Oral Sex क्या है | पुरुषों को ओरल सेक्स क्यों होता है पसंद जाने कुछ बातें

आईए हमलोग जानते हैं की Oral Sex क्या है। भारतीय समाज में मौखिक यौन क्रिया (Oral Sex in Hindi) का विचार कोई नयी बात नहीं है। पुराने समय से ही रोम, ग्रीक, मिस्त्र और तो और भारत देश में भी स्त्री एवं पुरुष मुख मैथुन (Mukh Maithun) करते चले आ रहे हैं। खजुराहो मंदिर, अजंता एलोरा केव्स तथा प्राचीन काल की पेन्टिंग्स में भी स्त्री एवं पुरुष को Oral Sex करते हुए दिखाया गया है, इसके अलावा कामसूत्र के पूरे चैप्टर में Oral Sex (ओरल सेक्स) का विस्तृत विवरण उपलब्ध कराया गया है।

वैसे तो जब भी सेक्स की बात आती है तो Intercourse (संभोग) को ही विचार मन में आता है बल्कि Sex का मतलब इससे कहीं अधिक है। इंटरकोर्स के अलावा भी अन्य उपाय हैं जैसे Foreplay (संभोग से पूर्व की क्रीडा), Oral Sex (मुंह में सेक्स), Vaginal Sex, Anal Sex जिनका प्रयोग कर आप और आपका साथी शारीरिक सुख प्राप्त कर सकते हैं। शारीरिक संबंध बनाते समय एक पुरुष तो आसानी से चरमसुख (Climax) पर पहुँच जाता है परन्तु एक स्त्री को क्लाइमेक्स इतनी आसानी से प्राप्त नहीं होता है, इसलिए ऐसी स्थिति में कपल्स को ओरल सेक्स काफी मदद करता है।

ओरल सेक्स क्या है? What Is Oral Sex?

Oral Sex क्या है

आईए हमलोग जानते हैं की Oral Sex क्या है। Oral Sex (मुख मैथुन) जैसा कि नाम से ही स्पष्ट हो रहा है, शारीरिक सुख प्राप्त करने की एक ऐसी यौन प्रक्रिया (Sexual Activity) है जिसमें महिला एवम् पुरुष द्वारा अपने मुंह से एक दूसरे के जननांगो (Genitals) को उत्तेजित (Stimulate) करना होता है, अर्थात् स्त्री एवं पुरुष द्वारा अपनी जीभ, होंठ, मुँह, दाँत का प्रयोग कर एक दूसरे के जननांग लिंग, योनि, वल्वा या क्लिटोरिस, या गुदा (एनीलिंगस) तथा अन्य संवेदनशील हिस्सों (Sensitive Part) को उत्तेजित करना।

जैसे हम पार्टनर के न होने पर हस्तमैथुन (Masturbation) कर स्वयं को सेक्स सुख प्रदान करते हैं। उसी प्रकार ओरल सेक्स भी सेक्स करने की एक प्रक्रिया है। यौन उत्तेजना में मुखमैथुन (Oral Sex) को कारगर माना गया है। Oral Sex, Foreplay का ही एक हिस्सा है। इस क्रिया को करने में पार्टनर्स की आपसी रजामंदी जरूरी है।

Journal of Sex and Marital Therapy के एक शोधानुसार भारत में 60 प्रतिशत से ज्यादा महिला मुख मैथुन पसंद नहीं है वह इसे गंदा मानती हैं। वर्तमान समय के युवा ने ओरल सैक्स को आम यौन क्रिया की तरह अपना लिया है। असुरक्षित मौखिक यौन क्रिया यौन संक्रमित बीमारियों (STD) को जन्म दे सकता है। अतः बिना कंडोम का प्रयोग किये Oral Sex आपको गंभीर रोग दे सकता है। मुख मैथुन करते समय सुरक्षा का पूरा ध्यान रखना आवश्यक है।

ओरल सेक्स के कितने प्रकार है? Types Of Oral Sex

आईए हमलोग जानते हैं की Oral Sex क्या है। भारत में आज भी ओरल सेक्स के विषय में लोगों को जानकारी नहीं है, और तो और वे एक दूसरे से

