जल्दी मोटा होने के लिए आयुर्वेदिक पाउडर | एक महीने में दिखे असर

वर्तमान समय में युवा अपने को फिट रखना चाहता है, और एक बेहतर पर्सनेलिटी के साथ जीना चाहता है। जिस प्रकार मोटापा लोगों को परेशान करता है ठीक उसी तरह स्किनी और दुबली कमजोर काया भी लोगों को परेशान करती है। दुबलापन एवं मोटापा दोनों ही ऐसी शारीरिक स्थितियाँ हैं जो आपके व्यक्तिगत जीवन एवं स्वास्थ्य पर डायरेक्ट या इनडायरेक्ट वे में प्रभाव डालती हैं। यह आपके मानसिक स्वास्थ्य पर भी निगेटिव इफेक्ट डालती हैं। आपके शरीर की अच्छी बनावट जहाँ आपको कांफीडेंस देती है वहीं शरीर का दुबला पतला या अधिक फैटी होना निराशा एवं नकारात्मक विचारों को जन्म देता है। चाहें वह लड़का हो लड़की हो, महिला हो या हो पुरुष कोई भी इस समस्या का शिकार कभी भी हो सकता है। मानव शरीर का मोटा होना या दुबला पतला कमजोर होना कांफिडेंस लेवल को गिराता है। लोग आप पर कमेंट्स करने लगते हैं। आज के समय में बॉडी शेमिंग समाज की एक मुख्य समस्या बन गयी है। जैसे अधिक मोटा होना एक समस्या है ठीक उसी प्रकार पतला होना भी समस्या है। यदि आप बहुत अधिक पतले हैं या मोटे हैं तो यह आपके खराब पाचन एवं खराब स्वास्थ्य को प्रदर्शित करता है। वजन बढाने एवं मोटा होने के लिए आपके पाचन का ठीक होना आवश्यक है। यदि आपका पाचन ठीक है तो आपके द्वारा सेवन किया गया कोई भोज्य आपके शरीर पर असर करेगा अन्यथा व्यर्थ चला जायेगा। हष्ट पुष्ट होने के लिए लोग आयुर्वेदिक दवाइया, अंग्रेजी मेडिसिन्स, विभिन्न प्रकार के चूरन चटनी, सप्लीमेंट्स भी अपनाते हैं परन्तु खराब पाचन के चलते यह भी बेकार जाता है। यदि आप अपना वजन एवं मोटापा बढाना चाहते हैं तो संतुलित एवं नियमित डाइट को अपनी दिनचर्या में जोड़ लें। ज्यादा खाना आपका वजन नहीं बढाता है बल्कि आप किस सही भोजन, सही समय से खा रहे हो या नहीं इस पर निर्भर करता है। आज के युग में देखा जाता है कि दुबला पतला व्यक्ति कितना भी अच्छा भोजन कर ले वह मोटा नहीं हो रहा है और कोई मोटा व्यक्ति कितने भी डाइटिंग कर ले वह पतला नहीं हो पा रहा है। इस सब का मुख्य कारण शुद्ध वायु, शुद्ध खान पान, शुद्ध पर्यावरण का न होना है। मेडिकल साइंस नें प्रत्येक स्त्री पुरुष का उसकी उम्र लम्बाई के आधार पर सही वजन का मानक तय किया है जिसे बी0एम0आई0 इन्डेक्स बोलते हैं। यह कहना बिल्कुल  भी गलत नहीं होगा कि अधिक वजन एवं कम वजन की समस्या से पीडित दोनो ही व्यक्ति शारीरिक रूप से स्वस्थ नहीं हैं तथा दोनों ही कुपोषित हैं। वजन बढ़ाने के लिए पाउडर के प्रयोग से पूर्व आप किसी डाक्टर पर जाकर इस बात की जाँच अवश्य करायें कि आपका वजन क्यों नहीं बढ रहा है। क्या इसके पीछे कोई मेडीकल समस्या है या आपका खान पान ठीक नहीं है। मुख्यतः 100 में से 95 लोगों में गलत लाइफस्टाइल, गलत खान पान के कारण वेट नहीं बढ पाता है। आप अपने खान पान की आदतों एवं लाइफस्टाइल में बदलाव करके अधिकतम् 15 दिन में वजन बढा कर हष्ट पुष्ट एवं बलवान दिख सकते हैं।

