लिंग की नसों का ढ़ीलापन दूर करने और तनाव बढाने के उपाय

पुरुषों में यौन रोग जैसे इरेक्टाइल डिसफंक्शन (स्तंभन दोष), स्पर्म मोटिलिटी, प्री मच्योर इजेकुलेशन, आदि दिन प्रतिदिन बढती जा रही हैं । आज कल युवाओं के पेनिस में ढीलापन एवं लिंग की नसों में कमजोरी होना आम समस्या बन गयी है । पेनिस का ढीलापन या पेनिस में तनाव न आना स्थाई समस्या नहीं है । यदि आप भी लिंग के ढीलेपन या लिंग में तनाव न आने की समस्या का सामना कर रहे हैं तो लिंग का ढीलापन दूर करने के घरेलू एवं आयुर्वेदिक उपाय उपलब्ध हैं । आज इस Article में हम आपको ling ka dheela pan ka ilaj या अन्य शब्दों में कहें तो पेनिस की कमजोरी कैसे दूर करें के बारे में जानकारी देंगे।

अगर आपका पेनिस भी टाइट नहीं हो रहा है, तो ढीलापन दूर करने के उपाय अपनाकर आप अपने शिश्न (Penis) को कुछ ही समय में सख्त कर सकते हैं । पेनिस का कमजोर होना कोई स्थायी और गम्भीर समस्या नहीं है । वर्तमान समय में लाखों व्यक्ति बचपन की गलती से आई कमजोरी का इलाज (लींग कमजोरी की दवा) खोज रहे हैं । क्या आप भी हर समय सोचते रहते हो कि पेनिस की कमजोरी कैसे दूर करें ? तो परेशान न हों लंड की नसों में कमजोरी को दूर करने एवं तनाव लाने के लिये नसों की कमजोरी की आयुर्वेदिक इलाज, अंग्रेजी दवाए, घरेलू उपाय मौजूद हैं।

लिंग की शिथिलता

लिंग की शिथिलता (Erectile Dysfunction) या लिंग का ढीलापन मर्दाना कमजोरी या यौन कमजोरी माना जाता है। सम्भोग (Intercourse) करते समय पेनिस में तनाव न आना यानि कि लिंग का कठोर न होना इरेक्टाइल डिसफंक्शन कहा जाता है। लिंग में स्तंभन न होने के चलते स्त्री एवं पुरूष को चरम यौन सुख की प्राप्ति नहीं हो पाती है। लिंग का खड़ा न हो पाने का मुख्य कारण मांसपेशियों में रक्त का प्रवाह कम होना तथा तंत्रिका तंत्र का सही से काम न करना हो सकता है।

लिंग की नसों का ढ़ीलापन

बहुत से मर्द ऐसे होते हैं जो लिंग में किसी प्रकार की समस्या आने पर भी अपनी Man Ego के चलते स्वीकार नहीं करते हैं कि उन्हें लिंग सम्बन्धित कोई बीमारी है। यदि आपने लिंग की नसों के दुर्बल होने बाद भी नजर अंदाज करते रहोगे तो भविष्य में आपका लिंग और अधिक कमजोर हो जायेगा और उसमें उत्तेजना आनी बंद हो जायेगी। पेनिस में ढीलेपन की समस्या आने पर पुरूषों के शरीर में टेस्टोस्टेरोन व अन्य हार्मोन बनना कम हो जाता है और शरीर में काफी कमजोरी आ जाती है एवं शरीर का विकास रूक जाता है।

लिंग में ढीलेपन की समस्या आने पर लिंग खड़ा होना लगभग न के बराबर हो जाता है। सैक्स के क्षणों के समय पुरुषों के शरीर में रक्त का प्रवाह बढ जाता है और इसी उत्तेजना के चलते आपका लण्ड खड़ा होता है परन्तु आपको ईडी की समस्या है तो लिंग उत्तेजित नहीं होता और अंतरंग के पल के समय लिंग खड़ा नहीं होता है। यहाँ हम आपको ई0डी0 (ED) की समस्या को दूर करने के लिए कुछ टिप्स देंगे ।