Types of oral sex

इस बारे में बात भी करना नहीं चाहते हैं। ओरल सेक्स करने से पूर्व स्त्री एवं पुरुष को ओरल सेक्स करने के सही तरीके के जानकारी होना आवश्यक है अन्यथा स्त्री व पुरुष कोई भी Oral Sex के बाद किसी भी शारीरिक परेशानी का सामना कर सकता है।

सेक्स पोजीशन की तरह ही ओरल सेक्स करने की भी कई पोजीशन होती हैं। ओरल सेक्स करने से स्त्री और पुरष को चरम सुख की प्राप्ति तो होती ही है साथ ही महिला का गर्भवती होने का डर नहीं रहता है। स्त्री और पुरुष द्वारा अपनी Sexual Life को और अधिक रोमेंटिक बनाने के उद्देश्य से ओरल सैक्स किया जाता है। ओरल सेक्स में प्रचलित नाम जो शायद आपने भी कभी सुने होंगे जैसे ब्लो जॉब (Blow Job), गोइंग डाउन (Going Down), गिविंग हेंड (Giving Hand), रिमिंग (Riming), 69 (Sixty Nine) आदि।

  • स्त्री की Vagina, Vulva, Clitoris पर उसके पुरुष साथी द्वारा ओरल सेक्स कर उत्तेजना उत्पन्न करने को कनिलिंगस (Cunnilingus) कहा जाता है। इसे ओरल वजायनल कॉन्टैक्ट भी कहते हैं।
  • एक पुरुष के लिंग Penis पर उसकी महिला साथी द्वारा ओरल सेक्स कर उत्तेजना उत्पन्न करने को फ़ेलेटियो (Fellatio) कहा जाता है। इसे ओरल पेनाइल कॉन्टैक्ट भी कहा जाता है।
  • यदि Oral Sex में महिला या पुरुष साथी द्वारा मुख मैथुन से Anus (गुदा) को उत्तेजित (Stimulate) किया जाता है , इसे एनलिंगस (Anilingus) कहा जाता है। आम प्रचलित भाषा में इसे रिमिंग (Rimming) के नाम से भी जाना जाता है। इसे ओरल एनल कॉन्टैक्ट के नाम से भी जाना जाता है।

यदि आप अपने पार्टनर के साथ ओरल सेक्स करने के इच्छुक हैं, तो आप को निम्नलिखित बिन्दुओं को हमेशा अपने जहन में रखना होगा ताकि आप मौखिक यौन क्रिया (Oral Sex) का पूर्ण आनन्द एवं अनुभव प्राप्त कर सकें।

पार्टनर की सहमित (Partner’s Consent)

यदि आप अपनी महिला साथी (पत्नि / गर्लफ्रेंड) के साथ मुख मैथुन करने के इच्छुक हैं तो ओरल सेक्स के सम्बन्ध में अपनी फीमेल पार्टनर के साथ खुल कर बात करें। आईए हमलोग जानते हैं की Oral Sex क्या है। यदि आपका साथी ओरल सेक्स को लेकर नरवस है तो अपने साथी के सभी Oral Sex से सम्बन्धित उलझनों (Confusions) को दूर करें। चूँकि संभोग एक भावनाओं से भरपूर प्रोसेस है, जो दो जिस्मों के साथ साथ दो आत्माओं को एक कर देती है।

यदि आप अपने मेल / फीमेल पार्टनर के साथ ओरल सेक्स करने के लिए दवाब बनाते हैं तथा उसकी रजामंदी के बिना Oral Sex कर लेते हैं तो यह भारतीय दण्ड विधान के अनुसार अपराध है। यहाँ तक की शादी के बाद जबरन शारीरिक सम्बन्ध बनाना विधि द्वारा अपराध की श्रेणी में रखा गया है। जबरन अपने साथी के साथ शारीरिक संबंध बनाने से रिश्तों में खटास भी आती है।

ओरल सेक्स अनहाइजेनिक नहीं है (Oral Sex Isn’t Unhygienic)