Best Buy









Soy Protein



  • आयुर्वेदिक
  • No Side Effect
  • पूर्णरूप से आयुर्वेदिक
Budget Pick









Winlip Health Capsule



  • अधिक असरदार
  • 100% असरदार
  • सुरक्षित
Trending Buy









Whey Protein



  • पूर्ण सुरक्षित
  • पूर्णरूप से फायदेमंद
  • अद्भुत परिणाम

मोटा न होने के कारण

किसी किसी व्यक्ति का मेटाबॉलिज्म हाई होने के कारण वजन नहीं बढता है, यह जेनेटिक्स पर भी निर्भर करता है। आज की इस भागदौड भरी जिंदगी में वजन का सही से न बढने का मुख्य कारण खान पान में पोषक तत्वों की कमी है। पोषक तत्वों की कमी के चलते मानव के शरीर का विकास ठीक प्रकार से नहीं हो पाता है और शरीर हल्का रह जाता है। शरीर में फैट न आने के मुख्य कारण निम्नवत हैं।

  • खान पान में पोषक तत्वों की कमी।
  • हाइ मेटाबालिज्म।
  • आनुवांशिक कारण।
  • कोई बीमारी।
  • मानसिक तनाव या अन्य कोई समस्या।
  • अधिक परिश्रम करना।
  • समय से पूर्व जन्म।
  • पौष्टिक खान पान की कमी।
  • पर्याप्त एवं सम्यक डाइट न लेना।

यदि अथक प्रयास करने के बाद भी आपका वजन नहीं बढ पा रहा है अर्थात Body Mass Index के मानकानुसार आपका वजन नहीं है तो भविष्य में आपको वजन बढाने के उपाय विभिन्न प्रकार की शारीरिक एवं मानसिक समस्यांए परेशान कर सकती हैं। इन हानिकारक रोग एवं विकार से बचने के लिए आपके शरीर का वजन सामान्य होना आवश्यक है। वजन न बढने की समस्या के चलते आप को आगे समय में दात, स्किन, बाल एवं हड्डी सम्बंधी विकार, आस्टियोपोरोसिस, थकान, एनर्जी की कमी, एनीमिया, अनियमित मासिक चक्र, धीमा शारीरिक विकास आदि का सामना करना पड सकता है।

शरीर को मोटा करने के लिए आयुर्वेदिक एवं अंग्रेजी उपचार

आप इस लेख पर आये हैं तो इसका मतलब यही है कि आप या आपके परिवार का कोई सदस्य कम वजन की समस्या से पीडित है और आप आये दिन वजन बढाने के आयुर्वेदिक पाउडर, वजन बढाने के चूरन दवाओं के बारे में जानना चाहते हैं। कोई भी वजन बढ़ाने के लिए पाउडर ( mota hone ka powder ) को बताने से पहले हम आपको सलाह देंगें की आप शारीरिक व्यायाम को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाये तथा जितनी कैलोरी बर्न करें उससे अधिक का सेवन करें तो आप तेजी से Weight Gain कर सकते हैं।

आप दुबले पतले हैं और अपना वजन बढाकर अच्छी डील डौल करना चाहते हैं आप ज्यादा खा नहीं पाते हैं तो आपको वजन बढ़ाने के लिए पाउडर लेने की आवश्यकता है यह आपकी भूख को बढ़ाकर आपको आपका वजन बढाने में मदद करेगा। जिसके बाद आपका शरीर हष्ट पुष्ट मोटा तथा तंदरुस्त नजर आने लगेगा। वजन बढाने तथा शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए यह पाउडर एवं दवांए अच्छा विकल्प है।

मोटा होने के लिए आयुर्वेदिक पाउडर (मोटे होने का पाउडर) हमारे शरीर में हो रही पोषक तत्वों की कमी को पूरा करते है तथा बाडी को मजबूत और सुडोल बनाते हैं। यह वजन बढ़ाने के लिए पाउडर सुरक्षित एवं असरदार हैं। इन मोटा होने के लिए चूर्ण का प्रयोग कर आप कुछ ही हफ्तों में अपने शरीर एवं वजन में बदलाव को महसूस कर सकते हैं।

