मर्जी से सुरक्षित समय में गर्भ धारण कर सकती हैं। 

पीरियड के कितने दिन पहले प्रेग्नेंट हो सकते हैं

पीरियड के कितने दिन पहले प्रेग्नेंट हो सकते हैं

पीरियड के समय प्रेग्नेंट होने के लिए पीरियड से 5 दिन पहले तथा पीरियड्स प्रारंभ होने के 1 सप्ताह बाद तक गर्भधारण के संभावनाएं सबसे अधिक होते हैं किंतु गर्भधारण के लिए पीरियड्स प्रारंभ होने के बाद 1 सप्ताह तक गर्भधारण के लिए सेक्स क्रिया करने का सबसे उत्तम समय माना जाता है।

पीरियड्स के पहले गर्भधारण के लिए सेक्स क्रिया करना निश्चित रूप से गर्भधारण का कारण नहीं हो सकता है क्योंकि पीरियड से पहले गर्भधारण के लिए सेक्स क्रिया करना तथा सेक्स क्रिया के पश्चात गर्भधारण की संभावनाएं बहुत कम रहती हैं। ऐसा कभी-कभी ही हो पाता है कि पीरियड से पहले सेक्स किया करने से गर्भधारण हो जाता है।

पीरियड से पहले यदि आपने गर्भ धारण किया है और आपको पीरियड से हो गया है तो इसका मतलब होता है कि या तो आपने गर्भधारण नहीं किया है या फिर आपको गर्भपात हो गया है क्योंकि गर्भधारण के पश्चात पीरियड्स बंद हो जाते हैं तथा अंडाशय में अंडों का निर्माण बंद हो जाता है जिससे मासिक धर्म या पीरियड्स भी नहीं होते हैं।

अर्थात पीरियड्स के पूर्व गर्भधारण की संभावना नहीं होती है क्योंकि उस समय अंडाशय में अंडों का निर्माण नहीं होता है तथा गर्भधारण के लिए गर्भाशय में अंडे उपस्थित नहीं होते हैं।

मासिकधर्म आने से पहले प्रेगनेंसी का कैसे पता करें?

मासिकधर्म आने से पहले प्रेगनेंसी का कैसे पता करें?

क्या आपको पीरियड के कितने दिन पहले प्रेग्नेंट हो सकते हैं की जानकारी है यदि आपने पिछले महीने में असुरक्षित यौन संबंध स्थापित किया है अर्थात पीरियड्स के समय सेक्स क्रिया किया है तो हो सकता है कि आप गर्भवती हो सकती हैं इस लिए आपको पीरियड के कितने दिन पहले प्रेग्नेंट हो सकते हैं इसकी जानकारी होना आवश्यक है।

किंतु पिछले महीने की गर्भधारण की अवस्था को जानने के लिए इस महीने की माहवारी से पहले आपको प्रेगनेंसी कंफर्म करने की आवश्यकता है। क्योंकि यदि आप गर्भधारण करना नहीं चाहती हैं और आप ने पिछले महीने असुरक्षित यौन संबंध स्थापित किए हैं जिससे आपको सुनकर है कि आप गर्भवती हो सकते हैं तो आप निम्न तरीके से पीरियड्स के पहले भी पता कर सकती हैं कि आप प्रेग्नेंट है या नहीं प्रेग्नेंट होने के पश्चात आपका शरीर कुछ बदलाव करता है तथा कुछ अन्य तरीकों से भी गर्भधारण का पता लगाया जा सकता है।

गर्भधारण का पता लगाने के लिए आजकल बाजार में बहुत सारे उपकरण उपलब्ध हैं गर्भधारण का पता बाजार में उपलब्ध प्रेगनेंसी किट द्वारा आसानी से लगाया जा सकता है जो बहुत है सरल तथा आसान होता है इसके साथ साथ आप अल्ट्रासाउंड द्वारा गर्भधारण का पता लगा सकती हैं। 