Oral Sex isn't unhygienic

आईए हमलोग जानते हैं की Oral Sex क्या है। ओरल सेक्स जब किसी किसी नये कपल द्वारा ट्राई किया जाता है तो उनका मानना होता है कि मुख मैथुन गंदा होता है। भारतीय समाज में स्त्री और पुरुष के निजी अंग (Private Parts) को गंदा माना गया है तो अकसर कपल्स द्वारा हाइजीन का बहाना बनाया जाता है। कई लोग अपने गुप्तांगों की साफ सफाई ठीक से नहीं करते हैं, ऐसे में आपको ओरल सेक्स करते समय अनहैल्दी महसूस हो सकता है, लेकिन हमें यहाँ अपनी सोच बदलने की आवश्यकता है तथा प्रत्येक स्त्री पुरुष को अपने प्राइवेट पार्ट्स की सफाई भी शरीर के अन्य अंगों की तरह ही ठीक प्रकार से करनी चाहिए।

यदि संभोग भी बिना किसी प्रोटेक्शन के किया जाता है तो उससे भी STD आदि का खतरा रहता है ऐसी दशा में ऐसा तो नहीं है कि स्त्री / पुरुष शारीरिक संबंध बनाना छोड दें। अतः आपको अपनी सेक्सुअल हाइजीन पर विशेष ध्यान देना होगा ताकि आप ओरस सैक्स का मजा उठा सकें।

अपने लिंग को साफ रखें (Keep Your Private Parts Clean) 

Keep your Private Parts Clean

Oral Sex को करने से पूर्व हम आपको बता दें कि आप अपने प्राइवेट पार्ट Penis / Vagina को साफ रखें, इससे यौन चरित संक्रमण (STD) की संभावना कम हो जाती है। स्त्री और पुरुष को ओरल सेक्स करने से पुर्व अपने गुप्तांगों के आस पास उगे बालों को Shave करना चाहिए ताकि आपके लिंग / योनि के आस पास पसीना जमा न हो सके। महिलाओं को अपनी वजाइना की सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए चूँकि पुरुषों की अपेक्षा महिला गुप्तांगों में संक्रमण का खतरा अधिक रहता है।

मुख मैथुन से पूर्व आप अपने डॉक्टर या डर्मोटोलोजिस्ट से प्राइवेट पार्ट्स की सफाई के लिए साबुन या अन्य उत्पाद के लिए सलाह ले सकते हैं। वैसे तो बाजार में स्त्री एवं पुरुषों के लिए कई प्रकार के Intimate Wash उपलब्ध है परन्तु इनके प्रयोग से पहले डाक्टर की सलाह जरूरी है। पुरुष इस बात का विशेष ध्यान रखें कि यदि आप हस्तमैथुन करके चुके हैं तो अपने Penis की सफाई अच्छे से अवश्य करें।

ओरल हाइजीन भी है जरूरी (Oral Hygiene Is Also Important)

Oral hygiene is also important

जैसा कि हमने आपको इस लेख के माध्यम से बताया कि ओरल सेक्स में मुख का इस्तेमाल कर अपने साथी को स्टिम्यूलेट किया जाता है, ऐसी स्थिति में कपल्स को अपने ओरल हेल्थ का विशेष ध्यान रखने की भी आवश्यकता है। ओरल सेक्स करने से पहले अपने मुँह की सफाई अच्छे से करें। यदि आपके पार्टनर को ओरल हैल्थ से जुडी कोई समस्या है तो अपने साथी को ओरल सेक्स करने से मना कर दें क्योंकि इस दौरान इन्फैक्शन फैलने की संभावना अधिक हो जाती है।

यदि आपने कुछ तीखा स्पाइसी खाया है तो तुरंत बाद अपने साथी के साथ ओरल सेक्स न करें इससे आपके साथी के गुप्तांग में जलन या अन्य समस्या उत्पन्न हो सकती है। ओरल सेक्स करने के बाद भी अपने मुँह की सफाई करना न भूलें।

