कैप्सूल शीघ्र स्खलन की पतंजलि दवा का नाम | पहले दिन से दिखे असर

सेक्स क्रिया के दौरान स्त्री तथा पुरुष दोनों का संतुष्ट होना अति आवश्यक होता है, यदि स्त्री और पुरुष सेक्स क्रिया के दौरान एक दूसरे से संतुष्ट होते हैं, उसे ही पूर्ण संभोग क्रिया कहते हैं। आजकल के इस प्रदूषित वातावरण में लोगों का रहन-सहन तथा खान पान इतना खराब हो गया है, कि उनको पर्याप्त शारीरिक पोषण नहीं मिल पाता है। जिसके कारण सेक्स क्रिया करते समय पुरुषों को विभिन्न प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। आज हम एक ऐसी समस्या के बारे लेख में जानकारी देंगे जो लगभग हर तीसरे व्यक्ति की समस्या है, जिसे शीघ्र स्खलन या शीघ्रपतन के नाम से जाना जाता है। इस समस्या के कारण पुरुष अपनी महिला साथी को सेक्स क्रिया में संतुष्ट नहीं कर पाते हैं, जिसके कारण उनके आपसी रिश्ते खराब होने लगते हैं, तथा उनमें मतभेद हो जाता है। इन सभी समस्याओं से बचने के लिए आज हम आपको कुछ कैप्सूल शीघ्र स्खलन की पतंजलि दवा का नाम तथा उपयोग के बारे में जानकारी देंगे जिनकी सहायता से शीघ्र स्खलन की समस्या को समाप्त किया जा सकता है।

Best Buy









पतंजलि मूसली पाक



  • आयुर्वेदिक
  • No Side Effect
  • पूर्णरूप से आयुर्वेदिक
Budget Pick









पतंजलि श्वेत मूसली चूर्ण



  • अधिक असरदार
  • 100% असरदार
  • सुरक्षित
Trending Buy









 दिव्य अश्वगंधा कैप्सूल



  • पूर्ण सुरक्षित
  • पूर्णरूप से फायदेमंद
  • अद्भुत परिणाम

 शीघ्र स्खलन क्या है

 शीघ्र स्खलन क्या है

पुरुष तथा महिला के सेक्स क्रिया करते समय पुरुष का महिला के संतुष्ट होने से पहले वीर्यपात हो जाना शीघ्र स्खलन कहलाता है।  किंतु शीघ्र स्खलन का समय हर व्यक्ति के लिए अलग अलग हो सकता है। शीघ्र स्खलन का समय व्यक्ति के शारीरिक संरचना, शारीरिक शक्ति, वातावरण तथा मानसिक दशा पर निर्भर करती है। भारतीय पुरुषों में सेक्स के दौरान वीर्य स्खलन का समय 3 से 4 मिनट होता है। यदि कोई पुरुष 2 मिनट के अंदर सेक्स क्रिया के दौरान स्खलित हो जाता है तो उसे हम शीघ्र स्खलन कह सकते हैं। किंतु यदि कोई पुरुष दो से अधिक मिनट तक सेक्स क्रिया कर लेता है, तो वह पुरुष शीघ्र स्खलन की श्रेणी में नहीं आता है। 

शीघ्र स्खलन के कारण

पुरुषों का महिलाओं के साथ सेक्स करते समय अधिक देर तक सेक्स ना कर पाए जरूरी नहीं कि वह व्यक्ति शीघ्र पतन का शिकार हो विभिन्न प्रकार के अन्य रोगों तथा शारीरिक कमजोरी के कारण भी पुरुष महिलाओं के साथ अधिक समय तक सेक्स क्रिया नहीं कर पाते हैं, जिसके कारण महिलाएं संतुष्ट नहीं हो पाती हैं, इसके अलावा बहुत सारी महिलाओं में कामोत्तेजना बहुत अधिक होती है जिसके कारण वे  संतुष्ट होने में बहुत अधिक समय लगाती हैं, और पुरुष उन्हें सामान्य समय में सेक्स करके संतुष्ट नहीं कर पाते हैं। इसका मतलब यह नहीं है कि वह पुरुष शीघ्रपतन का शिकार है, सामान्य तौर पर यदि कोई पुरुष 2 मिनट से अधिक सेक्स कर लेता है तो वह शीघ्रपतन का शिकार नहीं है। किंतु कोई पुरुष यदि 2 मिनट सेक्स क्रिया नहीं कर पाता है और वह 2 मिनट के अंदर ही वीर्यपात कर देता है उसे शीघ्र स्खलन कहते हैं।

शीघ्र स्खलन के कारण

पुरुषों में होने वाली शीघ्रपतन की समस्या बहुत ही गंभीर समस्या है, इस के सामान्य लक्षण कुछ भी हो सकते हैं, क्योंकि मुख्य रूप से इसके कोई भी कारण नहीं होते हैं। किंतु कुछ कारण नीचे दिए गए जिनके कारण शीघ्रपतन की समस्या हो सकती है। शीघ्र स्खलन की समस्या में मुख्य कारणों में शारीरिक कमजोरी तथा मानसिक दशा की स्थिति होती है, जिन पर निर्भर करता है कि व्यक्ति कितने समय तक सेक्स कर पाएगा। कुछ ज्ञात कारण निम्नलिखित हैं जिनके द्वारा शीघ्र स्खलन को जिम्मेदार माना जा सकता है