प्रेगनेंसी किट के द्वारा गर्भधारण का पता कैसे लगाएं

पीरियड के कितने दिन पहले प्रेग्नेंट हो सकते हैं इसके बारे में जानकारी करने के बाद गर्भ धारण का पता लगते हैं इसके लिए प्रेगनेंसी किट से गर्भधारण का पता लगाने के लिए निम्नलिखित तरीके से गर्भधारण का पता लगाया जा सकता है।

  • बाजार से एक प्रेगनेंसी किट लेकर आते हैं।
  • प्रेगनेंसी किट में निश्चित स्थान पर प्रातः काल के मूत्र की कुछ बूंदे डालते हैं।
  • कुछ समय का इंतजार करते हैं तथा देखते हैं कि प्रेगनेंसी किट में कुछ बदलाव हुए हैं।
  • प्रेगनेंसी किट में निश्चित स्थान पर कुछ गुलाबी रंग की लाइनें दिखाई देती हैं।
  • प्रेगनेंसी किट में यदि 1 लाइन गुलाबी दिखाई देती है तो इसका मतलब है आप प्रेग्नेंट नहीं है।
  •  प्रेगनेंसी किट है यह दो लाइने गुलाबी दिखाई देती हैं इसका मतलब है आप प्रेग्नेंट है।
  •  प्रेगनेंसी किट में यदि कोई लाइन गुलाबी नहीं दिखाई देती है इसका मतलब है टेस्ट को दोबारा करने की आवश्यकता है।
  •  एक भी गुलाबी लाइन ना होने के कारण प्रेगनेंसी किट खराब होने की भी आशंका होती है।

प्रेगनेंसी किट द्वारा गर्भधारण की जांच करना बहुत आसान होता है किंतु कभी-कभी प्रेगनेंसी किट द्वारा निश्चित नहीं हो पाता है। कि आप गर्भवती हैं या नहीं इसके लिए आपको डॉक्टर की सलाह के आधार पर अल्ट्रासाउंड या सोनोग्राफी कराने की आवश्यकता होती है जिसके पश्चात निश्चित रूप से गर्भधारण की जांच हो जाती हैं।

 उपरोक्त तरीके से जांच करने के अलावा भी हमारे शरीर में कुछ बदलाव होते हैं जिनके माध्यम से पता लगाया जा सकता है कि आप गर्भवती हैं या नहीं यदि आप गर्भवती हो जाती हैं। तो आपका शरीर निम्नलिखित संकेत देता है।

  • गर्भधारण के पश्चात महिलाओं के स्तनों में सूजन आ जाती है।
  • गर्भधारण के पश्चात महिलाओं के स्तन संवेदनशील हो जाते हैं।
  • महिलाओं के स्तनों में उपस्थित एरिओला का रंग गहरा हो जाता है।
  • महिलाओं को बार बार पेशाब जाने की आवश्यकता पड़ती है।
  • शरीर का टेंपरेचर बदलने लगता है।
  • भूख अधिक लगती हैं।
  • महिलाओं को नींद अधिक आने लगती है। 

Ladki Pregnant Kab Hoti Hai

Ladki Pregnant Kab Hoti Hai

कोई भी लड़की जब असुरक्षित यौन संबंध स्थापित करती है जिस समय लड़कियों में पीरियड्स चलते हैं तथा पीरियड के 1 सप्ताह बाद तक यदि कोई लड़की असुरक्षित यौन संबंध स्थापित करती है। तो उस समय उसके प्रेग्नेंट होने की सबसे अधिक संभावनाएं होती हैं। यदि कोई लड़की पीरियड होने के दिन से ओलूशन पीरियड तक अर्थात पीरियड शुरू होने के 1 सप्ताह बाद तक संबंध स्थापित करती है। तो उसके प्रेग्नेंट होने की संभावना रहती है।