शतावर चूर्ण (Shatawar Powder for Weight Gain)

patanjali_shatavar_churna

शतावर प्रकृति से प्राप्त एक आयुर्वेदिक जडी बूटी है। शतावर का प्रयोग स्त्री एवं पुरुषों के लिए आयुर्विज्ञान में प्राचीन काल से किया जाता रहा है। शतावर पाउडर में शारीरिक कमजोरी को दूर करने के प्राकृतिक गुण पाये जाते हैं। महिलाओं में गर्भावस्था के दौरान वजन बढाने में भी प्रयोग किया जाता है। शतावरी चूर्ण या शतावरी टेबलेट आपके शरीर के बल्ड सर्क्यूलेशन को ठीक करता है।जिन पुरुषों में शीघ्रपतन की समस्या होती है उन को शीघ्रपतन का इलाज करने के लिए पतंजलि शतावरी चूर्ण का प्रयोग किया जाता है शतावरी पाउडर पतले स्त्री पुरुष के लिए रामबाण औषधि है। शतावरी पाउडर आपके शरीर में पानी की कमी नहीं होने देता है। आप प्रतिदिन रात में सोने से 1 घण्टा पूर्व दूध के साथ शतावरी पाउडर या शतावरी गोली का प्रयोग कर सकते हैं। शतावरी पाउडर के सेवन से गर्भवती महिलांए प्रसव के समय होने वाली परेशानियों से बच सकती है।

अश्वगंधा चूर्ण (Ashwagandha Powder for Weight Gain)

अश्वगंधा चूर्ण

अश्वगंधा जडीबूटी को Indian ginseng भी कहा जाता है क्योंकि अश्वगंधा पाउडर मानव शरीर के तंत्रिका तंत्र पर सीधे असर डालते हुए स्फूर्ति लाती है। अश्वगंधा का प्रयोग विभिन्न प्रकार की बीमारियों में किया जाता है। अश्वगंधा चूर्ण आपके शरीर की मांसपेशियों का विकास और ताकत बढाकर शारीरिक कमजोरी को दूर करता है। यह मानव शरीर के ब्लड शुगर लेवल को भी कंट्रोल रखता है। आप प्रतिदिन एक अश्वगंधा टेबलेट रात्रि में सोने से पहले दूध के साथ कर सकते हैं।

यष्टिमधु चूर्ण (Yashtimadhu Powder for Weight Gain)

Yashtimadhu Powder

यष्टिमधु (मुलैठी) बाजार में पंसारी की दुकान पर आसानी से मिलने वाली जडी बूटी है। मुलैठी में डाइजेशन ठीक करने वाले प्राकृतिक गुण पाये जाते हैं। पेट की पाचन सम्बन्धी बीमारियों में यष्टिमधु का प्रयोग किया जाता है। मुलैठी के सेवन से आप किसी भी प्रकार के खाद्य पदार्थ को आसानी से पचा सकते हैं। जिससे आपके शरीर को पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व प्राप्त होते है और शरीर का विकास होता है। यष्टि मधु का प्रयोग गला ठीक करने, एनर्जी लेवल बढाने तथा ल्यूकोरिया, गैस संबंधी बीमारी तथा अल्सर के इलाज में भी किया जाता है। यदि आपकी पाचन संबंधी गडबड के कारण आपका वजन बढने में दिक्कत आ रही है तो vajan badhane ka aasan tarika यष्टिमधु (मुलैठी) है।

सफेद मूसली (Safed Musali for Weight Gain)