  • मस्तिष्क के असामान्य स्तर न्यूरोट्रांसमीटर सेरोटोनिन।
  • एम्फ़ैटेमिन, कोकीन और डोपामिनर्जिक दवाओं जैसी दवाओं के कारण।
  • डिप्रेशन होने के कारण। 
  • घबराहट होने के कारण।
  • मानसिक तनाव होने के कारण। 
  • प्रोस्टेट या मूत्रमार्ग की सूजन के कारण। 
  • मूत्रमार्ग में संक्रमण जैसे कि क्रोनिक प्रोस्टेटाइटिस के कारण।
  • लिंग में उत्तेजना के लिए अधिक संवेदनशीलता होने के कारण।
  • आत्मविश्वास की कमी होने के कारण।
  • यौन शोषण होने के कारण।
  • शारीरिक रूप से कमजोर होने के कारण।
  • टेस्टोस्टेरोन हार्मोन की कमी के कारण।
  • वीर्य में शुक्राणुओं की कमी के कारण।
  • किसी विशेष प्रकार की बीमारी से ग्रसित होने के कारण।
  • शराब तथा धूम्रपान  का सेवन अधिक मात्रा में करने के कारण।

शीघ्रपतन होने के लक्षण

शीघ्रपतन होने के लक्षण

यदि कोई पुरुष शीघ्रपतन की समस्या से परेशान है, और वह अपनी महिला साथी के साथ सेक्स करने में असमर्थ है, या फिर अपनी महिला साथी को सेक्स किया में संतुष्ट नहीं कर पा रहा है। यदि कोई पुरुष सेक्स क्रिया प्रारंभ करने के 2 मिनट के अंदर ही स्खलित हो जाता है, ऐसे लक्षण शीघ्र स्खलन शीघ्रपतन के हो सकते हैं शीघ्रपतन की समस्या से पीड़ित व्यक्तियों में कोई स्थाई लक्षण नहीं होते हैं। किंतु कुछ लक्षण होते हैं जो निम्नलिखित हैं 

  • 2 मिनट के अंदर ही स्खलित हो जाना।
  • सेक्स के लिए तैयार न होना। 
  • लिंग में पर्याप्त तनाव न आना।
  • कामेच्छा का कम हो जाना। 
  • सांसों का जल्दी फूलने लगना। 
  • जल्दी थकान हो जाना। 
  • संभोग क्रिया शुरू होते ही वीर्यपात हो जाना।

शीघ्र स्खलन का रामबाण इलाज पतंजलि दवा 

भारतीय पुरुषों में सेक्स शीघ्र स्खलन की समस्या बहुत बड़ी समस्या है, क्योंकि लगभग 40% भारतीय पुरुष इस समस्या से परेशान हैं प्राकृतिक पर्यावरण तथा प्रदूषित खान-पान के कारण व्यक्तियों में पर्याप्त शारीरिक शक्ति ना होने के कारण यह समस्या अधिक मात्रा में हो रही है। इसके कई अन्य कारण ही हैं किंतु अधिक मात्रा में शारीरिक कमजोरी  शीघ्र पतन का कारण हो गई है। इन सभी समस्याओं को देखते हुए पतंजलि आयुर्वेद में आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों द्वारा इस समस्या का हल निकाला है, जिसमें दिव्य फार्मेसी की सहायता से विभिन्न प्रकार की आयुर्वेदिक दवाओं का निर्माण किया है। जिसके द्वारा शीघ्रपतन की समस्या को ठीक किया जा सकता है। यह पतंजलि आयुर्वेदिक दवाएं निम्नलिखित हैं

  • पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल
  • दिव्य अश्वगंधा कैप्सूल
  • पतंजलि मूसली पाक
  • दिव्य शतावर चूर्ण
  • पतंजलि यौवन चूर्ण 
  • पतंजलि अश्वशिला कैप्सूल 
  • पतंजलि श्वेत मूसली चूर्ण 
  • शुद्ध कौंच बीज चूर्ण 
  • दिव्य  वांग भस्म
  • पतंजलि बादाम पाक

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल

शिलाजीत प्राचीन काल से ही सेक्स समस्याओं के लिए प्रयोग की जाने वाली एक आयुर्वेदिक औषधि है, जिस का उत्पादन प्राकृतिक रूप से ऊंची पहाड़ियों तथा गुफा के अंदर होता है शिलाजीत को पहचानना तथा उसको प्राप्त करना बहुत कठिन कार्य होता है। शिलाजीत को प्राप्त करना जितना कठिन होता है, उसके फायदे उतने ही अधिक होते हैं। शिलाजीत हमारे शरीर को शक्ति देने वाला एक आयुर्वेदिक रसायन है, जो हमें शीघ्रपतन जैसी समस्या से बचाता है। शिलाजीत चयापचय में मदद करता है और शरीर में ऊर्जा का उत्पादन बढ़ाता है। यह अपचय और उपचय में संतुलन भी बनाए रखता है। यह रक्त के निर्माण और शरीर के अंगों के कामकाज में भी मदद करता है। पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल बुखार, सामान्य कमजोरी, भूख कम लगना जैसे लक्षणों से राहत देने में मदद करता है। शिलाजीत का मुख्य कार्य शारीरिक शक्ति को बढ़ाना होता है, जिसके कारण शीघ्रपतन की समस्या दूर हो जाती है। जिन व्यक्तियों में शीघ्रपतन की समस्या होती है, उनको दैनिक रूप से शिलाजीत कैप्सूल का प्रयोग करना चाहिए।