पेनिस के ढीलेपन के कारण मानव जीवन पर पड़ने वाला प्रभाव-

लिंग की नसों का ढ़ीलापन

  • यदि आपके शरीर में हमेशा चुभन रहती है तो आपको भी लिंग की नसों की कमजोरी हो सकती है।
  • ज्यादा चिंता या डिप्रेशन लेने पर भी आपकी सैक्स ड्राइव को कम कर देता है और आपको नसों की कमजोरी का सामना करना पड सकता है।
  • पेनिस की नसों में कमजोरी आने पर शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है और आप बार बार बीमार पड़ेंगे।
  • मासपेशियों की कमजोरी के कारण पुरुषों में थकावट और सुस्ती रहती है।
  • बालों का झड़ना।
  • बार बार भूलने की बीमारी।
  • किसी काम करने में ध्यान केन्द्रित न होना।
  • असमान्य वसा जमना।

पेनिस में तनाव न आने के कारण

  • नशीली चीज शराब, बीयर आदि व ध्रूम्रपान करना।
  • जंक फूड का प्रयोग बहुतायत से करना।
  • जेनेटिक (आनुवांशिक) कारण।
  • मानसिक एवं शारीरिक तनाव।
  • पार्टनर के साथ सहज महसूस न करना।
  • बॉडी वेट ज्यादा होना।

लिंग की कमजोरी की आयुर्वेदिक दवा

पुरुषों में शारीरिक कमजोरी के कारण विभिन्न प्रकार की सेक्स समस्या होने लगते हैं जिनके कारण उनके लिंग में पर्याप्त तनाव नहीं आता है और अन्य विभिन्न प्रकार की सेक्स संबंधी समस्याएं होने लगती हैं सभी समस्याओं से बचने के लिए कुछ आयुर्वेदिक दवाइयों का प्रयोग किया जाता है यह आयुर्वेदिक दवाइयां प्राचीन काल से भारतीय आयुर्वेद द्वारा प्रयोग की जा रही हैं जिनके प्रयोग से पुरुषों में होने वाले विभिन्न प्रकार की सेक्स समस्याएं समाप्त हो जाती हैं और पुरुष खुशहाल जीवन व्यतीत करते हैं तथा अपनी सेक्स लाइफ  का आनंद लेते हैं।

UPAKARMA Shilajit

UPAKARMA Shilajit

UPAKARMA Shilajit कैप्सूल शुद्ध शिलाजीत तथा शुद्ध सोने की डस्ट के मिश्रण से बना होता है जो शरीर को ऊर्जा तथा ताकत प्रदान करता है। इसके प्रयोग से लिंग मैं होने वाले ढीलेपन की समस्या से राहत मिलती है तथा सेक्स  क्षमता भी बढ़ती है जो हमारे शरीर को होने वाली सेक्स  समस्याओं से बचाता है। 

Man Matters

Man Matters

Man Matters कैप्सूल शुद्ध हिमालयन शिलाजीत द्वारा बनी होती है शिलाजीत के साथ-साथ इसमें गोक्षुर सफेद मूसली तथा केसर जैसा विभिन्न प्रकार के आयुर्वेदिक तत्व उपस्थित होते हैं जो हमारे शरीर को ऊर्जा प्रदान करते हैं। जिसके कारण हमारे शरीर में शक्ति का संचार होता है और हमारे शरीर में होने वाले विभिन्न प्रकार की सेक्स समस्याएं समाप्त हो जाती हैं लिंग की नसों में ढीलेपन समस्या को समाप्त करने के लिए दैनिक रूप से Man Matters  कैप्सूल का प्रयोग करना चाहिए।