ओरल सेक्स के लिए कंडोम का प्रयोग (Oral Sex Condoms)

ओरल सेक्स के लिए कंडोम का प्रयोग

जिस प्रकार इंटरकोर्स के समय कपल्स द्वारा निरोध का इस्तेमाल किया जाता है ठीक उसी प्रकार मुख मैथुन करते समय भी कंडोम का प्रयोग किया जाना आवश्यक है। इससे संक्रमण का डर कम हो जाता है। वर्तमान समय में बाजार में ओरल सेक्स परफोर्म करने के लिए कंडोम्स की अच्छी खासी रेंज उपलब्ध है। आप अपने साथी की पसंद के अनुसार फ्लेवर कंडोम का प्रयोग कर ओरल सेक्स को और भी अधिक आनन्ददायक बना सकते हैं। साथ ही आप रिमिंग के लिए भी कंडोम का इस्तेमाल कर सकते हैं इसके लिए डैंटल डैम कंडोम को बैस्ट माना गया है।

ओरल सेक्स के दौरान ध्यान देने योग्य बातें

आईए हमलोग जानते हैं की Oral Sex क्या है। ओरल सेक्स करने के दौरान कुछ विशेष महत्वपूर्ण बातों को ध्यान देना चाहिए जिससे आपकी महिला जीवन साथी या आपके साथी को किसी भी प्रकार की समस्याओं का सामना ना करना पड़े या फिर आपके द्वारा की गई प्रतिक्रिया  उन्हें पसंद ना आए इसके लिए हमें कुछ विशेष बातों का ध्यान रखना चाहिए जो निम्नलिखित हैं

क्या ओरल सेक्स असली सेक्स है? Is Oral Sex real?

ओरल सेक्स असली सेक्स

आईए हमलोग जानते हैं की Oral Sex क्या है। भारत में पेनीट्रेटिंग सेक्स (Penetrating Sex) को ही संभोग का नाम दिया गया है जिसमें वजाइना में पेनिस डालना, गुदा में पेनिस डालना जैसी क्रिया ही की जाती हैं परन्तु वर्तमान समय में युवाओं द्वारा मुख मैथुन को काफी लाइक किया जा रहा है। ओरल सेक्स में यूथ द्वारा विभिन्न नये नये तरीके ओरल सेक्स के लिए अपनाए जा रहे हैं यह उतना ही आनन्द प्रदान करता है जितना Intercourse.

आपकी शारीरिक रचना निराली है। Your Anatomy Is Unique

जैसा कि हम सभी जानते हैं प्रत्येक स्त्री व पुरुष के जननांग एक से नहीं होते। यह भिन्न भिन्न आकार, लम्बाई, रंग के हो सकते हैं। अतः हमारी राय है कि आप अपना समय दूसरे व्यक्ति से तुलना करने में व्यर्थ न करें। यदि आपने पूर्व में भी विभिन्न लोगो के साथ शारीरिक संबंध बनाये हैं तो अपने वर्तमान साथी से इस बारे में कोई बात न करें। यह आपके मध्य कलह तथा तनाव उत्पन्न कर देगा।

हर व्यक्ति की गंध अलग होती है। Everyone Has A Different Smell

हर मनुष्य के शरीर में एक विशेष गंध होती है जिसे प्राकृतिक गंध बोला जाता है। आप कितनी भी सफाई क्यों न कर लें परन्तु यह विशेष गंध आपके शरीर में विद्यमान रहती है । अतः अपने साथी की गंध को स्वीकार करें। यदि आप ऐसा नहीं कर पा रहे हैं तो आप Deodorant / Perfume का इस्तेमाल कर सकते हैं।

ओरल सेक्स के नुकसान

आईए हमलोग जानते हैं की Oral Sex क्या है। कई विशेषज्ञों की राय में ओरल सेक्स को खतरनाक माना जाता है। अगर हम ओरल सेक्स की तुलना सामान्य जननांग सेक्स से करें तो यह कुछ बिन्दु जैसे गर्भवती ना होना में सुरक्षित हो सकता है परन्तु बिना कंडोम के ओरल सेक्स से यौन संचारित संक्रमणों (STI) – Sexually transmitted infections (एसटीआई) होने का जोखिम होता है। जैसा कि हम जान चुके हैं कि ओरल सेक्स में कपल्स द्वारा एक दूसरे के जननांग (Genitals – Penis / Vagina) तथा गुदा (Anus) को चूसा व चाटा जाता है।