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल

 पतंजलि शिलाजीत खाने के फायदे

  • कमजोर शारीरिक शक्ति को दूर करने के लिए दैनिक रूप से शिलाजीत का प्रयोग करना चाहिए।
  • शीघ्रपतन तथा शीघ्र स्खलन की समस्या को दूर करने के लिए पतंजलि शिलाजीत का प्रयोग किया जा सकता है। 
  • पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल बुखार, सामान्य कमजोरी, भूख कम लगना जैसे लक्षणों से राहत देने में मदद करता है।
  • पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल रक्त के निर्माण और शरीर के अंगों के कामकाज में भी मदद करता है।
  • पतंजलि शिलाजीत हमारे मस्तिष्क को स्वस्थ रखने में अहम भूमिका निभाती है।
  • पतंजलि शिलाजीत स्मरण शक्ति को बढ़ाने में भी सहायता है।
  • नपुंसकता और मर्दाना ताकत के लिए पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल का प्रयोग किया जा सकता है।
  • ब्लड प्रेशर बढ़ाने के लिए शिलाजीत कैप्सूल का प्रयोग किया जा सकता है।
  • पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल रक्त में ग्लूकोज के स्तर को कम करने में सहायक है।
  • पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल शरीर में कैंसर सेल्‍स को बढ़ने से रोकती है।

दिव्य अश्वगंधा कैप्सूल

अश्वगंधा का प्रयोग शीघ्रपतन तथा शीघ्र स्खलन की समस्या को दूर करने के लिए किया जाता है। अश्वगंधा प्रकृति में पाए जाने वाला एक ऐसा पौधा है, जिसकी जड़ों से घोड़े जैसी गंध आती है, इसलिए इसका नाम अश्वगंधा है। अश्वगंधा के पौधे में विभिन्न प्रकार के आयुर्वेदिक औषधि गुण होते हैं, जिनका प्रयोग प्राचीन काल से ही औषधि निर्माण में किया जा रहा है। अश्वगंधा में शारीरिक शक्ति को बढ़ाने के साथ साथ शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के गुण भी पाए जाते हैं, जिसके कारण हमारा शरीर विभिन्न प्रकार के रोगों से लड़ने के लिए सक्षम होता है।

दिव्य अश्वगंधा कैप्सूल

अश्वगंधा हमारे शरीर के खून में वाइट ब्लड सेल्स तथा रेड ब्लड सेल्स को बढ़ाता है, जिसके कारण हमारे शरीर में रक्त की कमी नहीं होती है और हमारा शरीर स्वस्थ रहता है। अश्वगंधा पुरुषों के लिए अच्छा होता है। इससे टेस्टोस्टेरोन का स्तर बढ़ता है और प्रजनन क्षमता में सुधार होता है जिससे पुरुषों में स्तंभन दोष का इलाज अत्यधिक प्रभावी है, जो सेक्स ड्राइव को बेहतर बनाने में मदद करती है। एक शक्तिशाली जड़ी बूटी तनाव और चिंता से राहत देती है।

दिव्य अश्वगंधा के प्रयोग के फायदे

  • अश्वगंधा का प्रयोग शीघ्रपतन की समस्या को दूर करने के लिए किया जाता है।
  • पुरुषों के सेक्स हार्मोन टेस्टोस्टेरोन के श्रवण को बढ़ाने के लिए दिव्य अश्वगंधा का प्रयोग किया जाता है।
  • रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए दिव्य अश्वगंधा टेबलेट का प्रयोग किया जाता है।
  • दिव्य अश्वगंधा टेबलेट ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखता है।
  • दिव्य अश्वगंधा टेबलेट कैंसर से लड़ने में सहायक होता है।
  • कोलेस्ट्रॉल लेवल को नियंत्रित करने के लिए दिव्य अश्वगंधा टेबलेट का प्रयोग करते हैं। 
  • तनाव दूर करने के लिए दिव्य अश्वगंधा टेबलेट का प्रयोग करते हैं। 
  • दिव्य अश्वगंधा टेबलेट एंग्जायटी दूर करता है।
  • दिव्य अश्वगंधा टेबलेट पुरुषों में प्रजनन क्षमता बढ़ाता है।