गर्भधारण से बचने के लिए विभिन्न प्रकार की गर्भनिरोधक विधियों का प्रयोग किया जा सकता है। जिनके प्रयोग से प्रेग्नेंट होने से बचा जा सकता है यदि आप अपने साथी के साथ पीरियड्स के समय यह पीरियड्स के 1 सप्ताह तक संबंध स्थापित करना चाहती हैं।

तो आपको गर्भरोधक विधियों को अपनाने की आवश्यकता होती है। जिसके अपनाने से गर्भधारण से बचा जा सकता है। यह गर्भनिरोधक विधियां निम्नलिखित हैं।

  • गर्भरोधक टेबलेट का प्रयोग करके।
  • गर्भरोधक टीके लगवाने से।
  • संबंध स्थापित करते समय कंडोम का प्रयोग करने से।
  • Copper-t का प्रयोग करने से।

Masikdharm के कितने दिन बाद गर्भ नहीं ठहरता है?

यदि आप गर्भधारण से बचना चाहती हैं तो आपको पीरियड के कितने दिन पहले प्रेग्नेंट हो सकते हैं तथा पीरियड के बाद कितने दिन तक गर्भ धारण कर सकते है इसकी जानकारी है तो पीरियड प्रारंभ होने के 1 सप्ताह बाद तक संभोग क्रिया नहीं करनी चाहिए क्योंकि इस समय पीरियड्स का ओल्यूशन टाइम होता है। जिसके कारण महिलाओं के अंडाशय से अंडों का श्रावण होता है तथा अंडे अंडाशय से निकलकर गर्भाशय में पहुंच जाते हैं।

यदि इस समय कोई महिला कोई पुरुष साथी के साथ सेक्स क्रिया करती है तो पुरुष के वीर्य से निकलने वाले स्पर्म के साथ महिला के अंडे निषेचित हो जाते हैं। जिसके पश्चात गर्भाशय में गर्भधारण हो जाता है।

गर्भाधान होने के पश्चात महिला गर्भवती हो जाती है। अतः यदि आप गर्भधारण से बचना चाहती हैं तो पीरियड्स के 1 सप्ताह बाद तक संबंध स्थापित नहीं करना चाहिए। पीरियड्स प्रारंभ होने के 4 से 5 दिन पूर्व तथा 1 सप्ताह बाद तक महिला के गर्भाशय में अंडे उपस्थित रहते हैं। यदि आप इस समय किसी पुरुष साथी के साथ संभोग क्रिया स्थापित करती हैं तो गर्भधारण के संभावनाएं रहती हैं। 

महिलाओं का औसत मासिक धर्म चक्र २८ दिनों का होता है। मासिक धर्म चक्र एक अवधि के पहले दिन और अगली अवधि के पहले दिन के बीच का समय होता है। ओव्यूलेशन आमतौर पर अवधि समाप्त होने के ७-१९ दिनों के बाद होता है।

ओव्यूलेशन के बाद अंडा केवल १२-२४ घंटे तक ही जीवित रह सकता है। यही वजह है की गर्भावस्था होने के लिए इसे इस समय में एक शुक्राणु कोशिका से मिलना चाहिए। गर्भवती होने की सबसे अधिक तब संभावना होती है यदि कोई महिला ओवुलेशन के ३ दिन पहले और उसके दिन तक संभोग करती है।

गर्भधारण की सबसे अधिक संभावना कब होती है?

गर्भधारण की सबसे अधिक संभावना कब होती है?