सफेद मूसली

वजन बढाने के लिए सफेद मूसली पाउडर भी आयुर्वेदाचार्य द्वारा बताया गया है। सफेद मूसली एक औषधीय जडी बूटी है। सफेद मूसली मासपेशी को हील कर अच्छा वजन एवं पर्सनेलिटी प्रदान करता है। सफेद मूसली के प्रयोग से आपका स्टेमिना तथा बाडी स्ट्रेंथ भी बढती है। इसके प्रयोग से डिप्रेशन, स्ट्रेस से भी छुटकारा मिलता है जिसके कारण आपके द्वारा खाया गया खाद्य शरीर को अच्छे से लगता है। सफेद मूसली का प्रयोग सेक्स परफार्मेंस बढाने में भी किया जाता है। सफेद मूसली का प्रयोग आयुर्वेदिक वजन बढाने वाले पाउडर के रूप में दैनिक रूप से प्रयोग किया जा सकता है। इसके नियमित प्रयोग से डिप्रेशन की समस्या पर भी नियंत्रण पाया जा सकता है।

च्यवनप्राश (Chanwanprash for Weight Gain)

च्यवनप्राश पतंजलि

भारत में च्यवनप्राश का प्रयोग हर घर में किया जाता है। च्यवनप्राश का प्रयोग मुख्यतः सर्दी के मौसम में किया जाता है। च्यवनप्राश में शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने के औषधीय गुण विद्यमान होते हैं। इसका सेवन हमारे शरीर की इम्यूनिटी को ठीक कर पाचन शक्ति को ठीक करता है तथा वजन बढाने में मदद करता है। आप प्रतिदिन एक एक चम्मच च्यवनप्राश का सेवन गुनगुने दूध के साथ सुबह और शाम कर सकते हैं।

पतंजलि व्हीट ग्रास पाउडर (Wheat Grass Powder for Weight Gain)

पतंजलि व्हीट ग्रास पाउडर

पतंजलि दिव्य व्हीट ग्राम पाउडर शरीर के लिए जरूरी एंजाइम्स, क्लोरोफिल आदि का भरपूर स्त्रोत है। पतंजलि व्हीट ग्रास पाउडर को आप पानी या अन्य किसी पेय पदार्थ के साथ प्रतिदिन सेवन कर अपने शरीर के लिए आवश्यक पोषक तत्वो की पूर्ति कर वजन बढा सकते हैं।

पतंजलि दिव्य कुमार्यासव

पतंजलि दिव्य कुमार्यासव

पतंजलि दिव्य कुमार्यासव शरीर में फैट को बढाने में कारगर है साथ ही शरीर को एनर्जी प्रदान करता है। यदि आपको खुल कर भूख नहीं लगती है तो अपनी भूख बढाने तथा वजन को बढाने के लिए आप पतंजलि कुमार्यासव का प्रतिदिन दिन में दो बार एक एक चम्मच सेवन कर लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

पतंजलि बादाम पाक

badam pak

पतंजलि बादाम पाक में बादाम, लौंग, जायफल, सफेद मूसली, केसर आदि पोषक तत्व विद्यमान हैं। यह सभी जडीबूटिया तथा ड्राइ फ्रू़ट्स पुराने समय से ही शरीर की ताकत, वजन तथा शक्ति बढाने में प्रयोग की जाती रही हैं। मोटा होने के लिए आप बादाम पाक की चटनी को एक चम्मच लेकर रात में दूध के साथ सेवन कर सकते हैं।

अंजीर और किशमिश (Figs and Raisin for Weight Gain)

शास्त्रों के अनुसार वजन बढ़ाने के लिए तथा Mota hone ka gharelu nuskha मुनक्का, किशमिश, अंजीर को बताया गया है। आप प्रतिदिन रात में अंजीर और किशमिश को धोकर पानी में डाल कर रख दें तथा प्रातः इन भीगे हुए किशमिश और अंजीर का सेवन करने के उपरांत पानी को पी लें साथ ही रात में दूध में मुनक्कों को उबाल कर उनका सेवन करें। इससे आपका पेट अच्छे से साफ होगा, पाचन शक्ति बढेगी तथा रक्त का निर्माण समुचित मात्रा मे होगा जिससे आपका वजन अच्छे से बढेगा।

सौफ (Fennel seeds for Weight Gain)

सौफ हमारी रसोई घर का एक अहम मसाला है, इसमें भूख बढाने के आयुर्वेदिक गुण पाये जाते हैं। भूख न लगने पर नैचरोपैथिस्ट द्वारा सौफ का सेवन करना बताया गया है। यह भूख को बढाकर पाचन तंत्र को ठीक करता है तथा वजन बढाने में मदद करता है।

क्या वजन बढ़ाने के लिए प्रोटीन पाउडर लेना सही है?