पतंजलि मूसली पाक

पतंजलि मूसली पाक सामान्य दुर्बलता के लिए एक आयुर्वेदिक स्वास्थ्य टॉनिक है और आंतरिक शक्ति को मजबूत करता है। मूसली की जड़ मोटी तथा गुच्छों में होती है। इसका कंद मीठा, कामोत्तेजक और कफ को कम करने में मदद करता है। यह स्तनों में दूध को बढ़ाने में मदद करता है। यहां तक सफेद मूसली मोटापा या ओबेसिटी, अर्श या पाइल्स, सांसों के रोग, खूनी की कमी या एनिमिया में भी लाभ पहुंचाता है। यह उपाय सात दिनों में ही अपना प्रभाव दिखाता है और पथरी गल जाती है। शारीरिक शिथिलता को दूर कर ऊर्जा को बढ़ाने में सफेद मूसली बेहद लाभकारी होती है, यही कारण है कि कई तरह की दवाइयों के निर्माण में सफेद मूसली का प्रयोग किया जाता है।

दिव्य सफेद मूसली पाक

पतंजलि मूसली पाक के उपयोग के फायदे

  • इरेक्टाइल डिसफंक्शन या शीघ्रपतन को ठीक करने के लिए पतंजलि मूसली पाक का प्रयोग करते हैं।
  • पतंजलि मूसली पाक का प्रयोग कम वजन को बढ़ाने के लिए फायदेमंद है।
  • पतंजलि मूसली पाक का प्रयोग प्रजनन क्षमता बढाने के लिए किया जाता है। 
  • ल्यूकोरिया ठीक करने के लिए पतंजलि मूसली पाक का प्रयोग किया जाता है।
  • शुक्राणुओं की संख्या बढाने के लिए पतंजलि मूसली पाक का प्रयोग किया जाता है। 
  • एंटीऑक्सीडेंट गुण होने के कारण पतंजलि मूसली पाक का प्रयोग रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढाने के लिए किया जाता है।
  • पतंजलि मूसली पाक का प्रयोग मांसपेशियों की थकान को कम करने में मदद करती है।

दिव्य शतावर चूर्ण 

शतावर का पौधा अनेक शाखाओं से युक्त काँटेदार लता के रूप में एक मीटर से दो मीटर तक लम्बा होता है। इसकी जड़ें गुच्छों के रूप में होतीं हैं। वर्तमान समय में इस पौधे पर लुप्त होने का खतरा है।शतावर चूर्ण का प्रयोग प्राचीन काल से ही पुरुषों ने सेक्स समस्याओं को ठीक करने के लिए  किया जाता है। सतावर में पुरुषों के शुक्राणुओं को बढ़ाने की पर्याप्त होती है शतावर के दैनिक प्रयोग से वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या बढती है, जिसके कारण  वीर्य गाढ़ा हो जाता है, और शीघ्रपतन की समस्या नहीं होती है।

दिव्य शतावर वटी

जिन पुरुषों में वीर्य के पतले होने के कारण शीघ्रपतन की समस्या होती है, तथा शीघ्रपतन के कारण वह अपने जीवनसाथी को सेक्स क्रिया में संतुष्ट नहीं कर पाते हैं, उन पर दैनिक रूप से अपने वीर्य को गाढ़ा करने के लिए शतावरी चूर्ण का प्रयोग करना चाहिए। शतावरी चूर्ण का नियमित सेवन पेट में एसिड के स्तर को कम करने में मदद करता है, और इसके सीता (ठंड) और रोपन (उपचार) गुणों के कारण जल्दी ठीक होने में मदद करता है।

दिव्य शतावर चूर्ण के उपयोग के फायदे

  • पेट की ​गैस्ट्रिक समस्याओं को दूर करने के लिए दिव्य शतावर चूर्ण का प्रयोग किया जाता है।
  • दिव्य शतावर चूर्ण का प्रयोग प्रजनन क्षमता बढाने के लिए किया जाता है।
  • वजन बढ़ाने में लाभकारी है दिव्य शतावर चूर्ण का प्रयोग करते है।  
  • दिव्य शतावर चूर्ण महिलाओं के लिए ​स्तनपान कराने में दूध बढाता है। 
  • दिव्य शतावर चूर्ण महिलाओं में ब्रेस्ट साइज बढाता है।  
  • दिव्य शतावर चूर्ण के प्रयोग से नींद ना आने की परेशानी खत्म होती है।
  • शतावर चूर्ण का प्रयोग पुरुषों में सेक्स क्षमता को बढ़ाने के लिए किया जाता है।
  • शतावरी चूर्ण का प्रयोग वीर्य को गाढ़ा बनाने के लिए किया जाता है।
  •  शतावरी चूर्ण में शरीर की सेक्स क्षमता को बढ़ाता है शीघ्रपतन की समस्या नहीं होती है।
  •  शारीरिक कमजोरी से पीड़ित व्यक्तियों को दैनिक रूप से शतावरी चूर्ण का प्रयोग करना चाहिए।