गर्भधारण के सबसे अधिक संभावनाएं ओव्यूलेशन पीरियड में होती हैं जब महिलाओं में मासिक धर्म प्रारंभ होती है उसके पश्चात 1 सप्ताह तक ओव्यूलेशन पीरियड चलता है।

जिस समय महिलाओं के अंडाशय से अंडे निकलकर गर्भाशय में गर्भधारण के लिए पहुंचते हैं। यदि उस समय किसी पुरुष द्वारा सेक्स किया की जाती है, और पुरुष के वीर्य  मैं उपस्थित  स्पर्म महिला के गर्भाशय में पहुंचते हैं, तो वे अंडों से निषेचित हो जाते हैं, और गर्भधारण हो जाता है।

अर्थात मासिक धर्म प्रारंभ होने से 1 सप्ताह बाद तक गर्भधारण की संभावनाएं सबसे अधिक होती हैं इस समय महिला पुरुष से संबंध स्थापित करने से महिला गर्भवती हो सकती हैं।

प्रेग्नेंट होने के बाद क्या पीरियड आता है?

प्रेग्नेंट होने के पश्चात पीरियड आना बंद हो जाता है क्योंकि पीरियड अंडों के उत्सर्जन के कारण आता है जब महिला के अंडाशय से गर्भधारण के लिए अंडो का उत्सर्जन होता है। तो पीरियड्स आते हैं जिसमें अंडे अंडाशय से निकलकर गर्भाशय में निषेचन के लिए पहुंचते हैं। किंतु यदि पहले से ही प्रेगनेंसी हो चुकी होती है तो अंडों का उत्सर्जन बंद हो जाता है।

जिसके कारण महिलाओं में पीरियड्स आना बंद हो जाते हैं। यदि आप गर्भधारण के पश्चात भी पीरियड से आते हैं तो इसका मतलब है कि आपने गर्भधारण नहीं किया है या फिर आपको गर्भधारण के पश्चात गर्भपात हो गया है। गर्भधारण के पश्चात पीरियड्स कभी-कभी आते हैं जिसे हम हाइड प्रेग्नेंसी के नाम से जानते हैं यह रेयर केस में ही होता है जिसमें गर्भधारण के पश्चात भी 1 से 2 महीने तक पीरियड से आते रहते हैं कि तुम महिला गर्भवती रहती है। कभी कभी महिलायें पीरियड के कितने दिन पहले प्रेग्नेंट हो सकते हैं इसके बारे में जानकारी रखती है क्यों की हो सकता है आपकी प्रग्नेंसी पिछले महीने की हो।  

Sex Ke Kitne Din Baad Pregnant Ho Sakte Hain?

Sex Ke Kitne Din Baad Pregnant Ho Sakte Hain?

पीरियड्स आने के 1 सप्ताह बाद तक पेमेंट होने की संभावनाएं अधिक प्रति यदि आप पीरियड प्रारंभ होने के 1 सप्ताह के अंदर किसी पुरुष के साथ सेक्स क्रिया करती हैं। तो प्रेग्नेंट होने की संभावनाएं रहती हैं किंतु 1 सप्ताह बाद प्रेगनेंसी की संभावनाएं बहुत कम हो जाती है। अर्थात प्रेग्नेंट होने के लिए पीरियड्स और शुरू होने के 1 सप्ताह के अंदर सेक्स क्रिया करना अनिवार्य होता है।

जिसके फलस्वरूप आप गर्भधारण कर सकती हैं। यदि आप पीरियड्स के समय सेक्स क्रिया करती हैं तो सेक्स करने के 15 से 20 दिनों के अंदर आप  प्रेगनेंसी की जांच कर सकते हैं। तथा अगले पीरियड्स आने के पहले आप प्रेग्नेंट हो जाती हैं। वैसे तो सेक्स करने के 72 घंटों के अंदर ही आप प्रेग्नेंट हो जाती हैं किंतु इसकी जांच आप 15 दिन से 1 महीने के बाद कर सकते हैं।