अतः मुख में तरल पदार्थ या मल के सम्पर्क में आने की सम्भावना रहती है। जिस कारण कई प्रकार की STD (Sexually Transmitted Disease) जैसे हर्पिस, गोनोरिया, सिफलिस, क्लैमिडिया, मुँह के छाले, हैपेटाइटस ए, ई कोली आदि होने का खतरा रहता है। इसके अलावा यदि आपके पार्टनर को ओरल सेक्स पसंद नहीं है परन्तु आपकी खुशी के लिए आपका पार्टनर मुख मैथुन (मौखिक यौन प्रदर्शन) करने को तैयार हो गया है तो यह आप दोनों के मध्य धीरे धीरे तनाव का कारण बन सकता है।

ओरल सेक्स के फायदे

ओरल सेक्स के फायदे

आईए हमलोग जानते हैं की Oral Sex क्या है। एक उम्र के बाद संभोग शरीर की एक जरूरत बन जाता है। इसी की पूर्ति के लिए स्त्री पुरुष द्वारा शारीरिक सम्बन्ध बनाकर अपनी जरूरत को पूरा किया जाता है। वर्तमान समय में ओरल सेक्स भी जीवन का अहम अंग बन गया है। ओरल सेक्स करने के अपने कुछ फायदे हैं । मुख मैथुन से होने वाले लाभ निम्नवत हैं।

  • बढती उम्र के लक्षणों को कम करता है। I(Anti Aging)
  • पुरुषों में प्रोस्टेट सम्बन्धी बीमारियो को रोकता है।
  • सैक्सुअल पावर बढाता है
  • महिलाओं में स्तन कैंसर से बचाव।
  • तनाव कम करता है।
  • हाइ ब्लड प्रेशर को कम करता है।
  • स्त्री और पुरुष के मध्य Intimacy बढाता है।
  • ओरल सेक्स करने से खून की गति बढती है जिससे चेहरे पर चमक, बाल, दाँत व मसूडे मजबूत होते हैं।
  • कैलोरी बर्न करता है।
  • हर्ट को स्वस्थ रखता है।
  • सेक्स को दिलचस्प बनाता है।
  • बेहतर नींद।
  • याददाश्त को मजबूत करता है।
  • दर्द निवारक का कार्य करता है।

ओरल सेक्स क्यो किया जा रहा है पसंद?

ब्लो जॉब

आईए हमलोग जानते हैं की Oral Sex क्या है। हालांकि भारत में कामसूत्र, विभिन्न इमारतों पर उकेरी गयी कलाकृतियों से ज्ञात होता है कि मुख मैथुन का प्रयोग भारत में किया जाता रहा है। परन्तु आज के समय यदि हम कहें कि ओरल सेक्स पोर्न इंडस्ट्री की देन है तो यह गलत नही होगा। परन्तु Oral Sex का सबसे अधिक फायदा LGBT (Lesbian, gay, bisexual, and transgender) Community को हुआ है।

उन्हे शारीरिक आनन्द के लिए नये नये Dimensions को Explore करने का अवसर प्राप्त होता है। ओरल सेक्स के लोकप्रिय होने का मुख्य कारण समलैंगिक जोडे हैं परन्तु वर्तमान में यह क्रिया विषमलैंगिक जोडो में भी लोकप्रिय हो गया है। Oral Sex में किसिंग, सकिंग, बाइटिंग, रबिंग, टीजिंग, फिंगरिंग आदि क्रियाएं शामिल होती हैं।