पतंजलि यौवन चूर्ण

पतंजलि यौवन चूर्ण एक आयुर्वेदिक चूर्ण है और इसका इस्तेमाल खास करके पुरुषों की यौन स्वास्थ्य से संबंधित समस्याओं का इलाज करने के लिए किया जाता है। जी हां इसके सेवन से हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत होती है। तंजलि यौवन चूर्ण पूर्ण रूप से आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों से बनाया गया है, और यह पुरुषों की यौन कमजोरियों से लेकर शारीरिक दुर्बलता को दूर करने के फायदे देता है। इसके साथ-साथ यह इम्यूनिटी को बढ़ाता है और छोटी-मोटी बीमारियों को भी दूर कर देता है। अगर आप शादीशुदा है और यौन कमजोरी फील करते हैं तो आपको पतंजलि यौवन चूर्ण का सेवन करके देखना चाहिए। पतंजलि यौवन चूर्ण विभिन्न प्रकार की आयुर्वेदिक औषधियों का मिश्रण होता है जो मुख्य रूप से पुरुषों की समस्याओं को दूर करने के लिए बनाया गया है जो पुरुषों में होने वाले शीघ्रपतन तथा शीघ्र स्खलन की समस्या को दूर करता है या पूर्ण रूप से आयुर्वेदिक है।

पतंजलि यौवन चूर्ण

 पतंजलि यौवन चूर्ण के उपयोग के फायदे

  • पतंजलि युवान चूर्ण का प्रयोग शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए किया जाता है।
  • शीघ्रपतन सदा शीघ्र स्खलन की समस्या से बचने के लिए पतंजलि यौवन चूर्ण का प्रयोग किया जाता है।
  • पुरुषों में होने वाली नपुंसकता को दूर करने के लिए दिव्य पतंजलि यौवन चूर्ण का प्रयोग किया जाता है।
  • शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए दैनिक रूप से पतंजलि यौवन चूर्ण का प्रयोग करना चाहिए।
  • वजन बढ़ाने के लिए पतंजलि यौवन चूर्ण का प्रयोग किया जाता है। 
  • वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने के लिए दैनिक रूप से पतंजलि यौवन चूर्ण का प्रयोग किया जाता है।
  • पुरुषों में कमजोर प्रजनन क्षमता को दूर करने के लिए दैनिक रूप से पतंजलि यौवन चूर्ण का प्रयोग करना चाहिए।

पतंजलि अश्वशिला कैप्सूल

पतंजलि आयुर्वेद द्वारा निर्मित पतंजलि अश्वशिला कैप्सूल का प्रयोग शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए किया जाता है।  शारीरिक कमजोरी को दूर करने के साथ-साथ इसका प्रयोग विभिन्न प्रकार की सेक्स समस्याओं को दूर करने के लिए भी किया जाता है। मुख्य रूप से इसका कार्य शीघ्रपतन तथा शीघ्र स्खलन की समस्या को दूर करने के लिए बनाया गया है। पतंजलि अश्वशिला कैप्सूल अश्वगंधा तथा शिलाजीत का मिश्रण होता है, इसके साथ साथ में अन्य आयुर्वेदिक औषधि पदार्थ मिले होते हैं। अश्वगंधा और शिलाजीत मस्तिष्क कार्य प्रणाली के लिए काफी अच्छा हो सकता है। दरअसल, शिलाजीत में न्यूरोप्रोटेक्टिव एजेंट पाया जाता है, जो आपके मस्तिष्क स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छा माना जाता है। इसके साथ ही यह आपके याददाश्त को भी बढ़ाने में असरदार हो सकता है। जिन व्यक्तियों में  शीघ्रपतन तथा शीघ्र स्खलन की समस्या होती है उनको दैनिक रूप से पतंजलि अश्वशिला कैप्सूल का प्रयोग करना चाहिए।

पतंजलि अश्वशिला कैप्सूल

पतंजलि अश्वशिला कैप्सूल के उपयोग के फायदे

  • पतंजलि अश्वशिला कैप्सूल का प्रयोग शीघ्रपतन की समस्या को दूर करने के लिए किया जाता है।
  • शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए पतंजलि अश्वशिला कैप्सूल का प्रयोग किया जाता है।
  • लिंग को लंबा मोटा करने के लिए पतंजलि अश्वशिला कैप्सूल का प्रयोग करना चाहिए।
  • पुरुषों को बढ़ाने के लिए पतंजलि अश्वशिला कैप्सूल का प्रयोग किया जाता है।
  • पतंजलि अश्वशिला कैप्सूल का प्रयोग स्पर्म काउंट बढ़ाने के लिए किया जाता है।
  • शरीर का वजन बढ़ाने के लिए दैनिक रूप से पतंजलि अश्वशिला कैप्सूल का प्रयोग करना चाहिए।
  • पतंजलि अश्वशिला कैप्सूल के सेवन से रोग प्रतिरोधक क्षमता का विकास होता है।
  • पतंजलि अश्वशिला कैप्सूल के सेवन से आपका दिल स्वस्थ रहता है।