Kapiva StaminUP कैप्सूल

Kapiva StaminUP कैप्सूल

Kapiva StaminUP कैप्सूल पुरुषों में स्टेमिना बढ़ाने के लिए प्रयोग की जाने वाली एक आयुर्वेदिक औषधि है जिसमें विभिन्न प्रकार की आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों का प्रयोग किया गया है जो पुरुषों की शारीरिक शक्ति को बढ़ाती है। तथा आने वाली सेक्स समस्याओं को दूर करते हैं जिन पुरुषों में लिंग के तनाव  की समस्या होती है उनको दैनिक रूप से Kapiva StaminUP कैप्सूल  का प्रयोग करना चाहिए जिससे आने वाले विभिन्न प्रकार की सेक्स समस्याएं भी समाप्त हो जाती हैं।

SAPTAMVEDA Himalayan

SAPTAMVEDA Himalayan

SAPTAMVEDA Himalayan टेबलेट शुद्ध हिमालयन शिलाजीत द्वारा निर्मित एक आयुर्वेदिक औषधि है, जिसका प्रयोग विभिन्न प्रकार की शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए किया जाता है। जिन पुरुषों में शारीरिक कमजोरी के कारण  उनके  लिंग में पर्याप्त  तनाव नहीं आता है जिसके कारण विभिन्न प्रकार की सेक्स समस्याओं का सामना करना पड़ता है उन सभी समस्याओं से बचने के लिए SAPTAMVEDA Himalayan  टेबलेट का प्रयोग दैनिक रूप से करना चाहिए यह आने वाली सभी प्रकार की सेक्स  समस्याओं को दूर करता है।

Greencure ओरिजिनल हिमालयन शिलाजित

Greencure ओरिजिनल हिमालयन शिलाजित

Greencure ओरिजिनल हिमालयन शिलाजित शुद्ध शिलाजीत द्वारा निर्मित एक आयुर्वेदिक औषधि होती है जिसका  प्रयोग शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए किया जाता है। जिन पुरुषों में शारीरिक कमजोरी के कारण विभिन्न प्रकार के सेक्स समस्याएं होती हैं जिनमें लिंग के नसों में ढीलापन की समस्या के कारण लिंग  में पर्याप्त तनाव नहीं आता है की समस्या को दूर करने के लिए Greencure ओरिजिनल हिमालयन शिलाजित  का प्रयोग किया जाता है।

Kapiva हिमालयन शिलाजीत

Kapiva हिमालयन शिलाजीत

Kapiva हिमालयन शिलाजीत के साथ-साथ अन्य विभिन्न प्रकार के आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों का मिश्रण होता है जो शरीर को विभिन्न प्रकार के होने वाली कमजोरियों से बचाता है जिससे हमारा शरीर स्वस्थ तथा ताकतवर रहता है। जिन व्यक्तियों में शारीरिक कमजोरी के कारण उनके लिंग में तनाव नहीं आता है उनको दैनिक रूप से Kapiva हिमालयन शिलाजीत का प्रयोग करना चाहिए जो उनके लिंग की नसों में ढीलेपन समस्या को दूर करता है।

अश्वगंधा सिरप (Ashwagandha syrup)

Ashwagandha syrup

यह आयुर्वेदिक दवा आपके तनाव को कम करते हुये नसों को आराम देती है और ब्लड सर्कुलेशन को तेज करती है।

मकरध्वज (Makaraddhage )

मकरध्वज

यह आयुर्वेदिक दवा लिंग को मजबूत बनाती है और आपको अपने पार्टनर को संतुष्ट करने में सहायता प्रदान करती है।

लिंग का ढीलापन दूर करने के लिए डाइट- (लिंग में तनाव के आयुर्वेदिक उपचार)