यह भी जाने- आपकी योनि है यदि बहुत ढीली हैं तो अपनाएं सबसे बेहतर उपाय

यौन संचारित रोग संकेत और लक्षण

यदि आपने कंडोम के बिना मुख मैथुन यानि Oral Sex किया है या बिना निरोध के योनि या गुदा मैथुन किया है, तो यदि आपको इनमें से कोई भी संकेत या लक्षण दिखाई दें तो डाक्टर से सलाह अवश्य लें।

  • जननांग, योनि, गुदा या मुंह में या उसके आसपास खुजली, चकत्ते, गांठ या छाले होने पर।
  • असामान्य योनि स्राव।
  • लिंग से द्रव रिसाव।
  • पेशाब करते समय जलन, दर्द या दोनों।
  • सेक्स के दौरान या बाद में दर्द या ब्लीडिंग।
  • पीरियड्स के बीच ब्लीडिंग।
  • अंडकोष या पेट के निचले हिस्से में दर्द।
  • गला खराब होना।

हेपेटाइटिस A, B, C यकृत को प्रभावित करते हैं, जिसकी वजह से आपको ऐसे लक्षण दिखाई दे सकते हैं :-

  • FLU जैसे लक्षण जैसे बुखार, सामान्य दर्द और सिरदर्द
  • थकान  उल्टी और दस्त
  • गहरे रंग का मूत्र या पीला मल, या दोनों
  • पीलिया (Jaundice) (त्वचा या आंखों का पीला पड़ना)

एसटीआई का इलाज करवाना आवश्यक है। कुछ एसटीआई का इलाज नहीं किया जा सकता है लेकिन दवाएं लक्षणों को कम कर सकती हैं। लंबे समय तक इलाज न कराने पर आपके स्वास्थ्य या प्रजनन क्षमता को नुकसान पहुंच सकता है।

ओरल सेक्स के जोखिम को कैसे कम करें? How To Reduce The Risk Of Oral Sex?

  • पहले एसटीडी का इतिहास है तो ओरल सेक्स करने से बचे।
  • यदि आपके साथी के जननांग, गुदा या मुंह के आसपास घाव, कट, अल्सर, छाले, मस्से या चकत्ते या सूजन हैं तो ओरल सेक्स न करें
  • गले में संक्रमण है तो भी ओरल सेक्स न करें
  • एक से ज्यादा साथी होने पर ओरल सेक्स करने से जितना हो सके बचे
  • कंडोम का इस्तेमाल करें

महिलाओं के लिए ओरल सेक्स (ब्लो जॉब) करने का तरीका क्या है ?

आईए हमलोग जानते हैं की Oral Sex क्या है। स्त्रियाँ मुख मैथुन पुरुषों के लिंग में उत्तेजना होने या न होने पर भी कर सकती है। इसके लिए सबसे अच्छा है कि महिलाओं को ओरल सेक्स करने से पहले पुरुषों के लिंग को हाथों से सहलाना चाहिए। उसके बाद आपके मेल पार्टनर का लिंग सख्त होने पर आप उसे मुँह में लें, अगर आपको मालूम नहीं चल पा रहा हो कि साथी पुरुष का लिंग आपके मुंह के अंदर कहां तक जाएगा तो आप अपनी अंगुलियों को अंगूठी के आकार का करते हुए, लिंग को पीछे से पकड़े और धीरे-धीरे मुंह के अंदर लें।

जितना आपके मुंह की गहराई हो उसी के अनुसार लिंग को अंदर डालें । अधिकतर पुरुषों को ओरल सेक्स बहुत तेजी से उत्तेजित करता है, अतः महिलाओं को यह प्रक्रिया धीमी गति से शुरु करनी चाहिए और बाद में इसको धीरे धीरे तेज करना चाहिए। इसको करते समय आप अपनी जीभ, मुंह और अपने सिर को हिलाते हुए अलग अलग दिशाओं से लिंग को चुम्बन, चाटते हुए कर सकती हैं। इस तरह से आप जान पाएंगी कि आपके पुरुष साथी को कौनसी पोजीशन ज्यादा पसंद है।