पतंजलि श्वेत मूसली चूर्ण

 श्वेत मूसली चूर्ण का प्रयोग शारीरिक क्षमता को बढ़ाने के लिए किया जाता है। जिन व्यक्तियों में  शीघ्रपतन तथा शीघ्र स्खलन की समस्या होती है, उनके लिए आयुर्वेदिक औषधि पतंजलि श्वेत मूसली एक रामबाण औषधि है। श्वेत मूसली में शारीरिक शक्ति को बढ़ाने की क्षमता होती है, जिसके कारण शरीर में होने वाले कमजोरी दूर हो जाती है, और हमारा शरीर मैं रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाती है। जिसके कारण हमारा शरीर विभिन्न प्रकार के रोगों से लड़ने के लिए तैयार हो जाता है, और हमारे शरीर में कोई रोग नहीं होने पाता है, शारीरिक शिथिलता को दूर कर ऊर्जा को बढ़ाने में सफेद मूसली बेहद लाभकारी होती है, यही कारण है कि कई तरह की दवाइयों के निर्माण में सफेद मूसली का प्रयोग किया जाता है। जिन व्यक्तियों में कमजोर शारीरिक शक्ति के कारण सेक्स समस्याओं शीघ्रपतन तथा शीघ्र स्खलन होता है उनको दैनिक रूप से पतंजलि श्वेत मूसली चूर्ण का प्रयोग करना चाहिए जिस से होने वाली समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है।

पतंजलि श्वेत मूसली चूर्ण

एक ऐसी शक्तिवर्धक जड़ी-बूटी है जिसका मुख्य इस्तेमाल सेक्स पावर बढ़ाने के लिए किया जाता है। सफेद मूसली के फायदे सिर्फ सेक्स क्षमता बढ़ाने तक ही सीमित नहीं है बल्कि यह गठिया, डायबिटीज, यूटीआई आदि बीमारियों को दूर करने में भी उपयोगी है।

 पतंजलि श्वेत मूसली के उपयोग के फायदे

  • पतंजलि मूसली चूर्ण को शारीरिक शक्ति के विकास के लिए प्रयोग किया जाता है।
  • शीघ्रपतन तथा से दुश्मन की समस्या से बचने के लिए पतंजलि मूसली चूर्ण का प्रयोग किया जाता है।
  • पुरुषों में प्रजनन क्षमता को बढ़ाने के लिए दैनिक रोग के पतंजलि सफेद मूसली चूर्ण का प्रयोग करना चाहिए।
  • पुरुषों में पतले वीर्य की समस्या को दूर करने के लिए पतंजलि सफेद मूसली चूर्ण का प्रयोग किया जाता है।
  • शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए श्वेत मूसली चूर्ण का प्रयोग करते हैं।
  • पतंजलि दिव्य श्वेत मूसली चूर्ण का प्रयोग  डायबिटीज को ठीक करने के लिए किया जाता है।
  • पतंजलि दिव्य श्वेत मूसली चूर्ण का प्रयोग लिकोरिया की समस्या को दूर करने के लिए किया जाता है।

शुद्ध कौंच बीज चूर्ण

शुद्ध कौंच के बीज का प्रयोग  सेक्स क्षमता बढ़ाने के लिए प्रयोग किया जाता है जिन व्यक्तियों में शारीरिक कमजोरी के साथ-साथ विभिन्न प्रकार की समस्याएं होती हैं। जिनके कारण वे अपने महिला जीवन साथी के साथ सही से सेक्स नहीं कर पाते हैं। उनके लिए कोच बीज का चूर्ण बहुत ही फायदेमंद होता है। शीघ्रपतन तथा शीघ्र स्खलन की समस्या को दूर करने के लिए कौंच के बीज का चूर्ण प्रयोग किया जाता है। कौंच के बीज सेक्स पावर बढ़ाने के लिए वरदान माने जाते हैं। इसके कुछ दिनों का सेवन करने से ही कमजोरी, नामर्दी, ढीलापन और शीघ्रपतन जैसी समस्याएं बहुत जल्दी दूर होती हैं। कौंच के बीजों का सेवन करने से पुरुष अधिक शक्तिशाली भी होते हैं। इसका सेवन मसल्स बढ़ाने और वजन बढ़ाने के लिए भी किया जाता है। जिन व्यक्तियों में शीघ्रपतन की समस्या होती है उनको दैनिक रूप से कौंच के बीज के चूर्ण का प्रयोग करना चाहिए जिससे उनमें होने वाली शीघ्रपतन की समस्या के साथ-साथ अन्य सेक्स समस्याएं भी ठीक हो जाती हैं।

शुद्ध कौंच बीज चूर्ण

शुद्ध कौंच के बीज चूर्ण के उपयोग के फायदे

  • पुरुषों में होने वाली शीघ्रपतन की समस्या को दूर करने के लिए शुद्ध कौंच के बीज चूर्ण का उपयोग करते हैं।
  • पुरुषों में नपुंसकता को दूर करने के लिए देने से शुद्ध कौंच के बीज के चूर्ण का प्रयोग करना चाहिए।
  •  शारीरिक शक्ति बढ़ाने के लिए पहने हुए शुद्ध कौंच के बीज का चूर्ण खाना चाहिए।
  •  लिंग के ढीलेपन को दूर करने के लिए कौंच के बीज का चूर्ण उपयोगी होता है।
  •  शारीरिक कमजोरी को दूर करने के कौंच के बीज के चूर्ण का प्रयोग करना चाहिए।
  •  शरीर के वजन को बढ़ाने के लिए दैनिक रूप से कौंच के बीज के चूर्ण का प्रयोग करना चाहिए।
  •  पुरुषों में कमजोर प्रजनन क्षमता को बढ़ाने के लिए दैनिक रूप से पहुंचकर बीज का चूर्ण का प्रयोग करना चाहिए।
  •  वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने के लिए कौंच के बीज का चूर्ण उपयोगी है।