पेनिस के ढ़ीलेपन को दूर करने के लिये आपको अपने डेली लाइफ में बदलाव लाना आवश्यक है। यदि आप फास्ट फूड पिज्जा, मोमो, बर्गर, समोसा आदि के शौकीन हैं तो आप अपनी इस आदत को तुरंत बदल दें क्योंकि यह भोजन हमारे सम्पूर्ण शरीर को भारी नुकसान पहुँचाते हैं। मानव के भोजन का उसके शरीर एवं दिमाग पर सीधा असर पड़ता है। लिंग के खडा न होने की समस्या को दूर करने के लिये आपको अपनी डाइट में चेंज लाना होगा। हम यहाँ कुछ हैल्दी फूड्स के बारे में आपको बता रहें हैं जिनका प्रयोग कर आप ईडी की प्राब्लम से शीघ्र छुटकारा पा सकेंगे। निम्न खाद्य पदार्थो का प्रयोग करने से लिंग में तनाव की समस्या दूर हो जाती है

  • हरे पत्तेदार सब्जियाँ एवं चुकंदर
  • डार्क चॉकलेट
  • पिस्ता
  • शीप और अन्य शैलफिश
  • तरबूज
  • टमाटर और चकोतरा
  • कैफीन
  • योहिंबे
  • हार्नी गॉट वीड
  • गिलोय
  • उडद की दाल

हरे पत्तेदार सब्जियाँ एवं चुकंदर

हरे पत्तेदार सब्जियाँ

हरी पत्तेदार सब्जियाँ जैसे पालक, मैथी, धनिया, बथुआ, हरी अजवाइन में पाये जाने वाले नाइट्रेट्स Vasodilators (वाहिका विस्फारक) रक्त वाहिका को चौडा करके रक्त का संचार बढा देते हैं और रक्त में मौजूद किसी भी प्रकार को दूर कर शरीर से बाहर निकाल देते हैं। चुकंदर भी नाइट्रेट्स का एक मुख्य विकल्प है।

डार्क चॉकलेट

डार्क चॉकलेट

डॉर्क चॉकलेट में मौजूद फ्लेवोनॉयड्स रक्त संचार को तीव्र करता है और मानव को खुशी की अनुभूति कराते हैं। Flavonoids नेचुरल एण्टीऑक्सीडेंट्स होते हैं जो मानव शरीर के लिए लाभदायक होते हैं। आप Dark Chocolate के अलावा नाशपाती, सेब, बैरीज, चाय, वाइन आदि से भी प्राप्त कर सकते हैं ।

पिस्ता

पिस्ता में मौजूद आर्जिनाइन (Arginine) नामक प्रोटीन जो रक्त वाहिनियों को आराम पहुँचाने में मदद करता है। विभिन्न शोधों से सामने आया है कि यदि आप लगातार तीन सप्ताह तक पिस्ता का सेवन करते हैं तो आपको सेक्स समस्या लिंग की कमजोरी दूर कर लिंग में रक्त संचार बढाकर लिंग को पूरा खडा करने में मदद करेगा । पिस्ता प्रोटीन्स का खजाना है।

शीप और अन्य शैलफिश

शीप को प्राकृतिक काम उत्तेजक माना जाता है क्योंकि शीप व अन्य शैलफिश जिंक (Zinc) से भरपूर होती हैं । जिंक मानव शरीर में टेस्टोस्टेरान (Testosterone) स्तर को बढाता है। मानव शरीर में टेस्टेरोन लेवल कम होने पर नसों में कमजोरी तथा लिंग कमजोर पड़ जाता है। शीप और शैलफिश में मौजूद तत्व स्त्री व पुरूष में सैक्स हार्मोन्स के स्त्राव को बढाता है ।

तरबूज

तरबूज में भरपूर मात्रा में L-citrulline, Amino Acids, फायटो न्यूट्रिएंट (Phytonutrients)  पाया जाता है जो एक प्रकार के एण्टी आक्सीडेंट्स हैं। तरबूज ब्लड वेसिल्स को चौडा कर रक्त के बहाव को सुधारता है। कई शोधकर्ताओं द्वारा अपने शोध में तरबूज के गुण को वियाग्रा के साथ कम्पेअर किया है। तरबूज के प्रतिदिन सेवन से रक्त धमनियों को आराम मिलता है तथा पेनिस में ब्लड सर्क्यूलेशन बढता है। तरबूज का मौसम न होने पर आप Watermelon Seeds का यूज कर सकते हैं।