 निष्कर्ष

कुछ लोगों का मानना होता है कि पीरियड के पहले तथा बाद दोनों समय में संबंध स्थापित करने के कारण कारण कारण हो सकता है लेकिन ऐसा बहुत कम होता है। पीरियड्स के 1 सप्ताह बाद तक संबंध स्थापित करने से तो गर्भधारण हो सकता है कि पीरियड्स के पूर्व संबंध स्थापित करने से गर्भधारण की संभावना नहीं रहती हैं। ऐसा कभी-कभी हो जाता है जब पीरियड्स के पूर्व किए गए सेक्स के शुक्राणु महिला की योनि में जीवित रहते हैं। जिसके कारण महिला को पीरियड प्रारंभ होने के पश्चात गर्भधारण हो जाता है। ऐसी परिस्थितियों से बचने के लिए प्रत्येक महिला पीरियड के कितने दिन पहले प्रेग्नेंट हो सकते हैं। इसकी जानकारी रखना चाहती है ताकि वह सुरक्षित रूप से गर्भ धारण कर सके या फिर गर्भधारण से बच सके।

FAQ 

मेरा मासिक धर्म 2 सप्ताह पहले हो गया क्या मैं गर्भवती हो सकती हूँ?

यदि आपका मासिक धर्म 2 सप्ताह पहले ही समाप्त हो गया है और आप अब संबंध स्थापित करते हैं तो आपके गर्भधारण की संभावना बहुत ही कम रहेंगी क्योंकि इस समय अंडो का उत्सर्जन बंद हो जाता है। अंडों का उत्सर्जन मासिक धर्म के केवल 4 से 5 दिन तक ही होता है उसके पश्चात अंडाशय से अंडों का उत्सर्जन बंद हो जाता है। इसलिए गर्भधारण की संभावनाएं नहीं रहती हैं अतः यदि इस समय आप सेक्स क्रिया करते हैं तो गर्भवती नहीं हो सकती हैं।

गर्भावस्था या गर्भाधान कैसे होता है?

महिला के अंडाशय से अंडे निकलते हैं तथा पुरुष के वीर्य में शुक्राणु होते हैं जब महिला तथा पुरुष पीरियड्स के समय संभोग क्रिया करते हैं। तो महिला के अंडाशय से निकले अंडों के साथ गर्भाशय में शुक्राणुओं के साथ निषेचन होता है जिसके पश्चात एक भ्रूण का निर्माण होता है जिसके कारण गर्भाधान होता है।

गर्भधारण की जांच कैसे करते हैं?

गर्भावस्था का पता लगाने के लिए विभिन्न प्रकार की जांच की जाती है तथा शरीर में कुछ परिवर्तन भी होते हैं यदि आप गर्भवती होती हैं। तो आपके सर के में विभिन्न प्रकार के परिवर्तन के साथ-साथ कुछ विशेष प्रकार के उपकरणों द्वारा जांच कर सकते हैं। कि आप गर्भवती हैं या नहीं गर्भाधान का पता लगाने के लिए प्रेगनेंसी किट का प्रयोग किया जा सकता है। 

पीरियड आने के कितने दिन पहले सेक्स करने से प्रेग्नेंट हो सकते हैं?

वैसे तो पीरियड आने के बाद सेक्स क्रिया करने से प्रेगनेंसी होती है किंतु कभी-कभी यदि पीरियड आने के एक-दो दिन पहले सेक्स क्रिया की जाती है तो प्रेगनेंसी हो जाती है किंतु इसके संभावना बहुत ही कम होती है।

क्‍या पीरियड से दो दिन पहले सेक्‍स करने से प्रेगनेंसी हो सकती है?

पीरियड के 2 दिन पहले सेक्स किया करने से कभी-कभी प्रेगनेंसी हो जाती है लेकिन इसके संभावना बहुत ही कम होती है यह किसी किसी रेयर केस में ही होता है। कि पीरियड्स के 2 दिन पहले सेक्स करने से प्रेगनेंसी हो जाती है अतः हम यह कह सकते हैं कि पीरियड के पहले सेक्स क्रिया करने से प्रेगनेंसी नहीं होती है। 

Leave a Comment