दिव्य वांग भस्म

दिव्य वांग भस्म का प्रयोग विभिन्न प्रकार की सेक्स समस्याओं को दूर करने के लिए किया जाता है जिन व्यक्तियों में शारीरिक कमजोरी होने के कारण सेक्स करते समय शीघ्रपतन तथा शीघ्र स्खलन जैसी समस्याएं होती हैं, उनको दैनिक रूप से दिव्य वांग भस्म का प्रयोग करना चाहिए। दिव्य वांग भस्म  विभिन्न प्रकार के धातुएं के साथ-साथ अन्य आयुर्वेदिक पदार्थ होते हैं। वांग टिन को कहते हैं दिव्य वांग भस्म में  टीन, एलोवेरा तथा पीपल के आयुर्वेदिक औषधि गुण उपलब्ध होते हैं, जिनके कारण यह शरीर को शक्ति प्रदान करता है, और शरीर को मजबूत बनाता है। शीघ्रपतन तथा शीघ्र स्खलन की समस्या को दूर करने के लिए दैनिक रूप से दिव्य वांग भस्म का प्रयोग करना चाहिए। दिव्य वांग भस्म में पुरुषों के वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाकर वीर्य को गाढ़ा करते हैं, जिसके कारण शीघ्रपतन तथा शीघ्र स्खलन की समस्या नहीं होती है।

दिव्य वांग भस्म

दिव्य वांग भस्म के उपयोग के फायदे

  • दिव्य वांग भस्म  का प्रयोग शीघ्रपतन तथा शीघ्र स्खलन की समस्या को दूर करने के लिए किया जाता है।
  • वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने के लिए दिव्य वांग भस्म  का प्रयोग किया जाता है।
  • पुरुषों में कमजोर प्रजनन क्षमता को दूर करने के लिए दिव्य वांग भस्म का प्रयोग करते हैं।
  • कमजोर शारीरिक शक्ति को मजबूत बनाने के लिए दिव्य वांग भस्म का प्रयोग कर सकते हैं।
  • कामेच्छा को बढ़ाने के लिए दिव्य वांग भस्म  का प्रयोग करते हैं।
  • पुरुषों में होने वाले नपुंसकता को दूर करने के लिए दिव्य वांग भस्म  का प्रयोग किया जाता है।
  • महिलाओं में पीरियड के दौरान होने वाली ब्लीडिंग को रोकने के लिए दिव्य वांग भस्म  का प्रयोग किया जाता है।

पतंजलि बादाम पाक

पतंजलि बादाम पाक शरीर में शक्ति का संचार करता है जिसके कारण हमारे शक्ति शरीर में होने वाली शारीरिक दुर्बलता दूर हो जाती है जिन व्यक्तियों का शरीर शक्ति के कारण कमजोर होता है उनके लिए बादाम पाक एक रामबाण औषधि होती है। बादाम पाक शरीर की कमजोरी को दूर करके शरीर में सेक्स क्षमता को बढ़ाता है जिसके कारण होने वाली शीघ्र स्खलन तथा शीघ्रपतन  की बीमारी समाप्त हो जाती है। बादाम पाक के सेवन से पूरा शरीर पुष्ट व बलवान बना रहता है। बल वीर्य और सभी धातुएं पुष्ट होती हैं, दिल-दिमाग को पुष्टि व शक्ति प्राप्त होती है, यौनशक्ति व सामर्थ्य की वृद्धि होती है तथा नपुंसकता दूर होती है। ध्वजभंग, स्वप्नदोष और शीघ्रपतन आदि यौन रोगों को दूर करने के लिए बादाम पाक का सेवन करना बहुत लाभ करने वाला सिद्ध होता है। शीघ्रपतन  तथा शीघ्र स्खलन की बीमारी से पीड़ित व्यक्तियों को दैनिक रूप से पतंजलि बादाम पाक का सेवन करना चाहए।