मोटा होने के लिए पाउडर का इस्तेमाल चिकित्सक द्वारा भी बताया गया है क्यों कि मोटे होने का पाउडर easy to digest होते हैं परन्तु इन मोटा होने के लिए चूर्ण के प्रयोग से पहले प्रत्येक व्यक्ति के मन में प्रश्न आता है कि क्या वजन बढ़ाने के लिए पाउडर लेना सही है या नहीं तो हम आपको बता देते हैं कि यदि आप एक अच्छे ब्रैण्ड का आयुर्वेदिक जडीबूटियों से बने वजन बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक पाउडर का प्रयोग कर रहे हैं तो आपके शरीर पर इसका कोई नकारात्मक प्रभाव नहीं पडेगा। यदि आप मोटा होना चाहते हैं तो आपको हाइ कैलोरी डाइट प्लान के साथ साथ Weight Gain Workout करना होगा। यदि आप अपने वजन को बढाने के साथ साथ मसक्यूलर भी दिखना चाहते हैं तो आप मोटा होने के लिए प्रोटीन पाउडर का प्रयोग कर सकते हैं। आज मार्केट में विभिन्न कम्पनीज के प्रोटीन पाउडर उपलब्ध हैं, परन्तु किसी भी ब्राण्ड के प्रोटीन पाउडर पर जल्द भरोसा नहीं किया जा सकता है। इसलिए कई लोग साइड इफेक्ट्स के डर से प्रोटीन पाउडर न लेकर मोटा होने लिए आयुर्वेदिक पाउडर को प्राथमिकता देते हैं।

व्हे प्रोटीन (Whey Protein)

व्हे प्रोटीन

शरीर में प्रोटीन की पूर्ति करने को व्हे प्रोटीन को सबसे अच्छा प्रोटीन पाउडर माना जाता है। यदि आपके शरीर में प्रोटीन की कमी के चलते विकास नहीं हो पा रहा है तो आप प्रतिदिन व्हे प्रोटीन का सेवन कर सकते हैं। यदि आप दाल, अण्डा, सोयाबीन आदि से अपने शरीर में प्रोटीन की पूर्ति कर रहे है तब भी आप व्हे प्रोटीन का इस्तेमाल कर सकते हैं। यदि आप अपने रोजमर्रा के खाने का इस्तेमाल कर अपने कमजोर दुबले पतले शरीर के लिए आवश्यक प्रोटीन देने की सोच रहे हैं तो यह सम्भव नहीं है। व्हे प्रोटीन मसल्स की जल्दी रिकवरी एवं बिल्डिंग के लिए भी आवश्यक होता है। व्हे प्रोटीन को पानी में मिक्स कर के पीने से जल्दी पचता है। व्हे प्रोटीन को दूध से पनीर बनाने के बाद जो पानी बचता है उससे तैयार किया जाता है, इसे ‘कंप्‍लीट प्रोटीन’ भी बोला जाता है. इसमें सभी 9 Amino Acids पाए जाते हैं और लैक्टोस की मात्रा भी काफी कम होती है, जिसके कारण यह सुपाच्य होता है।

Read Also : गोनोरिया के लक्षण व उपचार सम्पूर्ण जानकारी

हेम्प प्रोटीन (Hemp Protein)

Hemp Protein

Muscles को मजबूत बनाने के लिए शरीर को प्रोटीन की आवश्यकता होती है। वर्तमान समय में मौजूद भोजन से शरीर के लिए आवश्यक प्रोटीन कंज्यूम करना संभव नहीं है। आपके शरीर को कितनी प्रोटीन की आवश्यकता है यह आपकी उम्र, लम्बाई, काम एवं अन्य पहलुओं पर निर्भर करता है। यदि आप प्रोटीन डैफीसियेंसी के कारण पतले दुबले हैं तो आप अपने को मसक्यूलर बनाने के लिए हैम्प प्रोटीन पाउडर का उपयोग कर सकते हैं। हैम्प प्रोटीन पाउडर प्राकृतिक उत्पादों का प्रयोग कर बनाया गया प्रोटीन पाउडर है। Hemp Protein के प्रयोग से हमारे शरीर की मासपेशी की रिकवरी तथा विकास तेजी के साथ होता है। हैल्प प्रोटीन का प्रतिदिन प्रयोग आपके वजन के साथ साथ आपकी शारीरिक शक्ति को भी बढाता है।