आपको यह भी बता दें कि ओरल सेक्स करने का यह मतलब बिल्कुल भी नहीं है कि आप पुरुष का वीर्य अपने मुंह में ही करें। यह क्रिया सिर्फ और सिर्फ आप की इच्छा पर ही निर्भर करती है। अगर उन्होंने कंडोम पहना हो तो आपको स्खलन की चिंता करने की कोई जरूरत नहीं होती है ओरल सेक्स आप अपनी और अपने पार्टनर की लिमिट के अनुसार कम या ज्यादा देर तक कर सकती है।

Blowjob Meaning In Hindi 

महिला द्वारा अपने पुरुष साथी के लिंग को अपने हाथों तथा मुँह से उत्तेजित करने की प्रक्रिया को ब्लोजाब कहा जाता है। यह भी मुख मैथुन की एक प्रक्रिया है। जिसको हिन्दी में भी ब्लोजॉब ही बोला जाता है।

निष्कर्ष

आधुनिक समय में सेक्स एक पैसन बन गया है आज के समय में प्रजनन के अलावा सेक्स को लोग अपने जीवन का एक अभिन्न अंग मानते हैं सेक्स करने के विभिन्न प्रकार के तरीकों को अपनाया जाता है जिसमें इंटरनल तथा ओरल दो प्रकार के विधियों द्वारा सेक्स क्रिया की जाती है। आधुनिक समय में युवाओं द्वारा ओरल सेक्स को और अधिक पसंद किया जाता है क्योंकि ओरल सेक्स करने के बहुत सारे फायदे होते हैं।

जिसके बारे में उपरोक्त लेख में विस्तृत वर्णन किया गया है। जिस के अध्ययन के पश्चात आप ओरल सेक्स की  जानकारी ले सकते हैं तथा ओरल सेक्स के बारे में लोगों के दिमाग में विभिन्न प्रकार की नकारात्मक सोच  भी समाप्त हो जाएगी भारत में अभी भी ओरल सेक्स को अनैतिक क्रिया के अंतर्गत माना जाता है किंतु इसको करने से किसी प्रकार की कोई समस्या नहीं होती है बल्कि यह शरीर को आत्म संतुष्टि देता है।

FAQ

Foreplay Kya Hota He?

शारीरिक संबंध बनाने से पूर्व अपने साथी को उत्तेजित करने की प्रक्रिया को Foreplay बोला जाता है। आप मौखिक यौन क्रिया (मुँह में सेक्स) प्रक्रिया को भी फोरप्ले की भांति प्रयोग कर सकते हैं।

 Sambhog (सम्भोग) Kya Hai?

पुरुष के लिंग का महिला की योनि में जाना सम्भोग कहलाता है। किसी महिला और पुरुष के बीच बनाये गए शारीरिक संबंध को Sambhog कहते है।

पुरुष महिला में मुख मैथुन कैसे करें?

आईए हमलोग जानते हैं की Oral Sex क्या है। महिलाओं के साथ ओरल सेक्स करने से पूर्व कुछ देर तक उनको Kiss करना या उनके संवेदनशील अंगों को छूना एक बेहतर युक्ती है। पुरुषों को कुछ समय महिलाओं की ऊपरी जांघों और योनि के पास के हिस्से पर टच करना चाहिए, इससे महिलाएं जल्द ही ऑर्गेज्म प्राप्त कर लेती हैं। महिलाओं की वजाइना में भगशेफ Clitorisअधिक संवेदनशील होता है।

इसी हिस्से से करीब 8000 नसें जुड़ी होती है। इसके साथ ही महिला का पूरा पेल्विक क्षेत्र (Pelvic area) जहां पर जननांग की सभी नसें जुड़ी होती हैं संवेदनशील हिस्सा होता है। योनि की दोनों परतें खुलते ही वह क्लिटोरिस ऊपर दिखाई पडता है। पुरुष शुरुआत में इस हिस्से पर अपनी जीभ के ऊपरी भाग को धीरे से इस्तेमाल करें, इसके बाद इस क्रिया को तेज करते जाए इसके बाद पुरूष जीभ को अलग-अलग तरीके से प्रयोग करें व इसकी रफ्तार को भी कम ज्यादा करते रहें।

Leave a Comment