टमाटर और चकोतरा

टमाटर और चकोतरा

टमाटर और चकोतरा (Grapefruit) में पाया जाने वाला फॉयटो न्यूट्रिएंट लाइकोपीन सैक्सुअल डिजायर एवं तथा खून के बहाव को बढाता है। लाइकोपीन का प्रयोग पुरुषों की इनफर्टिलिटी एवं प्रोस्टेट कैंसर के इलाज में भी किया जाता है। यदि आप टमाटर एवं चकोतरा के सलाद में ऑलिव आयल डालकर खायेंगे तो यह और अधिक फायदा देगा।

कैफीन

कैफीन

यदि आप चाय और काफी पसंद करते हैं तो आपको बता दें कि कॉफी में मौजूद कैफीन रक्त की गति को बढाता है तथा मानव शरीर की मासपेशियों तथा नसों को रिलैक्स करता है। हमारी सलाह है कि यदि आप अपनी कॉफी / चाय से शक्कर एवं दूध को हटा दें तो आपको और अधिक फायदा मिलेगा और आपका लिंग पूरा खड़ा और कठोर जल्दी होगा।

योहिंबे

योहिंबे

अल्फा – 2 (Alpha 2) मानव शरीर में मौजूद रिसेप्टर्स होते हैं जो मानव शरीर की मसल्स को संकुचित करते हैं, एल्फा 2 की शरीर में मात्रा अधिक होने पर लिंग की मासपेशियों में ढीलापन तथा लिंग में कमजोरी आती है। योहिंबे में पाया जाने वाला अल्फा 2 ब्लाकर अल्फा 2 को ब्लाक कर सेक्स परफॉर्मेंस बढाने में मदद करता है।

हार्नी गॉट वीड

हार्नी गॉट वीड

Horny Goat Weed एक पूर्व उत्तर एशिया में पाया जाने वाला पौधा है इसमें पाया जाने वाला icariin लिंग को खड़ा होने से रोकने वाले एंजाइम PDE5 के निर्माण को रोकता है। लिंग की मासपेशियों में रक्त के प्रवाह को बढाकर लंड को सख्त करता है।

गिलोय

नसों की कमजोरी की आयुर्वेदिक दवा में गिलोय का प्रयोग प्राचीन समय से किया जाता रहा है। धात रोग या लिंग के नसों के इलाज के लिये 2 चम्मच गिलोय रस में एक चम्मच शहद मिलाकर प्रयोग किया जा सकता है। गिलोय शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढाता है।

उडद की दाल

उडद की दाल

उडद की दाल बलवर्धक होती है। उडद की काली दाल को पीसकर उसे भून लें और खांड में मिलाकर सेवन करने से आपका लिंग कठोर बनता है।

लिंग की नसों में कमजोरी दूर करने के घरेलू उपाय-

  • पेनिस की रोजाना सरसों के तेल / जैतून के तेल से 15 से 20 मिनट मालिश करने से लंड में रक्त का प्रवाह बढता है और आपका लिंग की नसों की समस्या दूर की जा सकती है। आप मालिश के लिए लिंग पंप का प्रयोग भी कर सकते हैं।
  • लिंग की शिथिलता / कमजोरी को दूर करने के लिये आप कीगल एक्सरसाइज (पैल्विक फ्लोर एक्सरसाइज) का प्रयोग भी कर सकते हैं।
  • स्तंभन दोष को दूर करने के लिए रात में प्रतिदिन 1 गिलास गुनगुना दूध अवश्य लें।
  • लिंग की नसों की कमजोरी दूर करने के लिए प्रतिदिन योगा, आसन एवंं व्यायाम अवश्य करें।
  • भरपूर नींद यानि की रोज 6 से 8 घण्टे की नींद अवश्य लें।