सोय प्रोटीन (Soy Protein)

Soy Protein

टोफू, टेम्पेह, सोया दूध, और अन्य सोया आधारित डेयरी से तैयार प्रोटीन है। सोया प्रोटीन को मुख्यतः सोयाबीन से तैयार किया जाता है। जो व्यक्ति प्रोटीन की कमी के चलते दुबले पतले सूखे तथा कम वजन की समस्या से परेशान हैं वह व्यक्ति अपने शरीर का वजन बढाने तथा मोटा दिखने के लिए सोय प्रोटीन को अपनी डाइट में एड कर सकते हैं। प्रतिदिन सोय प्रोटीन का प्रयोग आपकी मासपेशियों को तंदरुस्त कर उनका विकास करेगा। जिसके परिणातः आपका वजन स्वतः ही बढ जायेगा। शरीर का वजन बढने के कारण आप स्वस्थ एवं तंदरुस्त दिखाई देंगे। प्रोटीन का प्रयोग आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढाता है जिससे आप कम बीमार होंगे तथा वजन आसानी से बढेगा।

क्या मोटा होने के लिए चूर्ण बाजार में उपलब्ध है?

दुबले पतले शरीर को मोटा एवं तंदरूस्त बनाने के लिए शरीर को प्रोटीन व अन्य पोषक तत्व की आवश्यकता होती है। यह प्रोटीन पाउडर व अन्य चूरन मानव शरीर को तुरंत आवश्यक तत्वों की पूर्ति करते हुए बलवान एवं मसक्यूलर बनाते हैं और हमारे शरीर का वजन बढता है। शरीर का वजन तुरंत बढाने के लिए विशेष प्रकार के आयुर्वेदिक चूर्ण बाजार में उपलब्ध हैं जो बिना किसी डाक्टर परामर्श के मिल जाते हैं जो मानव शरीर के पाचन तंत्र को ठीक कर भूख में वृद्धि करते हैं तथा खाने को पूर्ण रूप से पचाने में मदद करते हैं। जिससे शरीर को ऊर्जा एवं शक्ति स्फूर्ति प्राप्त होती है।

See Also : गलती से हो गई हैं गर्भवती तो लीजिये | 1 month pregnancy rokne ki tablet

नमीरा चूर्ण

नमीरा चूर्ण

शरीर का वजन बढाने तथा मोटा होने के लिए आप राजस्थान हर्बल का नमीरा वेट गेन पाउडर का प्रयोग कर सकते हैं। यह आयुर्वेदिक जडीबूटी जैसे शतावरी, बदाम, जीवंति, नारियण आदि के मिश्रण से तैयार किया गया है। यह Namira Weight Gain Churna आपकी भूख को बढाकर शरीर का वजन बढाने का कारगर चूरन है। आप प्रतिदिन निमारा पाउडर को ब्रेकफास्ट तथा डिनर के बाद एक एक पाउच चूर्ण पानी के साथ ले सकते हैं। यह आयुर्वेदिक वजन बढाने की दवा प्राकृतिक तत्वों से बनायी गयी है इसके कोई नकारात्मक प्रभाव नहीं हैं।