पतंजलि बादाम पाक

पतंजलि बादाम पाक के उपयोग के फायदे

  • पतंजलि बादाम पाक के दैनिक प्रयोग से शीघ्रपतन की बीमारी को ठीक किया जा सकता है।
  • शारीरिक दुर्बलता को दूर करने के लिए दैनिक रूप से पतंजलि बादाम पाक का प्रयोग करना चाहिए।
  • जिन व्यक्तियों में वीर्य के पतलेपन की समस्या होती  उनको दैनिक रूप से बादाम पाक का प्रयोग करना चाहिए।
  • पुरुषों में होने वाली कमजोर प्रजनन क्षमता को बढ़ाने के लिए बादाम पाक का प्रयोग किया जाता है।
  • स्मरण शक्ति बढ़ाने के लिए दैनिक रूप से पतंजलि बादाम पाक का प्रयोग करना चाहिए।
  • सर दर्द की समस्या को ठीक करने के लिए बादाम पाक का प्रयोग किया जाता है।
  • नेत्र रोग की समस्या को ठीक करने के लिए दैनिक रूप से बादाम पाक का प्रयोग करना चाहिए।
  • पुरुषों में नपुंसकता को दूर करने के लिए बादाम पाक का प्रयोग किया जाता है। 
  • स्वप्नदोष की समस्या को ठीक करने के लिए दैनिक रूप से  पतंजलि बादाम पाक का प्रयोग करना चाहिए।

आज के इस दौड़ दौड़ भरी जिंदगी में  तथा प्रदूषित वातावरण के कारण जो व्यक्ति शारीरिक कमजोरी के कारण होने वाली समस्याओं से लड़ रहे हैं उनमें से लगभग 40% लोग शीघ्रपतन तथा शीघ्र स्खलन की समस्या से पीड़ित रहते हैं। इन सेक्स समस्याओं से पीड़ित होने के कारण यह व्यक्ति मानसिक बीमारियों का शिकार हो जाते हैं, क्योंकि इनको विभिन्न स्थानों पर शर्मिंदगी का अहसास होता है। यह अपने महिला जीवनसाथी को सेक्स क्रिया में संतुष्ट नहीं कर पाते हैं, जिसके कारण इनके आप से रिश्ते खराब हो जाते हैं। इन सभी समस्याओं से बचने के लिए उपयुक्त लेख में आज हमने कुछ कैप्सूल शीघ्र स्खलन की पतंजलि दवा का नाम तथा उपयोग विधि व फायदों की जानकारी दी है जिनके सहायता से आप होने वाली शीघ्रपतन जैसे समस्या को ठीक कर सकते हैं। यह दवाइयां पूर्ण रूप से आयुर्वेदिक तथा सेक्स समस्याओं के लिए रामबाण औषधि हैं।

FAQ

स्खलन से पहले आदमी को कितने समय तक रहना चाहिए?

सामान्य रूप से भारतीयों में सेक्स टाइमिंग 4 से 5 मिनट की होती है किंतु यदि कोई व्यक्ति 2 मिनट तक लगातार सेक्स करता है उसके बाद वह स्खलन होता है, इसका मतलब है कि वह शीघ्रपतन की समस्या से पीड़ित नहीं है, हो सकता है कि किसी शारीरिक कमजोरी के कारण वह अधिक समय तक सेक्स क्रिया नहीं कर पा रहा उपर्युक्त लेख में विभिन्न प्रकार के दवाओं का वर्णन किया गया है। जिस के अध्ययन के पश्चात दवाओं का प्रयोग करके आप अपनी सेक्स टाइमिंग को बढ़ा सकते हैं और यदि शीघ्रपतन की समस्या है तो उसे दूर कर सकते हैं। 

शीघ्रपतन का मुख्य कारण क्या है?

शीघ्रपतन का मुख्य कारण शारीरिक कमजोरी तथा मानसिक कमजोरी होती है जिन व्यक्तियों में शारीरिक कमजोरी होती है जिसके कारण उनके अंदर की सेक्स क्षमता बहुत कम होती है, इसके कारण सेक्स करते समय उन्हें वीर्यपात बहुत शीघ्र हो जाता है। शारीरिक कमजोरी के साथ-साथ अन्य विभिन्न प्रकार की समस्याओं के कारण भी शीघ्रपतन की समस्या हो सकती है। उपरोक्त लेख में विभिन्न प्रकार की समस्याओं की जानकारी दी गई है, जिनके कारण शीघ्रपतन की समस्या होती है जिस के अध्ययन के पश्चात आप दवाओं का प्रयोग करके शीघ्रपतन की समस्या ठीक कर सकते हैं। यदि आप शारीरिक रूप से मजबूत रहेंगे तो हो सकता है आपको शीघ्रपतन की समस्या ना हो किंतु यह निश्चित नहीं है कि शारीरिक कमजोरी के कारण ही शीघ्रपतन की समस्या होती है इसके अन्य भी बहुत सारे कारण होते हैं।

शीघ्रपतन के लिए सबसे अच्छी दवा कौन सी है?

शीघ्रपतन एक ऐसी समस्या है जिसमें व्यक्ति सेक्स क्रिया करते समय उन्हें महिला जीवनसाथी के संतुष्ट होने के पहले ही वीर्यपात कर देता है जिसके कारण सेक्स क्रिया पूर्ण नहीं हो पाती है और महिला जी आप साथी संतुष्ट नहीं हो पाती है शीघ्रपतन को दूर करने के लिए उपरोक्त लेख में विभिन्न प्रकार की आयुर्वेदिक पतंजलि दवाओं का वर्णन किया गया है जिनके प्रयोग अध्ययन के पश्चात प्रयोग करने से शीघ्रपतन की समस्या को जड़ से ठीक किया जा सकता है।

Leave a Comment