लींग कमजोरी की दवा-

यदि आप प्रतिदिन वर्कआउट करते हैं और एथलीट और बॉडी विल्डर्स की तरह दिखने के लिये एनाबॉलिक स्टेरॉएड का इस्तेमाल कर रहे हैं लेकिन रिसर्च बताती है कि यह Anabolic steroids स्तंभन दोष (इरेक्‍टाइल डिसफंक्‍शन) की सम्भावना को बढा देती है। इनके प्रयोग से अंडकोश में सिकुड़न आ जाती है।

जिसके चलते शरीर मे टेस्टोस्टेरान कम बनाता है और पेनिस सख्त नहीं होने की समस्या का सामना करना पडता है। बाजार में विभिन्न प्रकार की अंग्रेजी (एलोपैथिक) दवांए मौजूद हैं, जिनका प्रयोग कर आप लिंग की नसों की कमजोरी से दूर कर सम्भोग के समय चरम सुख प्राप्त कर सकते हैं। ये दवायें यौन उत्तेजना विकसित करने वाले सिग्नल को बढा कर लंड को लम्बे समय के लिये खडा कर देती हैं परन्तु इन दवाओं के सेवन से सर दर्द, पेट खराब होना आदि समस्या उत्पन्न हो जाती है।

  • एलप्रोस्टेडिल (कवरजेक्ट)
  • वर्डेनफिल (लेविट्रा)
  • सिल्डेनाफिल (वियाग्रा)
  • तडालफिल (सीआलिस)
  • अवानफिल (स्टेनडरा)

निष्कर्ष

आज के समय प्रत्येक व्यक्ति शारीरिक कमजोरी के कारण विभिन्न प्रकार की समस्याओं से जूझ रहा है शरीर में विभिन्न प्रकार की कमजोरी होने के कारण प्रत्येक पुरुष को किसी ना किसी प्रकार की सेक्स समस्या का सामना करना पड़ रहा है यह आजकल के बदलते मौसम तथा वातावरण के कारण हो रहा है क्योंकि आधुनिक वातावरण अत्यधिक प्रदूषित हो गया है जिसके कारण व्यक्ति को पर्याप्त पोषक तत्व प्राप्त नहीं हो पाते हैं जिससे उसे शारीरिक कमजोरी तथा विभिन्न प्रकार की बीमारियां हो जाती हैं जिनके कारण पुरुषों में विभिन्न प्रकार के सेक्स समस्याएं हो जाती लगते हैं उपरोक्त लेख में लिंग की नसों का ढ़ीलापन की समस्या को दूर करने के विभिन्न उपाय बताए गए हैं जिनके द्वारा होने वाली समस्या को दूर किया जा सकता है।

FAQ

ढीलापन दूर करने का क्या उपचार है लिंग की नसों का?

लिंग की नसों का ढीलापन दूर करने के लिए उपरोक्त लेख में विभिन्न प्रकार के आयुर्वेदिक दवाओं का वर्णन किया गया है जिनके द्वारा आप होने वाले शारीरिक कमजोरी के कारण लिंग के नसों में ढीलेपन की समस्या को दूर कर सकते हैं। 

कमजोरी कैसे दूर की जाती है लिंग की नसों की?

लिंग की नसों की कमजोरी दूर करने के लिए उपरोक्त लेख में विभिन्न प्रकार के घरेलू तथा आयुर्वेदिक दवाइयां बताइए जिनका प्रयोग करके लिंग की नसों में होने वाली समस्या को ठीक किया जा सकता है यदि आप लिंग की नसों की कमजोरी को दूर करना चाहते हैं तो आप लेख में बताए गए नुस्खों का पालन कर सकते हैं।

Leave a Comment