त्रिफला चूर्ण

त्रिफला चूर्ण

त्रिफला चूरन मुख्य रूप से हरड, बहेडा, आंवला व अन्य प्राकृतिक उत्पाद जैसे काली मिर्च, काला नमक, मिश्री व अन्य जडीबूटियों के मिश्रण से तैयार किया जाता है। त्रिफला चूर्ण का प्रयोग मुख्यतः कब्ज की समस्या तथा अन्य पाचन संबंधी विकारो के इलाज में आदि काल से किया जाता रहा है। खराब पाचन क्रिया के चलते हमारा शरीर भोजन को सही से पचा नहीं पाता है और वेस्ट कर देता है। जिस कारण शरीर को आवश्य पोषक तत्व नहीं मिल पाते हैं और आपका शरीर कमजोर, दबुला, पतला तथा कम वजन रह जाता है। लोग आपको हड्डी कहना शुरु कर देते हैं जो कि आपके आत्मविश्वास को कम करता है। त्रिफला चूरन के प्रतिदिन प्रयोग से आपके पेट सम्बन्धी रोग ठीक होते हैं, आपका शरीर भोजन का अच्छे से पचाना शुरु कर देता है और धीरे धीरे आपका वजन बढकर आप तंदरुस्त दिखने लगते हैं।

रथिरा भीमा आयुर्वेदिक पाउडर (Rathira Bheema Ayurvedic Weight Gainer)

Rathira Bheema Ayurvedic Weight Gainer

आप अपनी दुबली पतली काया एवं कम वजन से परेशान है तो आप वजन बढाने के आयुर्वेदिक पाउडर व मास गेनर ले सकते हैं। रथिरा कम्पनी द्वारा बनाया गया भीमा आयुर्वेदिक वेट गेनर एक आयुर्वेदिक पाउडर है। आप इस पाउडर का 2 ग्राम चूरन पानी के साथ सेवन कर अपने वजन को बढा सकते हैं तथा अच्छी कद काठी प्राप्त कर सकते हैं। यह मास गेनर आयुर्वेदिक जडीबूटियों का प्रयोग कर तैयार किया गया है। इस पाउडर का प्रयोग स्त्री पुरुष दोनो के द्वारा किया जा सकता है। रुथिरा भीमा वजन बढाने का पाउडर आपकी भूख बढाकर वजन और मसल्स को बढाता है। यह एक पूर्ण रूप से प्राकृतिक और शाकाहारी प्रोडक्ट है। यह आपकी पाचन शक्ति को बेहतर कर आपकी मसल्स एवं वजन को बढाता है।

विनलिप हैल्थ कैप्सूल (Winlip Health Capsule)

Winlip Health Capsule

विनलिप थाइलैंड की दवा कम्पनी है। इसके द्वारा तैयार किया गया Winlip Health Capsule पूर्ण रूप से वजन बढाने का आयुर्वेदिक दवा है। ब्राण्ड के अनुसार इस कैप्सूल के शरीर पर कोई साइड इफेक्ट्स नहीं है। यह कैप्सूल इम्पोर्ट होकर भारत में आती है। आप अपना वजन एवं मसल्स गेन करने के लिए इस कैप्सूल का प्रयोग कर सकते हैं।

पतंजलि न्यूट्रेला वेट गेन (Patanjali Nutrela Weight Gain)

Patanjali Neutrela Weight Gain

पतंजलि न्यूट्रिला वेट गेन पाउडर प्रोटीन, कार्ब्स 52 आवश्यक पोषक तत्व, 12 मिनरल, 12 बायोफार्मेट बिटामिन, 18 एमीनो एसिड, ग्लूटामाइन व अन्य से तैयार किया गया पूर्ण शाकाहारी एवं आयुर्वेदिक वजन बढाने का गेनर है। यह सुपाच्य एवं असरकारक है। यह आपकी भूख को बढाकर शरीर की पोषक तत्व सोखने की क्षमता को बढाता है और आपके वजन को बढाकर आपकी पर्सनेलिटी में चार चाँद लगा देता है।

वजन बढाने के अन्य घरेलू उपाय

  • कम से कम 8 घण्टे की पर्याप्त नींद लें।
  • सुबह हेल्दी नाश्ता करने की आदत डालें।
  • प्रतिदिन कम से कम 3 बडे मील तथा 3 छोटे मील खाने को अपनी आदत बनायें।
  • वजन बढाने तथा मसल्स गेनिंग के लिए आप जिम जोइन कर सकते हैं।
  • यदि आप जिम में अपनी क्षमता से कुछ अधिक वजन उठायेंगे तो शरीर का वजन स्वतः बढता है।
  • आप अपने भोजन में डेयरी प्रोडक्ट, मेवा, दाल, चने, स्मूदीज, शेक, केले, हाइ फाइबर फूड, हाइ कार्ब फूड को एड कर भी अपना वजन आसानी से बढा सकते हैं।
  • आप वजन बढाने के लिए अंकुरित चने, अंकुरित दाल, केला, दूध, शहद, पनीर, मक्खन, घी, अण्डा जोड सकते हैं।
  • पर्याप्त पानी का सेवन करें।
  • योगा एवं मेडीटेसन करें।

वजन बढ़ाने के लिए पाउडर लेने के साथ सावधानियाँ

  • किसी भी मोटा होने के पाउडर को पचाने के लिए आपको व्यायाम करना आवश्यक है। यह पाउडर व्यायाम करने से अच्छा रिजल्ट दिखाते हैं।
  • किसी भी मोटा होने के पाउडर या चूरन का उपयोग अधिक मात्रा में न करें, किसी भी चीज की अति खराब होती है। यह आपके शरीर पर निगेटिव इफेक्ट डाल सकते हैं।
  • मोटा होने के लिए आयुर्वेदिक पाउडर या प्रोटीन पाउडर लेने के बाद यदि आपको किसी तरह की शारीरिक समस्या देखने को मिल रही है तो तुरंत डॉक्टर को कंसल्ट करें।
  • एक लम्बे समय तक इन मोटा होने के पाउडर का प्रयोग न करें।

निष्कर्ष

वजन कम होने तथा अच्छे खान पान के बाद भी मोटा न होने का कारण आपके शरीर का हार्मोनल इंबेलेंस तथा स्ट्रेस भी हो सकता है। इसमें आपको पर्याप्त मात्रा में भूख नहीं लगती है और आपके शरीर द्वारा खाये गये भोजन से पोषक तत्व उपयोग नहीं किये जाते हैं। अतः डाक्टर से परामर्श के बाद ही वजन बढाने वाले प्राडक्ट का प्रयोग शुरू करें। विज्ञान के अनुसार महिलाओं को 1500 से 1800 कैलोरीज और पुरूषों को  2300 से 2600 कैलोरीज भोजन अपनी दिनभर के कार्य और शरीर की गतिविधियों को पूरा करने के लिए चाहिए यदि इतनी कैलोरीज यदि आप प्रतिदिन नहीं ले रहे हैं तो आप भूल जायें कि आप अपना वजन आसानी से बढा पायेंगे।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ’s)

प्रश्न क्या मोटा होने के लिए पाउडर / चूरन प्रयोग किया जा सकता है?

उत्तर आप डॉक्टर की सलाह पर या अपने शरीर की आवश्यतानुसार प्रोटीन पाउडर या आयुर्वेदिक पाउडर का मोटा होने के लिए प्रयोग कर सकते हैं।

प्रश्न क्या प्रोटीन पाउडर लेने के साथ व्यायाम करना आवश्यक है?

उत्तर हाँ, यदि आप अपना वजन बढाने के लिए प्रोटीन कंज्यूम कर रहे हैं तो एक्सराइज / जिम करने पर अच्छे रिजल्ट प्राप्त होंगे।

प्रश्न वजन बढाने के लिए फास्ट फूड खाना चाहिए?

उत्तर नहीं, वजन बढाने के लिए जंक या फास्ट फूड का इस्तेमाल करना आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।

प्रश्न सबसे अच्छा प्रोटीन पाउडर कौन सा है?

उत्तर बाजार में कई ब्राण्ड के प्रोटीन पाउडर एबेलेवल हैं आप GNC Whey Protein, ON Whey, Muscleblaze Protein Powder प्रयोग कर सकते हैं।

प्रश्न मोटे होने का पाउडर का नाम बताये?

उत्तर मोटा होने के लिए आप पतंजलि धातु पौष्टिक चूर्ण, विदारीकंद पाउडर, पिपली चूरन, शरीफा पाउडर, गोखरू पाउडर या ऊपर वर्णित मोटा होने के पाउडर से कोई भी प्रयोग कर सकते हैं।

Leave a Comment